• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

Hanuman Chalisa Chaupai: इन 5 चौपाइयों से दूर होंगी ये 5 बीमारियां

 भगवान हनुमान की ये 5 चौपाइयां आपकी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं। आपको इनका सुबह-शाम 108 बार जाप जरूर करना चाहिए।
author-profile
Published -23 Jul 2019, 12:30 ISTUpdated -23 Jul 2019, 14:27 IST
Next
Article
hanuman chalisa chaupaiyan  benefits

मंगलवार के दिन आप हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए उनकी पूजा अर्चना तो करती ही होंगी साथ ही हनुमान चालीसा का पाठ भी करती होंगी। क्या आपको पता है कि हनुमान चालीसा में दी गई चौपाइयां कितनी लाभकारी हैं। यह आपके रोजमर्रा के जीवन को सुखमय और आनंदमय बनाने में पूर्णत: सक्षम हैं। यदि आप पूरी हनुमान चालीसा पढ़ नहीं पातीं तो आपको कुछ विशेष चौपाइयों का पाठ रोज करना चाहिए। चलिए आज हम आपको हनुमान चालीसा की कुछ ऐसी चौपाइयों के बारे में बताते हैं, जो आपकी सेहत के लिए बहुत ही अच्छी हैं। इसमें हमारी मदद एस्ट्रोलॉजर मिथिलेश पांडे करेंगे। 

इसे जरूर पढ़ें:हनुमान जी पर ‘सिंदूर का चोला’ चढ़ाने के पीछे है ये खास वजह, जानें कैसे तैयार होता है ये चोला

 health benefits of chanting  hanuman chalisa chaupaiyan

बाल प्राप्त करने के लिए चौपाई 

रामदूत अतुलित बलधामा।

अंजनिपुत्र पवनसुत नामा।

यदि आपको शारीरिक कमजोरी है और डॉक्टर की दवाओं से भी आपको आराम नहीं मिल रहा तो यह चौपाई आपकी कमजोरी का रामबाण इलाज है। इस चौपाई का अर्थ है कि हनुमान जी भगवान श्री राम के दूत हैं और उनमें अतुलित बल है। इतना बल जिसकी तुलना ही नहीं की जा सकती है। भगवान हनुमान से शक्तिशली इस ब्रह्मांड में दूसरा और कोई नहीं है। चौपाई की दूसरी लाइन का अर्थ है कि भगवान हनुमान देवी अंजनी के पुत्र हैं और उन्हे पवन देव का पुत्र कहा गया है। उनमें पवन जितना तेज भी है। अगर आपको शारीरिक कमजोरी लगती हैं तो आपको इस चौपाई को दिनभर में 108 बार जपना चाहिए। 

इसे जरूर पढ़ें:हनुमान जी के इस अनोखे मंदिर की रोचक कहानी

ध्यान लगाने और सुबुद्धि के लिए 

महाबीर बिक्रम बजरंगी।

कुमति निवार सुमति के संगी।।

यदि आपके घर में बच्चे हैं तो आपको उन्हें इस पंक्ति को रटने के लिए कहना चाहिए। इससे उनका दिमाग तेज होगा। पढ़ाई में ज्यादा मन लगेगा। साथ ही उनकी किसी भी पाठ को याद करने की शक्ति बढ़गी। इतना ही नहीं अगर उनके मन में कुविचार आते हैं और उनका मन भटकता है तो हनुमा चालीसा की यह चौपाई इसमें भी उनकी मदद करेगी। इस चौपाई का अर्थ है कि बजरंगबली महावीर हैं। वह बुरे विचारों को दूर करते हैं और अच्छे विचारों को मन में लाते हैं। 

hanuman chalisa chaupaiyan health benefits

एकाग्रता के लिए 

भीम रूप धरि असुर संहारे।

रामचंद्रजी के काज संवारे।।

जीवन बहुत छोटा है आपको हर किसी से मित्रता ही करनी चाहिए किसी को शत्रु बनाना उचित बात नहीं। मगर, फिर भी कुछ लोग ऐसे होते हैं जो मन को विचलित करने वाले काम करते हैं और आपकी एकाग्रता को भंग करते हैं। ऐेसे में हनुमान चालीसा की यह चौपाई आपकी एकाग्राता को बनाए रखेगी और इससे आप अपने विचलित मन को शांत रख पाएंगी और अपने शत्रुओं पर विजय प्राप्त कर पाएंगी। इस चौपाई का अर्थ भी यही है। इसमें लिखा है जब भगवान श्री राम और रावण के बीच युद्ध हुआ था तब हनुमान जी ने भीम का रूप धारण किया था। यानि वह अपने विशाल रूप में असुरों का संहार करने के लिए प्रकट हुए थे। अपने इस रूप को धारण करने के बाद उन्होंने श्रीराम को विजय प्राप्त करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया था। (महिलाएं भी कर सकती हैं हनुमान जी की पूजा, ध्‍यान रखें ये 4 बातें)

Recommended Video

गंभीर बीमारी के लिए 

लाय संजीवन लखन जियाये।

श्रीरघुबीर हरषि उर लाये।।

अगर आपको कोई भयंकर रोग हुआ है या आपके घर पर किसी को भयंकर रोग हुआ है तो हनुमान चालीसा की यह चौपाई आप को या आपके घर में जो बीमार है उसे भयंकर रोग से मुक्ति दिलाएगी। यह चौपाई किसी दवा की तरह मरीज पर असर करेगी। हो सकता है कि बीमारी एकदम से ठीक न हो मगर धीरे-धीरे य खत्म हो जाएगी। इस चौपाई का अर्थ भी बहुत संदर है। जब रावण के पुत्र मेघनाथ के वार से लक्ष्मण जी मुर्छित हुए थे तब कोई भी दवा उनकी मुर्छा को तोड़ न सकी थी। तब हनुमान जी हिमालय से संजीवनी बूटी का एक पर्वत ही उठा लाए थे। इन बूटियों से लक्ष्मण जी पहले जैसे स्वस्थ्य हो गए थे। तब भगवान श्री राम हनुमान जी से बहुत प्रसन्न हुए थे। इस चौपाई का 108 बार जाप करने से आपको भी लाभ होगा। (हनुमान चालीसा का पाठ करेंगी तो तनाव रहेगा आपसे कोसों दूर)

किसी भी तरह के दर्द के लिए 

नासे रोग हरे सब पीरा।

जो सुमिरे हनुमंत बलबीरा।।

अगर आपको शरीर के किसी अंग में दर्द है और वह आप बर्दाश्त नहीं कर पा रही हैं तो आपको सुबह शाम 108 बार इस चौपाई को जपना चाहिए। इससे आपके शरीर में जहां भी दर्द हो रहा वह ठीक हो जाता है। इसका अर्थ है कि आपको जो रोग और दर्द है हनुमान जी उसका नाश कर देंगे क्योंकि वह बलवीर हैं। हनुमान चालीसा पढ़ते वक्‍त रखें इन खास नियमों का ध्‍यान

चौपाई के जाप का सही तरीका 

हनुमान जी की चौपाई का पाठ करने का एक सही तरीका है। इस तरह से आप चौपाई का जाप करने से मिलने वाले लाभ को अर्जित कर पाएंगी। इसके लिए आपको कम सके कम 108 बार किसी चौपाई का जाप करना होगा और जाप करने के लिए लिए रुद्राक्ष की माला का उपयोग करना होगा। जाप करने के दौरान आपको हनुमान जी के मंदिर या फिर घर पर ही हनुमान जी की प्रतिमा के आगे बैठना होगा। पहले आप हनुमान जी का पूजन करें। महिलाओं को भगवान हनुमान को बिना स्पर्श किए ही उनकी पूजा करनी होगी। इसके बाद आपको पूरी एकाग्रता के साथ भगवान हनुमान की चौपाइयों का पाठ करना होगा। 

 

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।