हेल्‍दी पिंक होंठ किसी भी व्यक्ति के चेहरे को आकर्षक बनाते है। लेकिन हर किसी के होंठ ऐसे नहीं होते हैं। त्वचा की रंगत की तरह, होंठों का कलर हर व्यक्ति के लिए अलग-अलग हो सकता है। कभी-कभी, होंठों के कलर या स्थिति में बदलाव यह संकेत दे सकता है कि होंठों को अधिक देखभाल की आवश्यकता है।

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि होंठों का कालापन क्यों होता है? काले होंठ हाइपरपिग्मेंटेशन या अतिरिक्त मेलेनिन का परिणाम हो सकते हैं। इसके अलावा, इस आर्टिकल के माध्‍यम से हम आपको 5 आदतों के बारे में बता रहे हैं जो आपके होंठों को धीरे-धीरे काला कर सकती हैं।

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by LUXE CLINIQUE (@luxeskinclinique)

लक्स क्लिनीक की एडवांस्ड कोस्मैटोलॉजी एक्सपर्ट और फाउंडर, डॉक्‍टर रितिका ढींगरा जी का कहना है, ''कुछ लोगों के होंठों का कालापन समय के साथ कई तरह के मेडिकल और जीवनशैली कारकों के कारण होता है। होंठों के काले होने के कारणों और उन्हें हल्का करने के कुछ घरेलू उपचारों के बारे में जानने के लिए इस आर्टिकल को पढ़ें।''

इसे जरूर पढ़ें: बदलते मौसम में काले होते और फटते होठों के लिए ये है आसान उपाय

होंठों को मॉइश्चराइजिंग नहीं करना

not moisturising lips

ड्राई और फटे होंठ, होंठों के रंग को खराब कर सकते हैं। होंठों को स्वस्थ रखने के लिए हाइड्रेट करना बहुत जरूरी है। होंठों को पोषण देने के लिए एक अच्छा लिप बाम लगाएं। कोकोआ और शीया बटर आदि जैसी सामग्री की तलाश करें।

हमारी त्वचा में 70% पानी होता है और यह लगातार पानी खो देती है। होंठों की त्वचा सबसे पतली होने के कारण, अधिक पानी खो देती है और अधिक पर्यावरणीय तनाव के अधीन हो जाती है। इस प्रकार, मॉइश्चराइजिंग उन्हें हाइड्रेटेड रखने में मदद करता है और नमी को बनाए रखने के लिए आपकी मदद करता है।

डेड स्किन नहीं हटाना

फटे और ड्राई होंठों से छुटकारा पाने के लिए, आपको डेड स्किन को हटाने और अपने होंठों को हेल्‍दी रखने के लिए नियमित रूप से एक्सफोलिएट करना चाहिए।

जी हां, एक्सफोलिएशन सिर्फ आपके चेहरे और शरीर के लिए ही नहीं बल्कि होंठों के लिए भी जरूरी है। आपके चेहरे की तरह ही होंठों की त्वचा भी हर रोज डेड स्किन सेल्‍स का उत्पादन करती है। 

यह डेड स्किन सेल्‍स का निर्माण गंदगी और प्रोडक्‍ट्स को फंसाता है, जिससे डल और झुर्रियों वाली त्वचा की एक लेयर बन जाती है। इस प्रकार, हमें हर रोज अशुद्धियों की इन लेयर्स को हटा देना चाहिए ताकि नई, फ्रेश सेल्‍स को सतह पर आने दिया जा सके। यह हेल्‍दी और पिंक दिखने वाले होंठों को बढ़ावा देगा।

स्‍मोकिंग करना

smoking habits

होंठों के काले होने का एक कारण स्‍मोकिंग की आदत भी है। तंबाकू के धुएं में निकोटिन और बेंजोपायरीन की मात्रा शरीर को मेलेनिन के उत्पादन के लिए प्रोत्साहित कर सकती है, जिसके कारण होंठ काले हो सकते हैं। ये परिवर्तन धीरे-धीरे समय के साथ और स्‍मोकिंग की आदत की तीव्रता के साथ होते हैं।

डॉक्‍टर रितिका ढींगरा जी के अनुसार, ''एक बार जब आप सिगरेट पीते हैं तो निकोटीन का धुआं और टार होंठों पर ट्रांसफर हो जाता है जो अंततः मलिनकिरण का कारण बनता है।''

Recommended Video


होंठों की कम केयर करना

डॉक्‍टर रितिका ढींगरा जी का कहना है, ''अपने होंठों की उपस्थिति में सुधार करने के लिए आप हर रात बादाम के तेल की मालिश कर सकती हैं। नियमित मालिश से ब्‍लड फलो को बढा़ने में मदद करता है और आपके होंठ हेल्‍दी रहते हैं।''  

जब बात स्किन केयर की आती है, तो हम होंठों की केयर को नजरअंदाज कर देते हैं। मॉइश्चराइजिंग से लेकर एक्सफोलिएशन तक, आपको होंठों को अपने स्किनकेयर रूटीन में भी जरूर शामिल करना चाहिए।

इसे जरूर पढ़ें: ऊपर के होंठों का कालापन दूर करने के आसान घरेलू उपाय जानें

सनब्लॉक से बचना

skipping the sunblock

त्वचा की तरह ही आपके होंठों को भी सनबर्न हो सकता है। इसलिए आपको अपने होठों को कठोर यूवी किरणों से बचाना चाहिए। ऐसा लिप बाम लगाएं जिसमें एसपीएफ 30 हो।  

अंत में, शरीर को अच्छी तरह से हाइड्रेट रखने के लिए पर्याप्त पानी पिएं। 

इन 5 आदतों के कारण होंठों पर कालापन आ सकता है। इसलिए इन आदतों को अपनाने से बचें। इस तरह की और जानकारी के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Image Credit: Freepik & Shutterstock.com