बालों में कलर कराना आजकल ट्रेंड में है, ऐसे में लड़कियां और महिलाएं बालों को कलर कराने के लिए डाई का इस्‍तेमाल करती हैं। लेकिन वह यह नहीं जानती हैं कि केमिकल युक्त डाई के इस्‍तेमाल से बालों को नुकसान होने लगता है। इसके कारण बालों का झड़ना, समय से पहले सफेद होना, ड्रैंडफ, ड्राईनेस आदि जैसी कई समस्‍याएं देखने को मिलती हैं। ऐसे में मन में सवाल आता है कि क्‍या किया जाए? तो हम आपको बता दें कि आप बालों को कलर करने के लिए नेचुरल चीजों का इस्‍तेमाल कर सकती हैं। जी हां, अगर आप भी अपने बालों को एक नेचुरल कलर करना चाहती हैं, तो गुडहल के फूलों का इस्‍तेमाल करें। गुड़हल के फूल बालों को न केवल नेचुरल कलर देते है बल्कि बालों को शाइनी बनाने में मदद करते हैं। इसके अलावा गुड़हल के फूल बालों की ग्रोथ को बढ़ाने के लिए काफी मददगार होते है और बालों से ड्रैंडफ को कम करते हैं। सबसेे अच्‍छी बात नेचुरल हेयर कलर से आपके बालों को कोई नुकसान भी नहीं होता है। गुडहल के फूलों से आप अपने बालों को फूलों जैसा कलर दे सकती हैं। तो देर किस बात की? आइए इसे बनाने, लगाने और फायदों के बारे में विश्व प्रसिद्ध डर्मेटोलॉजिस्ट और एस्थेटिक फिजिशियन, संस्थापक और निदेशक, आईएलएएमईडी (ILAMED) डॉक्‍टर अजय राणा से जानें।

इसे जरूर पढ़ें: गुड़हल के फूल से बने इस पैक से पाएं मजबूत और सिल्की बाल

गुड़हल नेचुरल हेयर कलर की सामग्री

hibiscus flower natural colour inside

  • गुडहल के फूल- 1 या 2 कप
  • पानी- 2 कप 
  • स्प्रे बोतल- 1 
  • कंघा

गुड़हल नेचुरल हेयर कलर को बनाने और लगाने का तरीका

hibiscus flower natural colour inside

  • गुड़हल के फूलों से कलर बनाने के लिए एक पैन में पानी डालकर गर्म करें। 
  • जब पानी गर्म हो जाए तो इसमें फूलों की पत्तियां डालें।
  • ऐसा करने से पत्तियों का सारा कलर पानी में आ जाएगा। 
  • 15 मिनट तक पानी को उबलने दें। फिर गैस से उतार कर पानी को ठंडा होने के लिए रख दें। 
  • जब पानी ठंडा हो जाए, तो इसे छानकर स्प्रे बोतल में डालें। 
  • बालों में नेचुरल कलर करने के लिए सबसे पहले बालों को धोकर सुखा लें। 
  • फिर बालों में स्‍प्रे बोतल की मदद से कलर को स्‍प्रे करें। 
  • कंघे की मदद से कलर को पूरे बालों में फैला दें। 
  • इसे ऐसे ही 1 घंटे तक लगा रहने दें। इसके बाद बालों को ठंड़े पानी से धो लें।

Recommended Video

 

गुड़हल फूलों से बने नेचुरल हेयर कलर के फायदे

hibiscus flower natural colour inside

  • गुड़हल में पॉलीफेनोल गुण होते हैं, इसके अलावा इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण बालों के सफ़ेद होने के साथ-साथ बालों के झड़ने से भी रोकते है।
  • स्कैल्प पर गुड़हल पाउडर का पेस्ट लगाने से थायराइड के कारण होने वाले बालों का झड़ना ठीक हो सकता है।
  • यह बालों की जड़ों को मजबूत करता है और बालों को मजबूत, घना और अधिक सुंदर बनाता है।
  • गुड़हल ब्लड प्रोडक्शन को बढ़ाता है, जिससे सबसे महत्वपूर्ण मिनरल्स हेयर फॉसिल्स के गहराई तक पहुंचते हैं और बालों के सफ़ेद होने को रोकता है।
  • नींबू के रस में मिला हुआ गुड़हल पाउडर एक बेहतरीन हेयर मास्क है जो न केवल आपके बालों को कंडीशन करता है बल्कि डैंड्रफ की स्थिति को प्रभावी रूप से ठीक करने में भी मदद करता है।
  • गुड़हल का तेल स्कैल्प को फिर से जीवंत करता है। हफ्ते में तीन बार इसका इस्तेमाल करने से यह ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और बालों को डीप नॉरिशमेंट भी देता है।
  • गुड़हल फूलों में प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले अमीनो एसिड बालों को पोषण प्रदान करने के साथ बालों के ग्रोथ को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। ये अमीनो एसिड एक विशेष प्रकार के स्ट्रक्चरल प्रोटीन का उत्पादन करते हैं जिसे केराटिन कहा जाता है, जो बिल्डिंग ब्लॉक के रूप में काम करता है।
  • गुड़हल के फूलों और पत्तियों में अधिक मात्रा में श्लेष्मा होता है जो नेचुरल कंडीशनर का काम करता है।

आप भी बालों को कलर करने के लिए केमिकल युक्त प्रोडक्‍ट का नहीं बल्कि गुड़हल के बने नेचुरल हेयर कलर का इस्‍तेमाल करें। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़े रहें।