झाइयां काले और भूरे रंग के पैचेस की तरह दिखाई देती हैं जो चेहरे के सुंदरता को कम कर देती हैं। यह अक्‍सर गालों के पास बहुत ज्‍यादा होती है लेकिन कई महिलाओं के नाक और होंठों पर भी यह दिखाई देने लगती हैं। ऐसे में महिलाएं इससे बचने के उपायों की तलाश में रहती हैं। इसलिए हम समय-समय पर आपको झाइयों से बचने के उपायों के बारे में बताते हैं। 

इससे पहले हमने आपको गालों और आंखों के आस-पास होने वाली झाइयों के बारे में बताया था। आज हम आपको नाक और होंठों की झाइयों से बचने के उपाय बता रहे हैं। अगर आप भी इस हिस्‍से की झाइयों से परेशान हैं तो इस आर्टिकल में एक्‍सपर्ट के बताए टिप्‍स को जरूर आजमाएं। इन उपायों को अपनाने के कुछ दिनों बाद ही आपको खुद में फर्क महसूस होगा। इन आसान टिप्‍स के बारे में हमें डर्मेटोलॉजिस्ट और एस्थेटिक फिजिशियन आईएलएएमईडी के संस्थापक और निदेशक, डॉक्‍टर अजय राणा जी बता रहे हैं। 

डॉक्‍टर अजय राणा का कहना है, ''नाक और होंठों पर होने वाली झाइयां सबसे कॉमन प्रॉब्‍लम्‍स में से एक हैं जिसका सामना लगभग हर किसी को करना पड़ता है। इसके होने का सबसे मुख्य कारण नाक और होंठों का सूरज की किरणों की चपेट में ज्यादा आना है। नाक और होंठ हमारे शरीर का वो हिस्सा है जो सबसे ज्यादा सूरज की किरणों से प्रभावित होता है। इसके अलावा नाक और होंठों पर होने वाली झाइयों के कई सारे कारण हो सकते है जैसे हार्मोनल बदलाव, हार्मोनल ट्रीटमेंट, अनेक तरह के स्किन केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना और मेलेनिन जो स्किन के कलर में बदलाव के लिए कारक होता है।'' आइए इस हिस्‍से की झाइयों को दूर करने आसान टिप्‍स के बारे में जानें।

क्रीम्‍स का इस्‍तेमाल

skin care products inside

नाक और होंठों पर होने वाली झाइयों को रोकने के लिए आप अपने डर्मेटोलॉजिस्ट की सलाह पर अनेक तरह के क्रीम्स जैसे - हाइड्रोक्विनोन, ट्रेटीनोइन आदि इस्‍तेमाल कर सकती हैं। इन्हें ट्रिपल क्रीम भी कहते है। हाइड्रोक्विनोन स्किन-लाइटनिंग एजेंट है। यह त्वचा को ब्लीच करता है जो हाइपरपिग्मेंटेशन के विभिन्न रूपों का इलाज करते समय मददगार हो सकता है। साथ ही ट्रेटिनोइन एक प्रिस्क्रिप्शन-स्ट्रेंथ टॉपिकल क्रीम या जैल है। इसका इस्‍तेमाल मुख्य रूप से मुंहासे, सूरज से डैमेज त्वचा और झुर्रियों के इलाज के लिए किया जाता है। इसके अलावा यह झाइयों को दूर करने में मदद करता है।

इसे जरूर पढ़ें: झाइयों को दूर भगाने के लिए ये 2 टिप्‍स अपनाएं, कुछ ही दिनों में दिखता है असर

स्किन केयर प्रोडक्‍ट्स का इस्‍तेमाल

ऐसे स्किन केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें जिसमें एंजेलिक एसिड और कोजिक एसिड की मात्रा अधिक हो। यह स्किन के डार्क एरिया को लाइट करने में मदद करते हैं। एंजेलिक एसिड पोर्स के प्रकोप और हेल्‍दी बैक्टीरिया को रोक सकता है जो मुंहासे का कारण बनता है। एंजेलिक एसिड एसिड आपकी त्वचा पर लगाया जाता है और जैल, फोम और क्रीम के रूप में उपलब्ध होता है। कोजिक एसिड, कुछ खास एमिनो एसिड, पॉलीफेनोल, जैंथिन से ऑक्सीजन को निकालने वाले एंजाइम को रोकता है। इसके अलावा मेलेनिन का उत्पादन करने वाले और आपकी त्वचा का रंग हल्का करने वाले प्राकृतिक एंजाइमों को अवरुद्ध करता है।

मॉर्डन ट्रीटमेंट का सहारा लें

chemical peel inside

अपने डर्मेटोलॉजिस्ट की सलाह से आप अनेक तरह के मॉडर्न ट्रीटमेंट जैसे माइक्रोडर्माब्रेशन, केमिकल पील, लेज़र ट्रीटमेंट और लाइट थेरेपी का इस्तेमाल कर सकती हैं। यह नाक और होंठों के आस-पास होने वाली झाइयों को कम करने में मदद करता है।

सनस्क्रीन लगाएं

नाक और होंठों के आस-पास होने वाली झाइयों को कम करने के लिए आप सूरज की किरणों की चपेट में कम से कम आए। जब भी आप बाहर निकलें तो सनस्क्रीन लगाकर ही निकलें। सनस्क्रीन हमारी त्वचा पर एक परत की तरह काम करता है जो तेज धूप में सूरज की 'पराबैंगनी किरणों' से हमारी त्वचा को होने वाले सीधे नुकसान से बचाती है। सनस्क्रीन में त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण चीजें जैसे जिंक ऑक्साइड, टाइटेनियम ऑक्साइड आदि होते हैं।

बादाम का तेल

almond oil inside

इसके लिए आप बादाम के तेल का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। बादाम के तेल में स्किन को लाइट करने के गुण होते हैं जो डार्क स्पॉट्स और झाइयों को कम करने के लिए सबसे कारगर है। इसके लिए 1 चम्‍मच बादाम के तेल में 2 चम्‍मच विटामिन ई मिक्स करें और एक अच्छा सा सॉल्यूशन बना लें। इस सॉल्यूशन को नाक और होंठों पर लगाकर रात-भर के लिए छोड़ दें। फिर सुबह ठंडे पानी से इसे धो लें।

विटामिन ई

विटामिन ई में कई तरह के एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं जो स्किन में मौजूद फ्री-रेडिकल्स और डार्क पैचेज को कम करने के लिए बहुत फायदेमंद है। यह स्किन के डैमेज्ड और डेड सेल्स को भी ठीक करने में मदद करता है और स्किन को ग्लोइंग और क्लियर करता है। इसके लिए स्किन और खासकर नाक और होंठों पर जहां झाइयों की समस्या है वहां विटामिन ई को लगाकर रात-भर के लिए छोड़ दें और सुबह उठ कर ठंडे पानी से धो लें।

नींबू का रस

lemon inside

नाक और होंठों के आस-पास होने वाली झाइयों को कम करने के लिए आप हल्दी और नींबू के मास्क को भी लगा सकती है। इसके लिए हल्दी में नींबू के रस को डालें और इन दोनों को अच्छे से मिक्स करके एक अच्छा सा पेस्ट बना लें और इस पेस्ट को झाइयों में लगाएं। जब यह पेस्ट ड्राई हो जाए तो इसे ठंडे पानी से धो लें। त्‍वचा को हाइड्रेट करें झाइयों को कम करने का सबसे अच्छा उपाय अपनी त्‍वचा को हाइड्रेट रखना है। जी हां अगर आपकी त्वचा सही तरीके से हाइड्रेट नहीं है तो समय से पहले झुर्रियां और झाइयों की समस्‍या परेशान करने लगती है। इससे बचने के लिए सुबह-शाम त्वचा को क्रीम से हाइड्रेट करें और साथ ही खूब सारा पानी पिएं।

स्किन केयर रूटीन अपनाएं

झाइयों को कम करने के लिए आप रेगुलर स्किन केयर रूटीन अपनाएं। नियमित रूप से स्किन को एक्सफोलिएट करें जिससे स्किन में मौजूद डेड सेल्स निकल जाएं। एक अच्छे से टोनर और क्लींजर का इस्तेमाल करें।

इसे जरूर पढ़ें:चेहरे की झाइयों का रामबाण इलाज है एलोवेरा, एक्‍सपर्ट से जानें कैसे

Recommended Video

त्‍वचा को अच्‍छी तरह से मॉइश्चराइज करें

expert quote inside

नाक और होंठों के आस-पास की त्‍वचा पर झाइयां के कारण त्‍वचा ड्राई हो जाती है। साथ ही कई बार त्‍वचा के बहुत ज्‍यादा ड्राई होने से भी झाइयों की समस्‍या हो जाती है। इसे कम करने के लिए स्किन को दिन में कम से कम दो बार मॉइश्चराइज करें। यह स्किन को हाइड्रेट करता है। मसाज के लिए आप आलमंड ऑयल का इस्‍तेमाल भी कर सकती हैं।

आप भी नाक और होंठों पर होने वाली झाइयों को दूर करने के लिए एक्‍सपर्ट के बताए इन असरदार टिप्‍स को आजमा सकती हैं। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। ब्‍यूटी से जुड़ी ऐसे ही और आर्टिकल पढ़ने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com