गेटवे ऑफ इंडिया भारत के सबसे मशहूर स्मारक में से एक है। यह मुंबई के कोलाबा में स्थित है। दूर-दूर से लोग गेटवे ऑफ इंडिया को देखने आते हैं। यही कारण हैं कि यहां हजारों की संख्या में पर्यटकों का जमावड़ा लगा रहता है। लेकिन क्या आपने कभी इसके बारे में जानने की कोशिश की है? क्या कभी सोचा है कि गेटवे ऑफ इंडिया का निर्माण कैसे हुआ होगा, शायद नहीं। तो ऐसे में आज हम आपको गेटवे ऑफ इंडिया से जुड़े कई फैक्ट्स बताएंगे। चलिए जानते हैं इसके बारे में। 

2.1 मिलियन लागत से बना 

gateway of india

मुंबई की सबसे मशहूर जगह गेटवे ऑफ इंडिया जितना देखने में खूबसूरत लगता है , उतनी ही खास इसके बनने की कहानी है। आपको बता दें कि गेटवे ऑफ इंडिया भी भारत के सबसे प्रसिद्ध स्थल में से एक है। लोग दूर-दूर से इसकी खूबसूरती देखने आते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसे बनाने में कितना खर्चा आया था। बता दें कि केवल गेटवे ऑफ इंडिया के गुंबद को बनाने में 21 लाख रूपये खर्च किए गए थे। लेकिन पूरे गेटवे को बनाने में करीब 2.1 मिलियन रूपये खर्च किए गए थे। 

निर्माण कार्य

गेटवे ऑफ इंडिया का निर्माण 1911 में शुरू हुआ था। इस समय इंग्लैंड के राजा जॉर्ज पंचम और उनकी पत्नी रानी मेर्री  भारत घूमने आए थे। हालांकि इंग्लैंड के राजा और रानी केवल गेटवे ऑफ इंडिया के स्ट्रक्चर मॉडल को ही देख सकें। ऐसा इसलिए क्योंकि 1915 तक गेटवे बनना शुरू नहीं हुआ था। करीब 13 साल बाद 1924 में यह बनकर तैयार हुआ। गेटवे ऑफ इंडिया को पीले बेसाल्ट और कंक्रीट के पत्थर से बनाया गया है। इसकी ऊंचाई करीब 26 मीटर है और इसके गुंबद का डायमीटर 48 फीट है। 

सरसेनिक आर्किटेक्ट का अद्भुत उदाहारण

मुंबई के कोलाबा में स्थित गेटवे ऑफ इंडिया की सरंचना बेहद खास है। यह सरसेनिक ऑर्किटेक्चर का एक अद्भुत नमूना है। गेटवे ऑफ इंडिया का फाइनल डिजाइन जॉर्ज विटेट द्वारा प्रस्तावित किया गया था। बता दें कि जब इस स्मारक को बनाने की शुरुआत की गई थी, तब इसके डिजाइन में गुजराती वास्तुकला के तत्व शामिल थे। लेकिन बाद में इसे पूरी तरह से बदल दिया गया और फिर इसे इंडो--सरेसेनिक टच दिया गया।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली के इन ऐतिहासिक दरवाजों के बारे में कितना जानते हैं आप?

मुंबई का ताज महल 

आगरा में स्थित ताज महल प्यार की निशानी माना जाता है। ऐसे ही गेटवे ऑफ इंडिया को मुंबई का ताजमहल कहा जाता है। भले ही यह प्यार की निशानी के लिए प्रसिद्ध न हो, लेकिन इसकी बनावट और सरंचना इसे ताज महल जैसा बनाती है। यही कारण हैं कि लोग इसे मुबंई का ताजमहल कहते हैं। 

इसे भी पढ़ें: क्या आप भी जानती हैं भारत के स्मारकों से जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में

आसपास घूमने की जगह

बता दें कि गेटवे ऑफ इंडिया के आसपास घूमने के लिए की सारी जगहे हैं। चलिए जानते हैं कौन-सी हैं ये जगहें। 

एलिफेंटा आइलैंड

mumbai

गेटवे ऑफ इंडिया के आस पास घूमने की कई बेहतरीन जगहे हैं। आप एलिफेंटा आइलैंड जा सकते हैं और रॉक-कट एलिफेंटा गुफाओं को एक्सप्लोर कर सकते हैं। इसके साथ ही अगर आपको बीच में घूमने का शौक है तो आप रायगढ़ से होते हुए अलीबाग पहुंचकर बीच का मजा ले सकते हैं। 

नेशनल गैलरी ऑफ़ मॉडर्न एंड कंटेम्पररी आर्ट 

national museum of art

अगर आपको बेहतरीन कलाकारी देखने का शौक है तो आपके लिए नेशनल गैलरी ऑफ़ मॉडर्न एंड कंटेम्पररी आर्ट म्यूजियम एक दम बेस्ट ऑप्शन है। यहां आपको आर्ट के कई बेहतरीन नमूने देखने को मिलेंगे। साथ ही इसके बगल में रीगल सिनेमा भी है। 

खाने के लिए बेहतरीन जगहें

अगर आपको खाने का शौक है तो गेटवे के पास आपको कई बेहतरीन खाने की डिशिज मिल जाएंगी। यहां बगदादी नाम से एक शॉप हैं, जहां आपको मुंबई का सबसे अच्छा नॉनवेज खाने को मिलेगा।  क्या आपने कभी फ्राइड इडली ट्राई की है? अगर नहीं तो मद्रास कैफे आपके लिए एकदम बेस्ट जगह है। इसके साथ ही बड़े मियां में कबाब और ओलंपिया कॉफी हाउस में केक का आनंद जरूर लें। 

शॉपिंग के लिहाज से भी यह जगह एक दम बेस्ट है। कोलाबा की गलियों में जाएं और शॉपिंग का भरपूर आनंद उठाएं। यहां आपको ब्रिटिश युग से संबंधित कई इमारतें देखने को मिलेंगी।

अगर आपको ये स्टोरी पसंद आई है तो इसे शेयर जरूर करें। ट्रैवल से जुड़े ऐसे ही अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।

Image Credit: freepik.com & google.com