• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile
  • Hema Pant
  • Editorial, 31 Mar 2022, 16:51 IST

बिहार और झारखंड में दुल्हन को लाल के बजाय क्यों लगाया जाता है नारंगी सिंदूर?

सिंदूर सुहाग की निशानी के साथ-साथ महिलाओं के लिए कई तरह से फायदेमंद माना जाता है। यही कारण है कि शादीशुदा महिलाएं हमेशा सिंदूर लगाती हैं। 
author-profile
  • Hema Pant
  • Editorial, 31 Mar 2022, 16:51 IST
Next
Article
narangi sindoor significance

शादीशुदा महिलाओं को आपने सिंदूर लगाते हुए जरूर देखा होगा। सिंदूर सोलह श्रृंगार का हिस्सा है। सिंदूर का महाभारत से लेकर रामायण तक में जिक्र किया गया है। यही कारण है कि हिंदू धर्म में महिलाओं के लिए सिंदूर लगाना जरूरी होता है। सिंदूर लाल, गुलाबी, नारंगी रंग का होता है। इन रंगो को दुल्हन के लिए शुभ माना जाता है। महिलाओं के सिंदूर लगाने के कई कारण छिपे हैं। आपने भी कई महिलाओं को लाल के बजाय नारंगी सिंदूर लगाते हुए जरूर देखा होगा। लेकिन क्या आपने सोचा है कि केवल कुछ ही क्षेत्रों में महिलाएं नारंगी सिंदूर क्यों लगाती हैं? ज्यादातर बिहार और झारखंड की महिलाएं नारंगी सिंदूर से अपनी मांग भरती हैं। तो चलिए जानते हैं नारंगी सिंदूर का महत्व। 

बिहार और झारखंड में नारंगी सिंदूर लगाने का चलन

narangi sindoor significance ()

बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में दुल्हन को लाल के बजाय नारंगी सिंदूर लगाया जाता है। नारंगी सिंदूर को भखरा कहा जाता है। नारंगी सिंदूर को बेहद शुभ माना जाता है। केवल महिलाएं ही नहीं देवी-देवताओं को प्रसन्न करने के लिए भी नारंगी सिंदूर का ही इस्तेमाल किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि नारंगी सिंदूर को केवल भगवान को ही चढ़ाया जाता है। 

पौराणिक काल से है संबंध

hanuman ji

पौराणिक कथाओं में भी नारंगी सिंदूर का जिक्र किया गया है। यही कारण है कि लोगों के बीच नारंगी सिंदूर की मान्यता ज्यादा है। इसलिए भी नारंगी सिंदूर को शुभ माना जाता है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि हनुमान जी की मूर्ति का रंग नारंगी क्यों होती है? इसके साक्ष्य सीधे रामायण में मिलते हैं। रामायण में जब सीता माता राम जी को सिंदूर  लगाती है तो वह बेहद खुश हो जाते थे। 

जब यह बात हनुमान जी को पता चली तो उन्होनें राम जी के प्रति अपना समर्पण जाहिर करने के लिए अपने पूरे शरीर को नारंगी सिंदूर से रंग लिया था। यही कारण है कि बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में शादी के दिन दुल्हन को नारंगी सिंदूर लगाया जाता है। नारंगी सिंदूर पति-पत्नी के समर्पण का प्रतीक है। 

दुल्हन को क्यों लगाया जाता है नारंगी सिंदूर?

शादी में दुल्हन को सिंदूर सुबह के समय में लगाया जाता है। नारंगी सिंदूर की तुलना सुबह होने के समय सूर्य की लालिमा से की जाती है, जिसका रंग नांरगी होता है। माना जाता है कि बिहार और झारखंड में नारंगी सिंदूर लगाने की पीछे मान्यता है कि जिस तरह सूरज लोगों की जिंदगी में नया सवेरा , खुशहाली और उमंग लाता है, उसी तरह माना जाता है कि नारंगी सिंदूर भी दुल्हन की जिंदगी में खुशहाली लाता है। यही कारण है कि सात फेरे और सिंदूर की रस्म  सुबह के समय में की जाती है।

इसे भी पढ़े: शादीशुदा महिलाएं पैर की उंगलियों में बिछिया क्यों पहनती हैं? जानें एक्सपर्ट से

सोलह श्रृंगार का है हिस्सा

सिंदूर हर विवाहित महिला के सोलह श्रृंगार का हिस्सा है। यही कारण है कि केवल शादीशुदा महिलाएं ही सिंदूर लगाती हैं। सिंदूर लगाने से न केवल महिलाओं की खूबसूरती बढ़ती है बल्कि इससे कई स्वास्थ्य लाभ भी मिलते हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार सिर दर्द और नींद न आने जैसी समस्याओं से बचने के लिए महिलाओं को सिंदूर लगाना चाहिए। (हिंदू धर्म में नथ का महत्व)

इसे भी पढ़ें: जानें भारत के अलग-अलग राज्यों में पीरियड्स से जुड़े रीति-रिवाज

नाक तक क्यों लगाती हैं महिलाएं सिंदूर?

narani sindoor importance

आपने अक्सर यह देखा होगा कि बिहार और झारखंड की महिलाएं नाक तक सिंदूर लगाती हैं। इसके पीछे कई मान्यताएं जुड़ी हुई हैं। नाक तक लंबा सिंदूर लगाने से पति की लंबी आयु होती है। आयु लंबी होने के साथ-साथ लंबा सिंदूर पति की सफलता का भी प्रतीक है। माना जाता है कि नाक तक सिंदूर लगाने से पति की  कार्य क्षेत्र में तरक्की होती है। केवल बिहार और झारखंड में ही नहीं उत्तराखंड में भी महिलाएं लंबा सिंदूर लगाती हैं। (चावल फेंकने की रस्म का महत्व)

मां पार्वती से है संबंध

कथाओं के अनुसार सिंदूर का नाक तक लगाने का संबंध मां पार्वती से है। जब मां पार्वती ने रक्तबीज राक्षस को मारा था तब उनका सिंदूर नाक तक फैल गया था। इसी वजह से हिंदू धर्म में महिलाएं नाक तक लंबा सिंदूर लगाती हैं। 

उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।

Image Credit: Freepik.Com & Shutterstock.Com

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।