देश के कई हिस्सों में मकर संक्रांति के बाद सर्दियां धीरे-धीरे कम होने लगती हैं। लगभग पूरे उत्तर और मध्य भारत में सर्दियां अलविदा कहने को तैयार रहती हैं और कई हिस्से कोहरे की चादर में लिपटे हुए होते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि देश के कई हिस्सों में फरवरी और मार्च तक भी स्नोफॉल होता है। अक्सर ये देखा जाता है कि फरवरी और मार्च में लोग हिल स्टेशन की तरफ जाते हैं, लेकिन बर्फबारी न देखकर कई बार निराश होते हैं। 

शिमला, मसूरी, नैनीताल जैसे हिल स्टेशन्स पर बर्फबारी फरवरी या मार्च तक नहीं होती है और इसलिए आपको ये ध्यान रखने की जरूरत है कि फरवरी और मार्च का ट्रैवल प्लान बनाते समय आप उन डेस्टिनेशन्स को चुनें जो इस वक्त बर्फबारी के लिए फेमस हैं। अगर आप अगले दो महीने में कहीं घूमने का प्लान बना रहे हैं और चाहते हैं कि आपको बर्फीली चोटियां और खूबसूरत नज़ारे देखने को मिलें तो हम बताते हैं कि आप कौन सी बेस्ट ट्रैवल डेस्टिनेशन अपने प्लान में रख सकते हैं। 

1. सोनमर्ग-

बर्फबारी का समय- नवंबर से शुरुआती अप्रैल तक

अब हमारी लिस्ट में पहला स्थान तो सोनमर्ग का होना ही था। कश्मीर का सोनमर्ग बर्फबारी के लिए सबसे ज्यादा मश्हूर है और यही एक जगह है जहां आपको अप्रैल तक बर्फबारी भी देखने को मिल सकती है। सीजन की पहली और आखिरी बर्फ यहीं गिरती है और ग्लेशियर से लेकर जमे हुए तालाब तक आपको न जाने क्या-क्या देखने को मिलेगा। अगर आप गर्मियों के सीजन में जैसे मई में भी बर्फ देखना चाहते हैं तो थाजीवास ग्लेशियर (Thajiwas Glacier) सबसे बेस्ट ऑप्शन साबित हो सकता है। भारत में अगर कहीं विंटर वंडरलैंड है तो वो सोनमर्ग में ही है। 

snowfall sonmarg

गर्मियां यहां मई में ही शुरू होती है और बहुत कम समय के लिए रहती हैं इसलिए आप यहां इसके हिसाब से प्लानिंग कर सकते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें- जल्द खुलने वाला है भारत का पहला स्की पार्क, जानें कुफरी के बारे में फैक्ट्स

2. गुलमर्ग

बर्फबारी का समय- दिसंबर से मार्च तक

सोनमर्ग में जहां आपको अप्रैल तक बर्फ मिल सकती है वहीं कश्मीर के गुलमर्ग में आपको मार्च तक ये मिलेगी। अगर आप स्नो स्पोर्ट्स और स्कीइंग के शौकीन हैं तो ये जगह जन्नत लगेगी। क्योंकि गुलमर्ग और श्रीनगर काफी पास हैं इसलिए हर साल यहां हज़ारों टूरिस्ट आते हैं और यहां गंडोला केबल राइड और ट्रेकिंग का भी मज़ा लिया जा सकता है। पिर पिंजाल रेंज और नागा परबत के लिए अगर ट्रेकिंग करनी है तो गुलमर्ग बेस कैंप भी हो सकता है। अगर आपको बेहतरीन नज़ारों के साथ एडवेंचर भी मिलेगा यहां। 

snowfall gulmarg

3. मनाली और रोहतांग पास

बर्फबारी का समय- नवंबर से मार्च तक

अगर आप दिल्ली के आस-पास रहते हैं तो सबसे करीब डेस्टिनेशन मनाली ही साबित हो सकता है। हिमाचल का ये खूबसूरत डेस्टिनेशन बहुत ही आकर्षक है और यहां कई बार टूरिस्ट्स सिर्फ रोहतांग पास के लिए ही आते हैं। पर समस्या ये है कि रोहतांग पास बहुत भारी बर्फबारी के समय पर बंद हो जाता है और यहां काफी ट्रैफिक जाम आदि लगता है। इसलिए यहां जाने के पहले देखना होगा कि ये रास्ता खुला भी है या नहीं। उसका प्लान आप तुरंत ही बनाएं तो ही अच्छा होगा। इसके अलावा, जनवरी से मार्च तक आपको भारी बर्फबारी देखने को मिल सकती है। ये जगह बहुत खास है और अगर आपको यहां एडवेंचर स्पोर्ट्स करने हैं तो सोलांग वैली जरूर जाएं। सोलांग वैली में भी आपको मार्च तक बर्फबारी देखने को मिल जाएगी।  

snowfall manali

हां, आप मानसून सीजन में यहां न जाएं क्योंकि रास्ते काफी स्लिप होने वाले होते हैं और लैंडस्लाइड की भी दिक्कत होती है। रोहतांग पास आमतौर पर अप्रैल मैं ही खुलता है क्योंकि उसके पहले यहां बहुत ज्यादा बर्फ रहती है।  

4. ऑली

बर्फबारी का समय- जनवरी से मार्च तक 

अगर आप स्कीइंग के शौकीन हैं और किसी अच्छे स्की रिजॉर्ट में जाकर आराम फरमाना चाहते हैं और छुट्टियां आपको मार्च में ही मिलेंगी तो ऑली बहुत ही अच्छा ऑप्शन हो सकता है। यहां मार्च में टूरिस्ट की काफी भीड़ मिलेगी, लेकिन यहां सभी वो लोग होंगे जिन्हें एडवेंचर भी पसंद है। ये ऑफबीट हिल स्टेशन पिछले कुछ समय में काफी फेमस हो गया है और अब तो ऑली में टूरिस्ट्स के लिए ज्यादा बेहतर सुविधाएं दी जा रही हैं और रास्तों को भी अच्छा बनाया जा रहा है। यहां नंदा देवी, माना परवत आदि के नज़ारे देखते हुए स्कीइंग की जा सकती है।  

snowfall auli

5. नॉर्थ सिक्किम

बर्फबारी का समय- दिसंबर से मार्च तक 

वैसे तो सिक्किम का Yumthang हर वक्त बर्फ से ढका हुआ रहता है, लेकिन अगर आपको सही बर्फबारी देखनी है तो नॉर्थ सिक्किम जाएं। वैसे यहां पर बहुत बर्फ गिरती है और कई बार तो कई फुट बर्फ एक ही दिन में गिर जाती है इसलिए आपको यहां जाने से पहले मौसम की जानकारी ले लेनी चाहिए। भारत में सबसे खतरनाक सर्दियां यहीं पड़ती हैं। पर आप यहां बहुत सारे एडवेंचर ट्रेक आदि का मज़ा ले सकते हैं।  

snowfall north sikkim

इसे जरूर पढ़ें-  भारत के 5 सबसे ठंडे शहर, यहां पड़ती है पलकें जमा देने वाली ठंड 

Recommended Video

6. द्रास

बर्फबारी का समय- अक्टूबर से अप्रैल तक

भारत का सबसे ठंडा शहर है द्रास। यहां पर मई तक आपको बर्फ मिल जाएगी और यही नहीं यहां का तापमान -45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है इसलिए आपको ये ध्यान रखना होगा कि ये बहुत ही ज्यादा एडवेंचर प्रेमियों के लिए ही है। आप यहां अप्रैल अंत या मई में भी जाएंगे तो भी आपको बर्फ मिल जाएगी। यही नहीं द्रास में अब एडवेंचर टूरिज्म के लिए काफी सारी सुविधाएं हो गई हैं इसलिए आपको यहां जाने से पहले अपनी तैयारी पूरी करके जानी चाहिए।  

snowfall in drass

ये सभी जगहें आपको अप्रैल तक ठंडक का अहसास देंगी और भले ही बर्फ गिरती हुई न मिले, लेकिन ये सभी जगह पहले गिरी हुई बर्फ से अप्रैल और कुछ तो मई तक ढकी रहती हैं। तो अब गर्मियों के लिए इन हिल स्टेशन्स जाने का प्लान बनाएं।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।