घूमने के लिए बस किसी जगह के बारे में अच्छे से मालूम होना चाहिए और बैग पैक किया और निकल गए। इसे कहते हैं घूमने की शौकीन रखने वाले या फिर घुमकड़। पश्चिम बंगाल में एक ऐसी ही जगह है जहां जब चाहें बैक पैक किया और निकल गए। जी हां, मैं बात कर रहा हूं, बंगाल के न्यू जलपाईगुड़ी के बारे में। तीस्ता नदी के किनारे बसा ये शहर किसी जन्नत से कम नहीं है। एक तरफ हरे-भरे जंगल और दूसरी तरफ तीस्ता नदी के किनारे बसा ये शहर किसी भी सैलानी को अपना दीवाना बना सकता है। यह एक ऐसा शहर है जो पूर्वोत्तर भारत को देश के बाकी हिस्सों से भी जोड़ता है। चाय के बागानों, पहाड़ियों और प्राकृतिक सुन्दरता यहां देखते ही बनता है। इसलिए यह स्थान पश्चिम बंगाल के सबसे लोकप्रिय पर्यटक स्थलों में से एक माना जाता है। चलिए जानते हैं यहां के कुछ बेस्ट पर्यटन स्थलों के बारे में-

राजबाड़ी महल 

places to visit in new jalpaiguri west bengal inside

न्यू जलपाईगुड़ी के सबसे लोकप्रिय स्थलों में से एक स्थान राजबाड़ी को माना जाता है। इस महल के चारों तरफ आपको हरियाली ही हरियाली दिखाई देगी। यह महल ऐतिहासिक महत्व के साथ आकर्षक वास्तुकला के लिए भी जाना जाता है। कहा जाता है कि यह महल स्थानीय शासकों का निवास स्थल हुआ था। ये महल दो मंदिर और एक विशाल तालाब से घिरा हुआ जो इसे और भी आकर्षण बनाता है। यहां आप सुबह 9 से शाम 4 बजे के बीच घूम सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: फेस्टिव सीजन में कोलकाता के इन बेहतरीन हॉलीडे डेस्टिनेशन्स पर जरूर जाएं

गोरूमारा नेशनल पार्क

places to visit in new jalpaiguri west bengal inside

जब बात पहाड़ी इलाके की हो और वहां कोई नेशनल पार्क ना हो ऐसा बहुत कम ही होता है। न्यू जलपाईगुड़ी शहर से कुछ ही दूरी पर है गोरूमारा नेशनल पार्क, जहां लगभग दो सौ से अधिक पक्षी, पांच से लेकर सात तरह के कछुओं की प्रजाति, हाथी, बाघ और ना जाने कितने ही आपको जंगली जानवर देखने को मिलेंगे। इस उद्यान में सबसे आकर्षण का केन्द्र है तेंदुआ। अगर आप दोस्त, परिवार यह फिर पार्टनर के साथ जलपाईगुड़ी में प्रकृति और जीव-जंतुओं के करीब घूमना और मौज मस्ती करना चाहते हैं तो गोरूमारा नेशनल पार्क ज़रूर पहुंचें। (जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क

जलपेश मंदिर 

places to visit in new jalpaiguri west bengal temple inside

न्यू जलपाईगुड़ी में सबसे प्रसिद्ध धर्मिक स्थल कोई है तो वो है जलपेश मंदिर। यहां हर समय बड़ी संख्या में श्रद्धालुयों की भीड़ लगी रहती है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि इस मंदिर को राजा बगदत्त के अंतिम उत्तराधिकारी राजा जलपेश ने लगभग 800 ईस्वी के आसपास निर्माण करवाया था। कहा जाता है कि फ़रवरी और मार्च के महीने में यहां भव्य मेला भी लगता है। अगर आप राजबाड़ी और गोरूमारा नेशनल पार्क घूमने के बाद किसी धार्मिक जगह घूमने का प्लान कर रहे हैं तो जलपेश मंदिर ज़रूर पहुंचें। (दक्षिणेश्वर काली मंदिर के बारे में कुछ अनसुनी बातें)

Recommended Video

मूर्ति नदी

places to visit in new jalpaiguri west bengal murti river inside

अगर आपको न्यू जलपाईगुड़ी में भी शांत से शांत जगह घूमने के लिए जाना चाहते हैं तो आपको शहर से लगभग नौ से दस किमी की दूरी पर स्थित मूर्ति नदी घूमने जाना चाहिए। सैलानी यहां अक्सर नदी के किनारे बैठे मिल जायेंगे। जंगल के बीच में स्थित इस नदी के किनारे आपको पानी पीते हुए कई जानवर भी नज़र आ जायेंगे। (भारत के इन 5 धार्मिक नदी) अगर आप फोटोग्राफी के शौकीन है तो ये जगह आपके लिए परफेक्ट है।

इसे भी पढ़ें: आज चलते हैं जानकी माता यानि सीता की जन्म धरती सीतामढ़ी की सैर पर

कैसे पहुंचें

न्यू जलपाईगुड़ी जाने के लिए आप कोलकाता से बस या टेक्सी लेकर जा सकते हैं। आप ट्रेन से भी जलपाईगुड़ी पहुंच सकते हैं। न्यू जलपाईगुड़ी रेलवे स्टेशन से आप टेक्सी और लोकल गाड़ी से पूरे शहर में घूम सकते हैं। यहां रुकने के लिए आपको होटल और गेस्ट रूम भी आसानी से मिल जायेंगे।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit:(@upload.wikimedia.org,blogspot.com,ivilhindipedia.com)