• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

चार धाम की यात्रा कैसे करें, जानें पूरा प्रोसेस

अगर आप चार धाम की यात्रा पर जाने का मन बना रहें हैं, तो ध्यान में जरूर रखें ये बातें।
author-profile
Next
Article
char dham yatra basic Information

चार धाम की यात्रा हिंदू धर्म में बेहद पवित्र मानी जाती है। यही वजह है कि श्रद्धालु इस यात्रा का इंतजार बड़ी ही बेसब्री से किया करते हैं। साल 2022 में उत्तराखंड की चार धाम यात्रा मई महीने में शुरू हो गई है। इसी के साथ इस यात्रा में श्रद्धालुओं का जमावड़ा देखने को मिल रहा है। बड़ी संख्या में भक्त इन पवित्र धामों के दर्शन के लिए जा पहुंच रहे हैं। बता दें कि उत्तराखंड की इस चार धाम यात्रा में कुल 4 भव्य तीर्थ स्थान शामिल हैं, जिनमें गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम के दर्शन किए जाते हैं। ये चारों पवित्र धाम उत्तराखंड के गढ़वाल हिमालय में स्थित हैं। यह यात्रा परंपरागत रूप से पश्चिम से पूर्व की और की जाती है। ऐसे में हमारी यात्रा यमुनोत्री से शुरू होते हुए बद्रीनाथ पर जाकर खत्म होती है। 

हर साल यात्रा की शुरुआत से पहले ही सरकार द्वारा बहुत सी तैयारियां कि जाती हैं। आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि उत्तराखंड की चार धाम की यात्रा आसानी से कैसे की जा सकती है। तो देर किस बात की आइए जानते हैं उत्तराखंड की चार धाम यात्रा से जुड़ी जरूरी जानकारियों के बारे में- 

यात्रा से पहले करना होता है पंजीकरण-

char dham yatra

आपकी सुविधाजनक चार धाम की यात्रा दिल्ली, हरिद्वार, ऋषिकेश या देहरादून से शुरू की जा सकती है। यात्रा की शुरुआत में ही आपको बायोमेट्रिक पंजीकरण कराना अनिवार्य होता है। इसके लिए आपको  देहरादून स्मार्ट सिटी पोर्टल पर जाना होता है और दी गई सभी जानकारियों को फिल करना पड़ता है।

लेकिन अगर आप उत्तराखंड के स्थायी निवासी है तो आपके लिए पंजीकरण करवाना आवश्यक नहीं है, यह केवल बाहरी यात्रियों के लिए होता है। 

सड़क मार्ग की चार धाम यात्रा- 

char dham yatra tips

सड़क मार्ग के जरिए आप चार धाम यात्रा की शुरुआत हरिद्वार, दिल्ली या देहरादून से कर सकते हैं। हरिद्वार रेलवे स्टेशन इन पवित्र स्थानों के सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन है। हरिद्वार सड़क और रेल नेटवर्क के माध्यम से दिल्ली और अन्य प्रमुख शहरों से जुड़ा है। इतना ही नहीं आप को यहां से यमुनोत्री के लिए बसें भी मिल जाएंगी। 

चार धाम का सड़क मार्ग- 

सड़क मार्ग के जरिए हरिद्वार, ऋषिकेश, बरकोट, जानकी चट्टी, यमुनोत्री, उत्तरकाशी, हरसिल, गंगोत्री, घनसाली, अगस्तमुनि, गोविन्द घाट और बद्रीनाथ है।

इसे भी पढ़ें- सिर्फ 25 हजार में घूम आएं श्रीलंका, ऐसे बनाएं अपना बजट

हेलीकॉप्टर द्वारा ऐसे करें चार धाम यात्रा- 

char dham yatra Information

आप चाहें तो हेलीकॉप्टर की मदद से भी चार धाम की यात्रा पर जा सकते हैं। इसके लिए आपको सहस्त्रधारा हेलीपैड पर पहुंचना होगा, हेलीकॉप्टर सेवा देहरादून से खरसाली तक है, जो कि यमुनोत्री मंदिर से करीब 6 किलोमीटर दूर है। इसके बाद हरसिल हेलीपैड से गंगोत्री मंदिर तक हेलीकॉप्टर की यात्रा की जा सकती हैं। इसके साथ ही बद्रीनाथ और केदारनाथ धाम के हेलीपैड भी मंदिर के पास स्थित हैं। 

चार धाम के लिए हेलीकॉप्टर मार्ग-

हेलीकॉप्टर की मदद से चार धाम की यात्रा की शुरुआत देहरादून से होती है। इसके बाद देहरादून, यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ धाम और बद्रीनाथ पर हेलीकॉप्टर की सुविधा दी गई है। 

इसे भी पढ़ें- ट्रैवलिंग के दौरान फ्रॉड से बचने के लिए फॉलो करें ये टिप्स

चार धाम पर जाने का बेस्ट समय- 

char dham yatra packages

चार धाम की यात्रा पर जाने के लिए सबसे अच्छा समय अप्रैल से जून और सितंबर से अक्टूबर के बीच का माना जाता है। इन महीनों में यहां का मौसम बेहद सुहाना और आरामदायक होता है। इसके अलावा मानसून के महीने में यहां यात्रा करने से बचने की हिदायत दी जाती है, इतना ही नहीं सर्दियों के मौसम में बर्फ के कारण केदारनाथ की मूर्तियां उखीमठ के ओंकारेश्वर मंदिर और बद्रीनाथ की मूर्तियां जोशीमठ में रखी जाती हैं।

यात्रा के दौरान अपने साथ ले जाएं ये जरूरी चीजें- 

  • ऐसी ठंडी जगहों पर सर्दी, खांसी और बुखार का खतरा बहुत ज्यादा होता है। ऐसे में अपने साथ दवाओं की किट जरूर ले जाएं। 
  • इसके अलावा बैंड- एड्स और एंटीसेप्टिक मरहम भी ले जाना चाहिए। 
  • सनबर्न से बचने के लिए आपको सनस्क्रीन और टोपी जैसी चीजें भी साथ लेकर जाना चाहिए। 
  • विंडचीटर जैकेट, रेनकोट और बारिश से बचने के लिए आपको छाता भी लेकर जाना चाहिए। 
  • वाटर प्रूफ जूते और वाटरप्रूफ बैग लेकर जरूर जाना चाहिए।

तो ये थी उत्तराखंड की चार धाम यात्रा से जुड़ी सभी जानकारियां। आपको हमारा यह आर्टिकल अगर पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हर जिंदगी के साथ। 

image credit- uttrakhand tourism

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।