• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

आखिर मां क्यों नहीं देखती है अपने ही बेटे के फेरे? पुराने जमाने में इस वजह से बना था ये अजीब नियम

क्या आपने कभी सोचा है कि मां अपने बेटे की शादी में क्यों नहीं जाती है? चलिए एक्सपर्ट से जानते हैं इस सवाल का जवाब।
author-profile
  • Hema Pant
  • Editorial
Published -26 Apr 2022, 19:10 ISTUpdated -27 Apr 2022, 13:06 IST
Next
Article
why mothers do not attend sons marriage in hindu dharam

हिंदू धर्म में 4 महत्वपूर्ण संस्कार होते हैं, जिसमें से एक शादी है। शादी हिंदू धर्म के सबसे पवित्र रिवाज में से एक है। हिंदू धर्म में शादियों का बेहद खास महत्व होता है। शादी के दौरान कई रीति-रिवाज निभाए जाते हैं, जैसे कन्यादान, सात फेरे और गृह प्रवेश आदि। इन सभी रस्मों बेहद खास महत्व होता है। इन्ही रीति-रिवाजों को पूरा कर शादी सपंन्न मानी जाती है। 

शादियां केवल दो लोगों का ही नहीं बल्कि दो परिवारों का मिलन होता है। इसलिए सात जन्म के इस खास रिश्ते से कई प्रथाएं जुड़ी होती हैं। शादी में घर के सभी सदस्य शामिल होते हैं। लेकिन क्या आपने कभी इस बात पर ध्यान दिया है कि बेटे की शादी में मां शामिल नहीं होती है। अर्थात मां अपने बेटे के फेरे नहीं देखती हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ऐसा क्यों किया जाता है? ऐसा करने के पीछे कारण क्या है? क्यों एक मां ही अपने बेटे की शादी में नहीं जाती है?  एक मां के लिए अपने बेटे की शादी बेहद खास होती है, लेकिन फिर भी वह इस खास दिन का हिस्सा नहीं बन पाती है।

mothers do not attend sons marriage why

इस सवाल का जवाब पाने के लिए हमनें जानी मानी एस्ट्रोलॉजर नंदिता पांडे से बात की है। उन्होनें हमें बताया कि यह परंपरा सदियों से नहीं चली आ रही है। इस प्रथा की शुरुआत मुगल शासन के दौरान हुई थी। आइए जानते हैं क्यों मां अपने बेटे की बारात में नहीं जाती है, क्यों वह अपने ही बेटे के फेरे नहीं देखती है?

मुगल काल से चली आ रही है परंपरा

indian marriage rituals

बता दें कि पहले के समय में मां अपने बेटे की शादी में जाती थी। लेकिन जब भारत में मुगलों का आगमन हुआ इसी के बाद से मां अपने बेटे के फेरे नहीं देखती हैं। मुगल शासन के दौरान जब महिलाएं बारात में जाती थी तो पीछे से कई बार डकैती और चोरी हो जाती थी। जिसके बाद से घर की रखवाली के लिए महिलाओं ने घर पर रहना शुरू कर दिया है। इसके साथ ही शादी के दिन रात में सभी महिलाएं मिलकर मनोरंजन के लिए गीत गाती थीं। 

घर की देखभाल के लिए रूकती थी मां 

बता दें कि बेटे की शादी में मां का शामिल न होने का कारण घर की देखभाल करना होता था। क्योंकि घर के सभी लोग शादी में चले जाते थे। पीछे से घर की देखभाल और मेहमानों की जरूरतों का ध्यान रखने के लिए मां घर पर ही रूक जाती थी।

गृह प्रवेश भी है एक कारण 

hindu customs

शादी संपन्न होने के बाद जब दुल्हन सुबह अपने ससुराल पहुंचती है, तो गृह प्रवेश किया जाता है। इस दौरान दुल्हन की पूजा की जाती है और कलश में द्वार पर चावल रखे जाते हैं। इस कलश को दुल्हन सीधे पैर से गिराती है। इसके बाद दुल्हनों के हाथ पर हल्दी या आलता लगाया जाता है। जिसके बाद दीवार पर हाथ के थापे लगाए जाते हैं। इसी रस्म को गृह प्रवेश कहा जाता है। इसी रस्म की तैयारी करने के लिए मां घर पर ही रूक जाती है। (चावल फेंकने की रस्म क्यों होती है?)

इसे भी पढ़ें: क्यों शादी के बाद महिलाओं के लिए पायल पहनना होता है अनिवार्य, जानें इसका महत्व

पहले दिन में होती थी शादियां

एक्सपर्ट के अनुसार हिंदू धर्म में पहले दिन के समय में शादियां दिन में होती थी। उदाहरण के लिए माता सीता और श्रीराम जी का विवाह दिन के दौरान ही हुआ था। लेकिन मुगलों के आने के बाद से रात में शादी करने का चलन शुरू हुआ। (मेहंदी की रस्म क्यों की जाती है)

इसे भी पढ़ें: जानें हिंदू धर्म में महिलाएं नाक में क्यों पहनती हैं नथ, बेहद खास है वजह

जानें कहां-कहां आज भी प्रचलित है ये प्रथा?

hindu marriage rituals around india

भारत में उत्तराखंड, बिहार और राजस्थान साइड की महिलाएं अपने बेटे के फेरे नहीं देखती हैं। हालांकि, समय के साथ-साथ लोगों की सोच में बदलाव आया है। आजकल मां अपने बेटे की शादी में जाती हैं। (शादीशुदा महिलाएं पैर की उंगलियों में बिछिया क्यों पहनती हैं?)

 

उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।

Image Credit: freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।