अबोहर, प्राकृतिक सुंदरता, जंगलों, वनस्पतियों और जीवों की विविधता से भरा शहर है जो पंजाब में स्थित है। यह शहर उन पर्यटकों के लिए बहुत खास है जिनकी इतिहास में गहरी रुचि है, जो आध्यात्मिक खोज में हैं और जो प्रकृति प्रेमी हैं उन लोगों को एक बार इस शहर की ज़रूर सैर करनी चाहिए। लेकिन इससे पहले हम आपको बताते हैं अबोहर शहर से कुछ रोचक तथ्यों के बारे में, जिसे जानने के बाद आपकी अबोहर शहर घूमने की रुचि और बढ़ जाएगी। आइये जानें इस शहर से जुड़ी कुछ ख़ास बातें। 

अबोहर से जुड़ा इतिहास 

inside  abohar

कोई भी शहर हो या फिर कोई भी चीज उसका कोई न कोई इतिहास जरूर होता है। ऐसे ही, अबोहर शहर का भी अपना इतिहास है। कहा जाता है कि इस शहर की स्थापना 12 वीं शताब्दी में हुई थी। तबसे लेकर अब तक इस शहर में कई सामाजिक और सांस्कृतिक बदलाव हुए हैं। इसके अलावा, यह शहर भारत - पाकिस्तान की सीमा के समीप बसा हुआ है। इसलिए यहां आपको विभिन्न जातियों और संस्कृतियों वाले लोग मिल जाएंगे। साथ ही, यहां के स्थानीय लोगों के बारे में यह धारणा है कि वह बहुत मिलनसार और नर्म स्वभाव के होते हैं। 

क्या है खास? 

inside  history of Abohar Punjab

अबोहर शहर पूरे उत्तर भारत में सबसे बड़े कपास उत्पादक, बेल्ट और कीनू नामक खट्टे फल के उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है। इसके अलावा, अबोहर में एक वाइल्ड लाइफ सेंचुरी है जो लगभग 13 गांवों में फैली हुई  है। साथ ही, इसे बिश्नोई समुदाय द्वारा नियंत्रित किया जाता है। इस वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में आपको विभिन्न तरह के जानवर जैसे ब्लैक बक, ब्लू बुल और मृग आदि देखने को मिल जाएंगे। साथ ही, आप इन जानवरों को गांवों में स्वतंत्र रूप से घूमते हुए भी देख सकते हैं।

इस शहर में विभिन्न पूजा स्थल जैसे गुरुद्वारा, मंदिर और मुस्लिम संतों के मंदिर हैं । धार्मिक महत्व रखने वाले कुछ प्रसिद्ध स्थानों में शिव मंदिर, गुरुद्वारा सिंह साहब , गुरुद्वारा नानकसर टोभा, नव दुर्गा वैष्णो मंदिर, श्री साईं मंदिर और गुरुद्वारा बड़ा तीरथ साहिब शामिल हैं। साथ ही, अबोहर शहर में आपको कई मकबरे भी देखने को मिल जाएंगे। यहां नेहरू पार्क भी है जहां पर्यटक जा सकते हैं और हरियाली के बीच कुछ समय का आनंद ले सकते हैं। इस शहर में एक दिन के दर्शनीय स्थलों की यात्रा के बाद आराम करने के लिए कई स्थान भी यहां मौजूद हैं।

इसे ज़रूर पढ़ें-अद्भुत झरनों का लुत्फ़ उठाना है तो मध्य प्रदेश ज़रूर पहुंचें

यहां के फेमस फूड्स 

inside  intersting facts

अबोहर शहर में कई चीजें मशहूर हैं लेकिन अगर आप कुछ खास खाने या पीने की सोच रहे हैं, तो आपके लिए जैन नमकीन, भंडार की दाल कचौरी, मिथलेश नमकीन, मीठा समोसा, गोपाल पान भंडार का मीठा पान और ढोला मारु आदि जैसे व्यंजन बेस्ट हैं जो बहुत पसंद किए जाते हैं।

Recommended Video

कैसे पहुंचे? 

inside  famous food

अगर आप अबोहर शहर की यात्रा करने का प्लान बना रहे हैं, तो आप बस, ट्रेन या फिर फ्लाइट आदि से आसानी से पहुंच सकते हैं। इसके लिए आपको चंडीगढ़ से बस या ट्रेन लेनी होगी। साथ ही, वहां से आप अबोहर शहर के स्थानीय परिवहन का भी सहारा ले सकते हैं। 

घूमने का समय 

वैसे तो आप किसी भी महीने में इस जगह की यात्रा कर सकते हैं। लेकिन, आप अगस्त से लेकर मार्च के महीने में घूमने का प्लान बनाएं क्योंकि उस समय यहां का अधिकतम और न्यूनतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से लेकर 32 डिग्री सेल्सियस तक रहता है। हालांकि, अगस्त से लेकर नवंबर के महीने में यहां का तापमान थोड़ा ज्यादा भी हो सकता है। 

इसे ज़रूर पढ़ें-दिल्ली में बच्चों के साथ घूमने के लिए 10 प्रमुख जगहों की तस्वीरें आप भी देखें

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें। इसी तरह के अन्य रोचक लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit- Freepik and Travel websites