गोवा इंडिया में बेस्ट टूरिस्ट प्लेसेस में से एक माना जाता है। सिर्फ इंडिया से ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया से लोग इस छोटे से खूबसूरत राज्य में घूमने के लिए आते हैं। यहां के बीचे पर घूमने का एक अलग ही मजा है। हालांकि, यह जरूरी नहीं है कि गोवा आने वाला हर पर्यटक केवल बीचेस या सी-फूड को ही एन्जॉय करे। गोवा में बीचेस के अलावा भी कई ऐसी जगहें हैं, जो आपको एक अलग ही एक्सपीरियंस देती हैं।

हो सकता है कि आपने भी गोवा घूमने का मन बनाया हो और आप वहां के बीचेस पर घूमने के लिए बेहद एक्साइटेड हों। लेकिन कोशिश करें कि आप अपनी ट्रिप को केवल बीचेस तक ही सीमित ना रखें, क्योंकि गोवा में इसके अलावा भी बहुत कुछ है। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको गोवा में घूमने की कुछ बेहतरीन जगहों के बारे में बता रहे हैं-

डॉ. सलीम अली बर्ड सैन्चुरी

saleeem ali bird

अगर आप एक बर्ड लवर है या फिर एक पक्षी विज्ञानी हैं या फिर आपको पक्षियों को देखना और तस्वीरें लेना पसंद करते हैं, तो भारत के सबसे प्रसिद्ध पक्षी विज्ञानी डॉ सलीम मोइज़ुद्दीन अली के नाम पर बने इस बर्ड सैन्चुरी में अवश्य जाएं। मंडोवी नदी में चोराओ द्वीप पर स्थित, इस बर्ड सैन्चुरी में नौका द्वारा पहुँचा जा सकता है। यहां जाने का सबसे अच्छा समय सर्दियों के महीनों यानी अक्टूबर से मार्च के दौरान होता है जब प्रवासी पक्षी जो इस क्षेत्र में अक्सर आते हैं और निवास करते हैं। अगर आप यहां पर है तो आप सफेद बगुले, बैंगनी बगुले, रंगीन किंगफिशर, चील, कठफोड़वा, सैंडपाइपर, कर्ल, ड्रोंगो, मैना, लिटिल बिटर्न, ब्लैक बिटर्न, रेड नॉट, जैक स्निप और पाइड एवोकेट आदि को देख सकते हैं।

श्री मंगुशी मंदिर

श्री मंगुशी मंदिर की गिनती गोवा में सबसे बड़े और सबसे अधिक देखे जाने वाले मंदिरों में से एक है। इस मंदिर का अपना एक ऐतिहासिक महत्व है। यह मंदिर 450 साल पुराना है। सात मंजिला लैम्प टॉवर इस खूबसूरत मंदिर की एक अनूठी विशेषता है जो बेहद सुंदर है और हर पर्यटक को अपनी ओर आकर्षित करता है। भगवान मंगेश या मंगुरीश कोई और नहीं बल्कि भगवान शिव हैं जिन्हें यहां शिव लिंग के रूप में पूजा जाता है। यह मंदिर मूल रूप से मारमुगाओ में निर्मित है। जब पुर्तगालियों ने गोवा पर आक्रमण किया तो मंदिर को प्रोल में स्थानांतरित कर दिया गया था।

इसे ज़रूर पढ़ें-नॉर्थ गोवा में एक बार इन जगहों पर जरूर जाएं, आएगा बेहद मजा

चापोरा किला

places to explore in hindi

चापोरा नदी पर स्थित यह प्राचीन लैटेराइट किला एक ऐतिहासिक स्मारक है। यहां पर पर्यटक अधिकतर शाम के समय आना पसंद करते हैं, क्योंकि यहां पर सूर्यास्त का एक अलग ही नज़ारा देखने को मिलता है। किले का इतिहास लंबा और विविध है। चापोरा गांव और किले का नाम ’शाहपुरा’ से मिलता है। जब पुर्तगालियों ने शाह को हराया और किले पर कब्जा कर लिया, तो उनके लिए इसका बहुत बड़ा सैन्य महत्व था। (थालास्सेरी किला के बारे में कितना जानते हैं आप) किला चापोरा गांव का एकमात्र लेटराइट किला है। दीवारों में अनियमित रूप से दूरी वाले बुर्ज भी थे, जिनमें तोपों को रखने के लिए बड़े एंब्रेशर थे। किले के ऊपर बेलनाकार मीनारें हैं, जो किले को दिलचस्प बनाती हैं।

शांतादुर्गा मंदिर, पोंडा, दक्षिण गोवा

temple in hindi

पोंडा, जिसे एंट्रूज़ महल के नाम से भी जाना जाता है, गोवा की एक फास्ट ग्रोइंट सिटी है, जिसमें बहुत सारे मंदिर और स्मारक हैं। अगर आप पोंडा में है तो 1730 के शांतादुर्गा मंदिर के दर्शन करें। श्री शांतादुर्गा मंदिर गोवा के पोंडा तालुका में कवलम गांव की तलहटी में स्थित है। यहां पर एक छोटा लेटराइट मिट्टी का मंदिर बनाया गया था। मिट्टी-मंदिर को बाद में एक सुंदर मंदिर में बदल दिया गया था जिसकी आधारशिला 1730 में रखी गई थी और मंदिर 1738 में बनकर तैयार हुआ था और 1966 में इसका जीर्णोद्धार किया गया था।

Recommended Video

मंदिर शांतादुर्गा को समर्पित है, जो विष्णु और शिव के बीच मध्यस्थता करने वाली देवी हैं। (दिल्ली के इन शिव मंदिरों के जरूर करें दर्शन) देवता को बोलचाल की भाषा में ’संतेरी’ भी कहा जाता है। स्थानीय किंवदंतियां हैं कि एक बार शिव और विष्णु के बीच युद्ध हुआ था। युद्ध इतना भयंकर था कि भगवान ब्रह्मा ने देवी पार्वती से हस्तक्षेप करने की प्रार्थना की, तो उन्होंने शांतादुर्गा के रूप में मध्यस्थता की। की। शांतादुर्गा ने अपने दाहिने हाथ में विष्णु और अपने बाएं हाथ पर शिव को रखा और युद्ध को सुलझा लिया।

इसे ज़रूर पढ़ें-महिला सोलो ट्रैवलर के लिए बेस्ट हैं भारत के ये होस्टल्स

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit- goa-tourism, Wikimedia,