• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

जानिए कौन हैं आईएएस दीपक रावत जिनके यूट्यूब पर हैं 4 मिलियन सब्सक्राइबर

 Deepak rawat Ias story in hindi:इस लेख में हम आपको आईएएस अधिकारी दीपक रावत की सक्सेस स्टोरी बताएंगे।
author-profile
Published -25 Aug 2022, 17:56 ISTUpdated -27 Aug 2022, 13:33 IST
Next
Article
who is deepak rawat

हर छात्र अपने जीवन में सफलता पाना चाहता है लेकिन कुछ ही छात्र परिश्रम के धक्के खाकर और कड़ी मेहनत करके सफलता को प्राप्त कर पाते हैं। इसी राह पर चलकर उत्तराखंड के दीपक रावत ने अपने आईएएस अधिकारी बनने का रास्ता बनाया और अपनी मेहनत से सपना पूरा किया। इस लेख में हम आपको आईएएस अधिकारी दीपक रावत की सक्सेस स्टोरी बताएंगे।

 

कैसा रहा आईएएस दीपक का बचपन?

Ias deepak rawat

24 सितंबर साल 1977 को दीपक रावत का जन्म उत्तराखंड के मसूरी के बरलोगंज में हुआ। आपको बता दें कि दीपक अपने बचपन के समय पढ़ाई में कमजोर हुआ करते थे। बचपन में उन्हें पढ़ाई में ज्यादा रुचि नहीं रहती थी। उन्होंने सेंट जॉर्ज कॉलेज, मसूरी में अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की है। 

दीपक ने कहां से पूरी करी पढ़ाई?

deepak rawat

कक्षा 11वीं और 12वीं के समय ज्यादातर छात्र डॉक्टर या इंजीनियर बनने का सपना देखते हैं और उस हिसाब से अपनी तैयारी करते हैं। पर आपको यह जानकर विश्वास नहीं होगा कि दीपक को स्कूल के समय से ही खाली डिब्बे, खाली टूथपेस्ट के ट्यूब आदि जैसी चीजों में रूचि थी।

दीपक ने खुद एक इंटरव्यू में बताया था कि वह अगर यूपीएससी परीक्षा को क्लियर नहीं कर पाते तो वह खुद एक कबाड़ीवाला बनते इससे उन्हें कई तरह की चीजें तलाशने का मौका मिलता। दीपक का ऐसा मानना है कि मेहनत और लगन से सफलता पाई जा सकती है।  

इसे जरूर पढ़ें: मिलिए UPSC एग्जाम में परचम लहराने वाली टॉप 10 महिला रैंकर्स से

दीपक कैसे बने आईएएस अधिकारी?

deepak rawat success story

दीपक ने दिल्ली विश्वविद्यालय के हंसराज कॉलेज से ग्रेजुएशन कंप्लीट किया है। उसके बाद जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय से दीपक ने एमफिल भी किया। साल 2005 में जेएनयू से एमफिल करने के बाद दीपक का सेलेक्शन जेआरएफ के लिए हुआ और 8000 रुपये महीने मिलने लगे थे। इस दौरान दीपक के पिता ने उन्हें पॉकेट मनी भी देना बंद कर दिया था।

आपको बता दें कि अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई के दौरान ही उन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी थी। लेकिन यूपीएससी के पहले और दूसरे प्रयास में दीपक इस परीक्षा में सफल नहीं हो पाए। पर फिर भी इसके बावजूद उन्होंने हार नहीं मानी। उन्होंने तीसरी बार फिर से प्रयास किया और वह उस प्रयास में सफल हो गए। साल 2007 में दीपक रावत ने यूपीएससी परीक्षा को क्लियर कर लिया था।

इसे जरूर पढ़ें: जुनियर पुलिस ऑफिसर के तौर पर पिता देता है IPS बेटी को सलामी

यूट्यूब पर हैं 4 मिलियन सब्सक्राइबर

आईएएस अधिकारी दीपक रावत के 4 मिलियन से अधिक यूट्यूब पर सब्सक्राइबर हैं।  यही नहीं उनके सोशल मीडिया पर भी कई फॉलोवर हैं जो उनकी पोस्ट पर खूब प्रतिक्रिया देते हैं। यही नहीं उनके ट्विटर पर भी कई फॉलोवर हैं। 

तो यह थी आईएएस अधिकारी दीपक रावत की सक्सेस स्टोरी। अगर आपको यह सक्सेस स्टेरी पसंद आई हो तो हमें जरूर बताएं।

 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकीअपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।   

 

Image credit- ias deepak rawat instagram

 

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।