नोज़ पियर्सिंग यानि कि नाक छिदवाने की प्रक्रिया। यह एक ऐसी प्रक्रिया है जो लड़कियों के बीच बहुत ज्यादा ट्रेंड में है। लड़कियां नोज पियर्सिंग कभी फैशन के लिए करवाती हैं तो कभी शादी में फेरों के समय पहनी जाने वाली नथ की परंपरा को ध्यान में रखकर। वजह चाहे जो भी हो लेकिन नोज़ पियर्सिंग लड़कियों का सबसे बड़ा फैशन सिंबल बन गया है। पहले लड़कियों में इसका ज्यादा क्रेज़ नहीं था लेकिन समय के साथ ये ट्रेंड में आ गया और ज्यादातर लड़कियों की डिमांड बन गया। अगर आप पहली बार नोज़ पियर्सिंग करवाने जा रही हैं तो आप के मन में भी इसे लेकर काफी जिज्ञासा होगी कि ऐसा करवाना आपके लिए ठीक है या नहीं। आइए आपको बताते हैं नोज़ पियर्सिंग के बारे में कुछ ध्यान रखने वाली बातों के बारे में -

सही जगह का चयन करें 

nose pearcing ()

जब नोज़ पियर्सिंग की बात आती है, तो आप किसी पर भी भरोसा नहीं कर सकती हैं । हमेशा आपको रिसर्च करके सही जगह का चुनाव करना चाहिए, साथ ही किसी सही व्यक्ति से ही पियर्सिंग करवानी चाहिए। कई बार हम किसी ऐसे व्यक्ति से पियर्सिंग करवा लेते हैं जिसे ज्यादा अनुभव न हो तो इन्फेक्शन का खतरा बढ़ सकता है। ठीक तरह से रिसर्च करें और इसे अनुभव और लाइसेंस वाले किसी व्यक्ति से ही करवाएं । 

Recommended Video

सफाई का ध्यान दें 

nose pearcing ()

हमेशा जब नोज़ पियर्सिंग करवाएं तब बाद में उस जगह का ध्यान अच्छी तरह देना जरूरी है। क्योंकि नाक की सेंसटिव त्वचा को साफ़ न रखने पर किसी भी तरह का इन्फेक्शन हो सकता है जो शरीर के अन्य भागों तक भी फ़ैल सकता है। जितनी स्वच्छता और सफाई बनाए रखना आपके लिए महत्वपूर्ण है उतना ही इस बात का भी ध्यान देना जरूरी है कि, जो व्यक्ति नोज़ पियर्सिंग कर रहा है वो पियर्सिंग वाली जगह को ठीक से साफ़ कर रहा है या नहीं। यह भी सुनिश्चित कर लें कि उसने हाथों में दस्ताने पहने हुए हों। 

इसे जरूर पढ़ें: शादी में बिना वजन कम किए दिखना है पतला तो फॉलो करें ये टिप्स

शरीर को हाइड्रेटेड रखें 

nose pearcing (

अपने शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के लिए और नाक छिदवाने के बाद संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए ढेर सारा पानी पिएं (पानी पीने के फायदे) और हाइड्रेटेड रहें। छेदन के एक दिन पहले और दूसरे दिन खूब पानी पिएं, क्योंकि यह विषाक्त पदार्थों को निकाल देगा और आपके शरीर को एक अच्छा डिटॉक्स देगा जिससे शरीर में किसी भी प्रकार के संक्रमण का डर समाप्त हो जाएगा। 

इसे जरूर पढ़ें: Anarkali Kurta Latest Designs: दिव्‍यांका त्रिपाठी के लेटेस्‍ट अनारकली कुर्ता स्‍टाइल देखें और करवाएं रीक्रिएट

पेन किलर ऑइंटमेंट का इस्तेमाल 

हर व्यक्ति दर्द को बर्दाश्त करने की क्षमता अलग होती है। इसलिए यदि आपको नोज़ पियर्सिंग के बाद दर्द महसूस हो तो डॉक्टर या एक्सपर्ट के द्वारा बताए गए पेन किलर ऑइंटमेंट का इस्तेमाल करें। आप पियर्सिंग करने वाले व्यक्ति से विशेष रूप से नाक छिदवाने के साथ पेन किलर ऑइंटमेंट का इस्तेमाल करने को कहें जिससे दर्द न हो। पियर्सिंग की प्रक्रिया से आधे घंटे पहले एक दर्द निवारक को अप्लाई करना सबसे अच्छा निर्णय है ताकि दर्द आपके अनुभव को खराब न कर सके।

सही नोज़ रिंग का चयन 

nose pearcing ()

हमेशा आपको पहले से ही नोज़ रिंग या नोज़ पिन तैयार रखनी चाहिए जिससे पियर्सिंग करवाने के तुरंत बाद आप इसे पहन सकें। हमेशा ध्यान रखें कि किसी अच्छे मेटल की रिंग ही इस्तेमाल करें जैसे आप सोने की रिंग का इस्तेमाल कर सकती हैं। इससे किसी तरह का इन्फेक्शन का खतरा नहीं होता है। 

इन बातों को ध्यान में रखकर आप आसानी से नोज़ पियर्सिंग करवा सकती हैं और ये आपके फैशन में चार चांद लगा देगा। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit:free pik