छत्तीसगढ़ में ऐसी कई जगहें हैं जो अपनी खास खूबसूरती के लिए जानी जाती हैं, लेकिन अगर आप हिल स्टेशन घूमना चाहती हैं तो चिरमिरी आपके लिए परफेक्ट प्लेस है। वीकेंड पर अपनी छुट्टियों को एन्जॉय करना चाहती हैं तो चिरमिरी आ सकती हैं। पहाड़ और हरियाली के साथ-साथ यहां कुछ ऐसे वॉटरफॉल्स हैं, जिसे देखने के बाद आप नैनीताल, और शिमला जैसी जगहों को भूल जाएंगी। इसके अलावा यहां कुछ ऐसे मंदिर है जिसकी खास मान्यताएं है। कोरिया जिले में बसा चिरमिरी कभी ब्रिटिश साम्रज्य का हिस्सा हुआ करता था, लेकिन 1998 में इसे एक जिला बना दिया गया है। 

छत्तीसगढ़ के चिरमिरी पहुंचना बहुत आसान है। इसके लिए आपको सबसे पहले बिलासपुर रेलवे स्टेशन पहुंचना होगा, वहां से कई ऐसी ट्रेनें हैं जो चिरमिरी जाती हैं। आप अपनी सुविधा के अनुसार जा सकती हैं। हालांकि चिरमिरी में ठहरने के लिए खास व्यवस्था नहीं है, लेकिन यहाँ से कुछ ही फासले पर एक जगह है अंबिकापुर जहां आपके रहने के लिए अच्छे होटल्स आसानी से उपलब्ध हो जाएंगे। यहां आप कम बजट में भी आसानी से घूम सकती हैं। आइए जानते हैं चिरमिरी में घूमने के लिए बेस्ट प्लेसेस कौन-कौन से हैं।

  • जगन्नाथ मंदिर

temple

चिरमिरी खास स्थलों और मंदिरों की वजह से हमेशा ही आकर्षण का केंद्र बना रहा है। ऐसे में अगर आप चिरमिरी जा रही हैं तो भगवान जगन्नाथ का मंदिर जाना न भूलें। खास बात है कि चिरमिरी का ये मंदिर पुरी में स्थित भगवान जगन्नाथ के मंदिर जैसा ही दिखता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसके निर्णाण के लिए ओडिशा के राजमिस्त्रियों को काम पर रखा गया था। चिरमिरी में इस मंदिर को बानने के लिए ओडिया समुदाय का योगदान माना जाता है। उन्होंने चिरमिरी के लोगों को उपहार के तौर पर यह मंदिर भेंट किया था। इसके अलावा यहां पर गुफा मंदिर, बैगापारा, और कालीबाड़ी जैसे तीर्थ स्थल है, जहां आप जा सकती हैं।

  • हासदेव नदी

chirmiri

छत्तीगढ़ का चिरमिरी अपनी नैचुरल खूबसूरती के लिए जाना जाता है। यहां पहाड़ों, और झरनों के अलावा नदी भी है, यह छत्तीसगढ़ राज्य से होकर बहने वाली महानदी की सहायक नदियों में से एक है। हासदेव नदी की लंबाई 210 किलोमीटर है, और अपनी प्राकृतिक सुंदरता की वजह से ही यह पर्यटकों का फेवरेट स्पॉट बन गया है। वहीं नदी को जिले की जीवनधारा भी माना जाता है। 

  • गौरघाट वॉटरफॉल

ramdeh waterfall

गौराघाट वॉटरफॉल हासदेव नदी से कुछ ही दूरी पर स्थित है जो उस क्षेत्र में प्रमुख जल निकाय है। यह वॉटरफॉल काफी ऊंचा है और हासदेव नदी पर 60 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। पिकनिक या फिर वीकेंड पर छुट्टियां बिताने के लिए यह जगह सबसे उपयुक्त मानी जाती है। वहीं इस वॉटरफॉल की चौड़ाई 5 किमी तक है जो मानसून के मौसम में बेहद खूबसूरत दिखता है। मानसून के अलावा यहां आने के लिए आप सर्दी या फिर गर्मी किसी भी समय को चुन सकती हैं।

इसे भी पढ़ें:ठंड की वजह से जम गया डल लेक, इन 3 कारणों से इस बार कश्मीर हो सकता है परफेक्ट ट्रैवल डेस्टिनेशन

Recommended Video

  • रामदाह वॉटरफॉल

चिरमिरी में ऐसे कई खूबसूरत वॉटरफॉल्स हैं जो परफेक्ट ट्रैवलिंग डेस्टिनेशन हैं। उन्हीं में से एक है रामदाह वॉटरफॉल जो कि बनास नदी के पानी में स्थित है। और यह क्षेत्र के सबसे उंचे वॉटरफॉल्स में से एक है। वॉटरफॉल की ऊंचाई लगभग 100 फीट से 200 फीट आंकी गई है जो कि काफी अधिक है। इस वॉटरफॉल की खूबसूरती देखने के लिए लोग अक्सर यहां जाते हैं, लेकिन मानसून के वक्त यहां जाना लोग अधिक पसंद करते हैं। हालांकि आप इस वॉटरफॉल के खूबसूरत नजारे को किसी भी मौसम में देख सकती हैं। रामदाह वॉटरफॉल के अलावा अमृतधारा वॉटरफॉल भी आप घूम सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: क्या आप जानते हैं cumbum tank एक अद्वितीय गंतव्य स्थल के बारे में

  • अकुरी नाला

akkuri waterfall

छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में स्थित अकुरी नाला एक छोटा सा वॉटरफॉल है। बैकुंठपुर से लगभग 65 किमी की दूरी पर स्थित अकुरी नाला चारों तरफ से बड़े-बड़े पत्थरों से घिरा हुआ है, जिसके ऊपर से पानी बहता नजर आता है। गर्मी या फिर सर्दियों के मौसम में इस वॉटर फॉल की खूबसूरती को देख सकती हैं। हालांकि सर्दियों में यह जगह काफी ठंडी हो जाती है, ऐसे में अगर आप जाने का प्लान बना रही हैं तो गर्म कपड़ों की व्यवस्था जरूर कर लें।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।