बेली बटन की पियर्सिंग इन दिनों काफी ट्रेंड में है। अमूमन महिलाएं अपने लुक को अधिक फैशनेबल बनाने के लिए बेली बटन की पियर्सिंग करवाती हैं। भले ही नेवल पियर्सिंग आपको स्टाइलिश दिखाए और आप क्यूट व ट्रेंडी नजर आए, लेकिन पियर्सिंग के दौरान आपको कुछ बातों का खास ख्याल रखना होता है। आपको एक परफेक्ट बॉडी पियर्सिंग मिले, इसके लिए आप कुछ टिप्स पर ध्यान दें।

बेली बटन की पियर्सिंग बहुत दर्दनाक और जोखिम भरी हो सकती है और इसलिए कंप्लीट हील होने तक आपको नियमित रूप से रखरखाव की आवश्यकता होती है। हालांकि, जब तक आप पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाती, तब तक आपको कुछ हफ्तों तक एरोबिक्स, योग और किसी भी हार्ड एक्टिविटी से बचना चाहिए। वहीं, दूसरी ओर बेली बटन की पियर्सिंग करवाते समय भी आपको कुछ बातों का खास ख्याल रखना चाहिए। जिसके बारे में हम आज आपको इस लेख में बता रहे हैं-

एक्सपर्ट की सलाह

अगर आप बेली बटन की पियर्सिंग करवाने का मन बना रही हैं तो ऐसे में किसी भी मेडिकल प्रॉसिजर से पहले एक्सपर्ट की सलाह अवश्य लें। इसके अलावा, हमेशा ही ट्रेंड प्रैक्टिशनर से ही पियर्सिंग करवाएं, ताकि आपको किसी तरह की कॉम्पलीकेशन ना हो या फिर पियर्सिंग में किसी तरह की गड़बड़ ना हो।  

पियर्सिंग गन का इस्तेमाल नहीं 

gun

बेली बटन पियर्सिंग करवाते समय आमतौर पर संक्रमण को रोकने और एक सेफ प्रॉसिजर के लिए स्टेरलाइज्ड नीडल्स या सुइयों का इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए, जब भी आप बेली बटन पियर्सिंग करवा रही हैं तो यह सुनिश्चित करें कि एक्सपर्ट पियर्सिंग गन या किसी मशीन का इस्तेमाल पियर्सिंग के लिए ना करे।

इंफेक्शन से बचाव है जरूरी

जब आप नाभि की पियर्सिंग करवाती हैं तो उस समय में बैक्टीरियल इंफेक्शन होने की संभावना बहुत अधिक होती है। इसलिए आप यह सुनिश्चित करें कि प्रक्रिया शुरू करने से पहले एक्सपर्ट ने साफ सर्जिकल लेटेक्स दस्ताने को अवश्य पहना हो। याद रखें कि आपका बेली बटन एक बहुत ही संवेदनशील एरिया है और इसमें जलन व इंफेक्शन की संभावना है। इसके अलावा, संभावित संक्रमण जोखिमों से बचने के लिए आपके आसपास का एरिया भी बेहद क्लीन होना चाहिए।

अपने हाथों की करें अच्छी तरह सफाई

hand wash

बेली बटन की पियर्सिंग करवाने के बाद भी साफ-सफाई पर ध्यान देना चाहिए। इसलिए, कभी भी बिना धुले हाथों से पियर्सिंग वाली जगह को न छुएं। सुनिश्चित करें कि जब आप पियर्सिंग के बाद ज्वैलरी को चेंज करें तो उस समय किसी तरह का कंटैमिनेशन ना हो। इसलिए पहले अपने हाथों को एक कीटाणुनाशक या जीवाणुरोधी साबुन से साफ करें।

इसे ज़रूर पढ़ें- Health Tips: धार्मिक महत्व ही नहीं सेहत के लिए भी फायदमंद है कान छिदवाना

ज्वैलरी को भी करें स्टेरलाइज

यह भी एक महत्वपूर्ण प्वाइंट है, जिस पर अधिकतर लोग ध्यान ही नहीं देते है। भले ही आप प्रोफेशनल पियर्सर से नेवल पियर्सिंग में ज्वैलरी को चेंज करवा रही हों या फिर इसे खुद घर पर ही कर रही हों। आपको इस बात पर अवश्य ध्यान देना चाहिए कि आप उसे नाभि में प्लेस करने से पहले अच्छी तरह स्टेरलाइज व सैनिटाइज कर लें। आप ज्वैलरी को स्टेरलाइज करने के लिए अल्कोहल या एंटी-बैक्टीरियल सोप का इस्तेमाल कर सकती हैं।

Recommended Video

मैटीरियल पर भी करें फोकस

belly material

जब भी आप नेवल पियर्सिंग करवाती हैं तो आपको इस बात पर भी ध्यान देना चाहिए कि आपकी ज्वैलरी का मैटीरियल ऐसा ना हो, जो आपकी स्किन को नुकसान पहुंचाए। मसलन, आप निकेल, स्टर्लिंग और सिल्वर आदि से बनी ज्वैलरी सामग्री का उपयोग करने से बचें क्योंकि उनमें जंग लगने की संभावना अधिक होती है और इसलिए वह आपकी स्किन पर हानिकारक प्रभाव छोड़ सकते हैं। इसके बजाय आप नॉन-टॉक्सिक और एंटी-एलर्जेनिक धातु जैसे नाइओबियम, प्लैटिनम, टाइटेनियम और गोल्ड से बनी एसेसरीज को नाभि पर यूज कर सकती हैं।  

इसे ज़रूर पढ़ें- क्या आप भी नोज़ पियर्सिंग करवाने जा रही हैं,ध्यान रखें ये बातें

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (@Freepik)