देश के चार प्रमुख महानगरों में शुमार होने वाला ऐतिहासिक राज्य पश्चिम बंगाल, दिल्ली से पहले भारत की राजधानी हुआ करता था। पहले मुग़ल साम्राज्य फिर बाद में अंग्रेजों ने जिन शुरूआती शहरों को आपना ठिकाना बनाया उनमें से पश्चिम बंगाल भी था। पश्चिम बंगाल में भागीरथी नदी के तट पर स्थित एक शहर है, जो कई रूप से मुगल और ब्रिटिश औपनिवेशिक इतिहास के लिए जाना जाता है। इस शहर का नाम है 'मुर्शिदाबाद' है। यह एक छोटा शहर है लेकिन, पर्यटन स्थल और सुंदरता के लिहाज़ा से आज भी यह शहर सैलानियों के लिए प्रमुख स्थान बना हुआ है। आज इस लेख में हम आपको यहां की कुछ बेहतरीन जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां आप दोस्तों और परिवार के साथ घूमने और धमाल-मस्ती करने के लिए जा सकते हैं।

हज़ार्डियरी पैलेस

places to visit in murshidabad west bengal inside

मुर्शिदाबाद में देखने और घूमने के लिए किसी पर्यटन स्थल का नाम लिया जाता है, तो सबसे पहले भागीरथी नदी के पूर्वी तट पर स्थित हज़ार्डियरी पैलेस का नाम लिया जाता है। पूरे पश्चिम बंगाल में हज़ार्डियरी पैलेस अपनी भव्यता के लिए प्रसिद्ध है। कहा जाता है कि यह पैलेस लगभग 41 एकड़ के विशाल क्षेत्र में फैला हुआ। ये भी कहा जाता है कि इस पैलेस के आधे हिस्से को अब एक संग्रहालय में बदल दिया गया है। यहां कई बेशकीमती और ऐतिहासिक सामानों को आज भी संग्रहित करके रखा गया है।

इसे भी पढ़ें: आज न्यू जलपाईगुड़ी की यात्रा पर चलते हैं, और जानते हैं क्या है खास यहां घूमने के लिए  

मोती झील

places to visit in murshidabad west bengal inside

स्थानीय लोगों के साथ सैलानियों के लिए सबसे आकर्षित जगहों में से एक है मोती झील। झील और झील के चारों तरफ से मौजूद खूबसूरत पेड़-पौधे, और फूल इस जगह को सैलानियों के लिए और भी परफेक्ट है। इस झील के बारे में कहा जाता है कि इस जगह को घोड़े की नाल के आकार में खुदाई की गई है। ये भी कहा जाता है कि ब्रिटिश काल में यह जगह बेहद ही लोकप्रिय मानी जाती थी। अगर आप अपने परिवार के साथ घूमने के लिए निकल रहे हैं, तो आपको यहां एक बार ज़रूर घूमने जाना चाहिए। (सिक्किम के 5 मशहूर झील

Recommended Video

कटरा मस्जिद

visit in murshidabad west bengal inside

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण और पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा संरक्षित कटरा मस्जिद, मुर्शिदाबाद शहर का एक ऐतिहासिक पर्यटक स्थल है। कहा जाता कि इस मस्जिद का निर्माण लगभग 1723 और 1724 के बीच करवाया गया था। इस मस्जिद के चारों तरफ मौजूद हरे-भरे पेड़-पौधे आने वाले पर्यटकों को और भी आकर्षित करता है। इस जगह के बारे में कहा जाता है कि उस समय के शासक मुर्शिद कुली ने इसी जगह दफन किए जाने की इच्छा किया था। 

इसे भी पढ़ें: फैमिली ट्रिप के लिए ये हैं दार्जिलिंग की 5 बेस्ट डेस्टिनेशन

कथ्गोला महल 

best places to visit in murshidabad inside

इस महल के बारे में कहा जाता है कि मध्य काल में व्यापार यात्रा के दौरान व्यापारियों और मेहमानों का मनोरंजन कराने के लिए कथ्गोला महल को बनवाया गया था। इस महल के एक साइड में खूबसूरत बगीचा मौजूद है, तो दूसरे साइड एक तालाब और आदिनाथ को समर्पित एक मंदिर है, जो सैलानियों के लिए महेशा से यह जगह आकर्षण की केंद्र रही है। इस जगह आप परिवार के अलावा पार्टनर के साथ भी घूमने के लिए जा सकते हैं, क्यूंकि युवाओं के बीच यह जगह कुछ अधिक ही फेमस है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें, और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit:(@www.holidify.com,upload.wikimedia.org)