उत्तर भारतीय राज्य हिमाचल प्रदेश हिमालय में स्थित है। अछूते घने जंगलों से लेकर बर्फ से ढकी पहाड़ियां, और नदियां आदि वन्यजीवों के लिए सबसे अच्छे प्राकृतिक आवास हैं। हिमाचल प्रदेश की भूमि को कुछ लुप्तप्राय और देसी प्रजातियों के जानवरों और पक्षियों की विभिन्न प्रजातियों के लिए धन्य माना जाता है। यहां का प्राकृतिक सौंदर्य अद्भुत है और यहां पर कई नेशनल पार्क स्थित हैं, जहां पर आपको कई दुर्लभ प्रजातियों को देखने का मौका मिलेगा। यदि आप कभी हिमालय में इस भव्य स्वर्ग की यात्रा करते हैं, तो यकीनन आपको इन नेशनल पार्क का भी दौरा अवश्य करना चाहिए। यह नेशनल पार्क आपको एक अलग ही दुनिया का अनुभव करवाएंगे, जिसे भूल पाना आपके लिए आसान नहीं होगा। साथ ही यह नेशनल पार्क इस राज्य की वास्तविक सुंदरता और समृद्धि को भी दर्शाते हैं। तो चलिए जानते हैं इन नेशनल पार्क के बारे में- 

ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क 

inside  travel trip

ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क हिमाचल प्रदेश के प्रसिद्ध नेशनल पार्क में से एक है। कुल्लू जिले में स्थित,ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क हिमाचल प्रदेश में एक प्राकृतिक स्वर्ग है। 1984 में स्थापित, ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क को आधिकारिक तौर पर 1999 में नेशनल पार्क घोषित किया गया था। 2014 में, ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क ने जैव विविधता संरक्षण के लिए अपने अद्भुत योगदान के लिए यूनेस्को की विश्व विरासत स्थल होने का दर्जा प्राप्त किया। यहां पर लगभग 10,000 पौधों की प्रजातियां पाई जाती हैं, जिनमें कई ऐसी जड़ी-बूटियाँ भी शामिल हैं जिनका अपना एक औषधीय महत्व है। इसके अलावा यहां पर 31 मैमेल्स की प्रजातियां, 209 पक्षी प्रजातियां, और कई अन्य उभयचर, सरीसृप और कीड़े हैं। यहां पर आपको ग्रेटर ब्लू शीप, इंडियन पिका, रीसस बंदर, हिमालयी काले भालू, हिमालयन ब्राउन भालू, रेड फॉक्स, मोंगोस, रूफस-जॉर्जेट फ्लाइकैचर, आदि हैं।

इसे ज़रूर पढ़ें-मैडम तुसाद ही नहीं, लंदन में स्थित हैं यह फेमस म्यूजियम्स भी

पिन वैली नेशनल पार्क 

inside  valley

लाहौल और स्पीति जिले के भीतर स्थित पिन वैली नेशनल पार्क हिमाचल प्रदेश राज्य में स्थित एक बेहतरीन नेशनल पार्क है। तिब्बत सीमा के करीब धनकर गोम्पा के दक्षिण की ओर फैले इस पार्क की स्थापना 9 जनवरी 1987 को भारत द्वारा की गई थी। पिन वैली नेशनल पार्क हिमालय क्षेत्र के कोल्ड डेजर्ट बायोस्फीयर रिजर्व के भीतर आता है। हिम तेंदुए और साइबेरियाई आइबेक्स सहित विभिन्न लुप्तप्राय प्रजातियां यहां पर अपने प्राकृतिक निवास स्थान में नजर आती हैं। क्षेत्र में उच्च औषधीय महत्व वाले लगभग 22 दुर्लभ और लुप्तप्राय पौधों की प्रजातियां भी मौजूद हैं। पिन वैली नेशनल पार्क गर्मियों के दौरान कुछ दुर्लभ पक्षी प्रजातियों को देखा जा सकता है। पिन वैली नेशनल पार्क हिमाचल प्रदेश का दूसरा सबसे लोकप्रिय राष्ट्रीय उद्यान है। यहां पर पाई जाने वाली प्रजातियों में स्नो लेपर्ड, साइबेरियन इबेक्स, हिमालयन स्नोकॉक, चोकर पार्ट्रिज, स्नो पार्ट्रिज और स्नोफिंच आदि है।

Recommended Video

खीरगंगा नेशनल पार्क

inside  national

खीरगंगा नेशनल पार्क हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में कुल्लू मनाली हवाई अड्डे से 50.5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह नेशनल पार्क लगभग 5,500 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है और पार्वती वाटरशेड के लगभग 710 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। खिरगंगा नेशनल पार्क साल 2010 में स्थापित किया गया था। यह एक व्यापक जैविक विविधता की रक्षा करता है। आप अपने खीरगंगा ट्रेक के साथ इस नेशनल पार्क में अपनी यात्रा को जोड़ सकते हैं। इस जगह की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय अप्रैल से जून या सितंबर से नवंबर के बीच है। जंगली भालू जैसी प्रजातियाँ यहाँ पाई जाती हैं। यह हिमाचल प्रदेश के सबसे अधिक देखे जाने वाले नेशनल पार्क में से एक है।

इसे ज़रूर पढ़ें-चंडीगढ़ में बेहतरीन गुरूद्वारे ही नहीं, स्थित हैं यह चर्च भी

 

इंदरकिला नेशनल पार्क

inside  park

हिमाचल प्रदेश में स्थित इंदरकिला नेशनल पार्क को 2010 में बनाया गया था। यह करीबन 104 स्क्वेयर किलोमीटर में फैला है। राष्ट्रीय उद्यान कुल्लू जिले में स्थित है और कुल्लू मनाली हवाई अड्डे से 46.1 किलोमीटर दूर है। हिमाचल प्रदेश के इन नेशनल पार्क में कई दुर्लभ और लुप्तप्राय पौधे, पशु, पक्षियों और कीट प्रजातियां मौजूद हैं। यहां आपको ऐसे पौधे भी मिलेंगे जिनका औषधीय महत्व है। यह हिमाचल प्रदेश में सबसे कम एक्सप्लोर किए जाने वाले नेशनल पार्क में से एक है।

फिलहाल कोरोना संक्रमण के कारण आपके लिए इन नेशनल पार्क में जाना संभव ना हो। लेकिन एक बार स्थिति सामान्य हो जाने पर आपको यहां का दौरा अवश्य करना चाहिए।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit- Travel websites