अंडमान और निकोबार द्वीप भारत का सबसे खूबसूरत द्वीप है। यहां के तटों की शांति और दूर तक फैले समुद्र में उठती लहरें हर किसी का मन मोह लेती हैं। कुछ ऐसा ही है यहां स्थित नील आइलैंड, जो 37 स्क्वॉयर किलोमीटर में फैला छोटा, लेकिन बहुत खूबसूरत आईलैंड है । यह अंडमान से दक्षिण में स्थित है। कोरल रीफ और बेहतरीन बायोडायवर्सिटी की वजह से यह भी अंडमान की तरह काफी पॉपुलर है। इस खूबसूरत आइलैंड के बारे में और भी दिलचस्प चीजों के बारे में आइए विस्तार से जानें।

..अब हुआ शहीद द्वीप

shaheed dweep

2018 में  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अंडमान के तीन द्वीपों का नाम बदलने की घोषणा की थी। नेताजी सुभाष चंद्र बोस को ट्रिब्यूट देते हुए उन्होंने  रॉस आइलैंड, हैवलॉक आइलैंड और नील आइलैंड का नाम बदल दिया था। इसके बाद से नील आइलैंड को अब शहीद द्वीप के नाम से जाना जाता है। वहीं, रॉस आइलैंड को नेताजी सुभाष चंद्र बोस आइलैंड और हैवलॉक आइलैंड को स्वराज द्वीप नाम मिल गया।

वेजिटेबल बाउल

vegetable bowl of andaman

फूड लवर्स नील आइलैंड या शहीद द्वीप को अंडमान का वेजिटेबल बाउल कहते हैं। जिस तरह हैवलॉक आइलैंड सी फूड के लिए लोकप्रिय है, वहीं नील द्वीप ताजा, शाकाहारी भोजन में अधिक विकल्प प्रदान करता है। नील केंद्र का लोकल मार्केट सभी फ्रेश सब्जियों को खरीदने का बेहचर विकल्प है। वेजेटेरियन और वीगन के अलावा आपको यहां चाइनीज,  इजरायली, कॉन्टिनेंटल, नेपाली और इटैलियन फूड्स के ऑप्शन भी मिलते हैं।

इसे भी पढ़ें :जानिए दक्षिण भारत में स्थित ऐसे गांव के बारे में जहां सिर्फ संस्कृत में की जाती है बात!

हावड़ा ब्रिज

howrah bridge in adaman

आपको लगा हो शायद यहां कोलकाता के हावड़ा ब्रिज की बातो हो रही है? लेकिन ऐसा नहीं है। नील आइलैंड में भी अपनी किस्म का हावड़ा ब्रिज है। दो बड़े पत्थरों से बना यह प्राकृतिक ब्रिज नील द्वीप के प्रसिद्ध आकर्षणों में से है। नील आइलैंड में बसने वाले बंगाली लोगों ने पहले इसे रबींद्रनाथ सेतु का नाम दिया था और उसके बाद इसे हावड़ा ब्रिज कहा जाने लगा। 

इसे भी पढ़ें :भारत में मौजूद हैं यह खूबसूरत Flower Valleys, देखकर मंत्रमुग्ध हो जाएंगी आप

सुभाष मेला

subash mela

नील द्वीप के प्रसिद्ध त्योहारों में से एक सुभाष मेला है जो दिसंबर लास्ट और जनवरी के महीने में इस मेले का आयोजन किया जाता है। यह त्योहार नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती का प्रतीक है। इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। स्थानीय लोग, पारंपरिक पोशाक पहनते हैं, पारंपरिक भोजन पकाते हैं और टूरिस्ट्स के साथ गर्मजोशी से घुलते-मिलते हैं। तो अगर आपक कभी अंडमान की सैर कर रही हों, तो सुभाष मेले का आनंद जरूर लें।

Recommended Video

रामायण से प्रेरित बीच के नाम

 

जी हां, क्या आपको पता है कि कि नील आइलैंड के पॉपुलर बीच जिनके नाम लक्ष्मणपुर, भारतपुर, सीतापुर बीच रामायण के पौराणिक किरदारों से प्रेरित है। यह यहां के खूबसूरत बीच में से हैं और सारे बेहतरीन रिजॉर्ट्स इन बीच के आसपास ही हैं। इन समुद्र तटों पर आप कई गतिविधियां कर सकती हैं जैसे स्नॉर्कलिंग, जेट स्कीइंग और स्कूबा डाइविंग आदि।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें। ट्रैवल से जुड़ी ऐसी जानकारी के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।

Image Credit : freepik, shutterstock & unsplash