• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile
  • Shilpa
  • Editorial

इस जनजाति की महिलाएं जीवन में नहाती हैं सिर्फ एक बार, जानें उनकी फ्रेशनेस का राज

आज भी ऐसी कई जनजाति हैं जो अपनी हजारों सालों की परंपरा को लेकर चल रही हैं। 
author-profile
  • Shilpa
  • Editorial
Published -15 Jun 2022, 18:21 ISTUpdated -15 Jun 2022, 19:02 IST
Next
Article
What Is The Himba Tribe known For big

विश्व में ऐसी कई आदिवासी जनजातियां हैं। जिनकी परपंरा बेहद अलग होती है। जिसके बारे में सुनकर हर कोई हैरान हो जाता है। आज के समय में जहां लोगों ने अपनी परंपराओं और रीति-रिवाजों को भूल मॉडर्न लाइफस्टाइल को अपना लिया है। लेकिन आज भी ऐसी कई जनजाति हैं जो अपनी पंरपराओं को लेकर चलते हैं। आज हम इस लेख में आपको ऐसी जनजाति के बारे में बताएंगे जहां महिलाएं जीवन में केवल एक बार नहाती है। जी हां आप भी हैरान हो गए ना। आइए जानते हैं हिंबा जनजाति के बारे में कुछ ऐसी मान्यताओं के बारे में जो आपको हैरान कर देंगी। 

कौन है हिंबा जनजाति?

why himba tribe women never take bath ()

हिंबा जनजाति के लोग अफ्रीका के रेगिस्तान में रहते हैं। वह अपने आपको बाहरी दुनिया से एकदम अलग रखते हैं। इस जनजाति के लोग जीवनयापन के लिए गाय, भेड़ और बकरी पालते हैं। शादी और किसी बड़े समारोह में यह लोग मीट खाना पसंद करते हैं। 

एक बार ही नहाती हैं महिलाएं

ऐसा कहा जाता है कि इस जनजाती की महिलाएं जीवन में केवल एक बार ही नहाती है। यह सुनकर आप जरूर हैरान हो गएं होंगे। हिंबा जनजाती में महिलाएं केवल एक बार ही नहाती हैं वो भी अपनी शादी के दिन। इसके अलावा महिलाओं को कपड़े भी नहीं धो सकती हैं। आपके दिमाग भी सवाल आ रहा है को भला जीवन भर बिना नहाएं ये लोग फ्रेश कैसे रहते होंगे। गर्मियों के मौसम में एक दिन भी न नहाओं तो शरीर से बदबू आने लगती हैं। 

आपको बता दें कि इस जनजाती की महिलाएं खुद को साफ रखने के लिए जड़ी-बूटियों का उपयोग करती हैं। दरअसल महिलाएं पानी में जड़ी बूटियों को उबालकर इसके भाप के द्वारा खुद को साफ करती हैं। इस वजह से उनके शरीर से बदबू नहीं आती है। (भारत के आदिवासी डिशेज)

सनर्बन से बचने के लिए अपनाती हैं ये उपाय 

why himba tribe women never take bath

इस जनजाति की महिलाएं शरीर को सनर्बन से बचाने के लिए खास तरह का लोशन लगाती हैं। यह लोशन लोहे जैसा खनिज तत्व और जानवरों की चर्बी के साथ बनाया जाता है। इसके अलावा इस लोशन में हेमाटाइट का उपयोग किया जाता है। हेमाटाइट की धूल की वजह से उनकी स्किन का रंग लाल हो जाता है। यह लोशन उन्हें न केवल तेज धूप बल्कि कीड़ों से भी बचाता है। ( भारत की जनजाति)

इसे जरूर पढ़ेंः  जानें भारत के अलग-अलग जनजातियों में लिव-इन रिलेशनशिप की अजीबो-गरीब परंपरा

हिंबा महिलाओं का हेयरस्टाइल 

इस जनजाति की महिलाओं का हेयरस्टाइल काफी अलग होता है। वहीं पुरुष केवल सिर पर एक चोटी बनाकर रखते हैं।  

 इसे जरूर पढ़ेंः राजस्‍थान की गरासिया जनजाति है कुछ खास ,जहां लिव-इन रिलेशन में रहते हैं लोग और बच्‍चे होने पर करते हैं शादी

महिलाओं का कामकाज 

इस जनजाति की महिलाएं पुरुषों की तुलना में अधिक मेहनत करती हैं। घर के लिए पानी लाना गायों का दूध निकलना और गाय के लिए चारा लाने का काम करती हैं। 

उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।  

Image Credit: shutterstock

 
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।