अगर आप वॉट्सएप का इस्तेमाल करते हैं तो कुछ दिनों से शायद आप ये देख रहे हों कि इसकी प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर बहुत विवाद चल रहा है। हो सकता है आपके पास वॉट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट होने का मैसेज आया हो, लेकिन आपने इसे बिना सोचे समझे ओके कर दिया हो। वॉट्सएप मैसेज के हिसाब से यूजर्स को अगर अपना अकाउंट लाइव रखना है तो आपको इस प्राइवेसी पॉलिसी को अपडेट करना ही होगा बिना उसके आपका काम नहीं चलेगा। आपको नोटिफिकेशन में नई टर्म्स एंड कंडीशन्स दी गई होंगी और ये एंड्रॉयड और आईओएस और विंडोज सभी यूजर्स के लिए है।

इस नई पॉलिसी को एक्सेप्ट करने के लिए यूजर्स के पास 8 फरवरी तक का समय है और अगर लोगों ने तब तक इसे एक्सेप्ट नहीं किया तो हो सकता है कि उनका अकाउंट डिलीट हो जाए। अब इस प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर उपभोक्ताओं का ये कहना है कि इससे बहुत सारी समस्याएं हो सकती हैं। लोगों को लग रहा है कि इस प्राइवेसी पॉलिसी के कारण उनका निजी डेटा इंटरनेट पर चला जाएगा। महिलाओं को लग रहा है कि उनकी तस्वीरें आदि भी शेयर हो सकती हैं। पर असल में ये है क्या इसके बारे में आपको पता होना चाहिए।

अब आपके दिमाग में ये सवाल आ रहा होगा कि आखिर इस प्राइवेसी पॉलिसी के बाद इतना विवाद हो रहा है और वो कौन सी शर्तें हैं जिन्हें आपको फॉलो करना ही पड़ेगा।

कुछ खास सवाल जो अभी वॉट्सएप को लेकर पूछे जा रहे हैं-

सबसे जरूरी सवाल वो हैं जो अभी वॉट्सएप को लेकर पूछे जा रहे हैं जिनके चलते वॉट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी को लोग एक्सेप्ट नहीं कर रहे हैं।

1. क्या है वॉट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी में?

2. इस प्राइवेसी पॉलिसी से दिक्कत क्या है?

3. वॉट्सएप ने अपनी सफाई में क्या कहा है?

4. एक्सपर्ट्स की इस पॉलिसी को लेकर राय क्या है?

5. क्या मेरे पर्सनल मैसेज, चैट, फोटो वीडियो आदि खतरे में हैं?

6. क्या महिलाओं पर कुछ अलग असर पड़ेगा?

7. वॉट्सएप नहीं तो और कौन से एप्स का कर सकते हैं इस्तेमाल?

इन सभी सवालों के जवाब हम आज आपको देने की कोशिश कर रहे हैं।

इसे जरूर पढ़ें- Whatsapp पर ऐसे दिख सकते हैं ऑफलाइन, जानें आपके काम की टिप्स

क्या है वॉट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी में?

वॉट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी का सार ये है कि अब वॉट्सएप यूजर्स का आईपी ऐड्रेस कंपनी के सर्वर से फेसबुक, इंस्टाग्राम या किसी अन्य थर्ड पार्टी एप तक पहुंच सकता है। सीधी सी बात ये है कि गूगल की तरह अब वॉट्सएप या कोई भी अन्य एप जो वॉट्सएप से जुड़ा हुआ है वो आपके इंटरनेट ऐड्रेस के बारे में पता लगा सकता है। वॉट्सएप आपके फोन से आपके सिग्नल, बैटरी, इंटरनेट प्रोवाइडर आदि सब कुछ ले सकता है और ये किसी अन्य एप को भी दे सकता है। हालांकि, यहां पर भी पर्सनल मैसेज शेयर करने की बात नहीं कही गई है। वॉट्सएप के पर्सनल FAQ पेज पर ये लिखा गया है कि ' whether you communicate with a business by phone, email, or WhatsApp, it can see what you’re saying and may use that information for its own marketing purposes, which may include advertising on Facebook'

(अगर आप किसी बिजनेस (वॉट्सएप बिजनेस अकाउंट) से फोन, ईमेल या वॉट्सएप के जरिए कनेक्ट करते हैं तब वॉट्सएप ये देख सकता है कि आप क्या कह रहे हैं और इसे अपने मार्केटिंक पर्पस के लिए इस्तेमाल कर सकता है जिसमें फेसबुक एडवर्टाइजिंग शामिल है।)

इसके बारे में ज्यादा जानकारी आपको यहां मिलेगी 

इस प्राइवेसी पॉलिसी से दिक्कत क्या है? 

इस प्राइवेसी पॉलिसी से दिक्कत सबसे बड़ी ये है कि आपकी निजता थोड़ी खतरे में है। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि वॉट्सएप को पहले से ही हमारे फोन की तस्वीरें, वीडियो, ऑडियो, कॉल आदि को इस्तेमाल करने की परमीशन हमने दे रखी है उस हिसाब से किसी और एप के साथ ये शेयर करना थोड़ा रिस्की लगता है। अब लोगों का डर ये है कि कहीं उनके पर्सनल चैट, मीडिया, ऑडियो, वीडियो, कॉल हिस्ट्री या अन्य सभी निजी डेटा किसी थर्ड पार्टी एप तक न पहुंच जाए। महिलाओं के लिए ये डर और भी बड़ा है क्योंकि उनकी निजी तस्वीरें वायरल हो सकती हैं जो आगे चलकर बहुत बड़ी समस्या बन सकती है। 

वॉट्सएप ने इसके लिए जारी की है सफाई- 

अगर आपको लगता है कि वॉट्सएप ने इसे लेकर कुछ नहीं किया है तो आप गलत हैं। पहले वॉट्सएप के हेड Will Cathcart ने इसके बारे में जानकारी दी थी और अब वॉट्सएप के आधिकारिक अकाउंट से इस जानकारी को लेकर ट्वीट किया गया है जिसमें लिखा है कि वॉट्सएप आपके प्राइवेट चैट या फिर मैसेज नहीं पढ़ सकता है और न ही वो किसी के साथ शेयर कर सकता है। न ही लोकेशन और न ही तस्वीरें आदि किसी अन्य एप को दी जा सकती है। ये पॉलिसी प्राइवेट चैट, मैसेज, ग्रुप्स आदि पर असर नहीं करेगी बल्कि ये बिजनेस ग्रुप्स पर असर डालेगी। 

प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर क्या कहते हैं एक्सपर्ट? 

वॉट्सएप प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर बहुत सारे लोग अभी भी कन्फ्यूज हैं और ऐसे में हमने एक एक्सपर्ट से इसे लेकर बात करने की कोशिश की। महेश टेलिकॉम बिजनेस पार्टनर और स्मार्टफोन रिव्यूअर मनीष खत्री लंबे समय से टेक ऐप्स, स्मार्टफोन्स और गैजेट्स के साथ डील कर रहे हैं। मनीष कई पत्रिकाओं और न्यूज पोर्टल्स के साथ डील करते हैं और उन्होंने वॉट्सएप पर अपना बिजनेस अकाउंट भी खोल रखा है। मनीष ने इस बारे में डिटेल में बात की कि वॉट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी का उनपर क्या असर पड़ेगा। 

whatsapp manish khatri

उनके मुताबिक, 'अभी भी इस पॉलिसी को लेकर बहुत ज्यादा कन्फ्यूजन है जैसे कि क्या ये सिर्फ कॉर्पोरेट बिजनेस अकाउंट्स के लिए है जैसे ICICI, MakeMyTrip, Nykaa जैसी कंपनियां अपना वॉट्सएप पर बिजनेस अकाउंट चलाती हैं। या फिर छोटे बिजनेस और नॉर्मल ओनर्स के लिए भी हैं। अगर ये सिर्फ कॉर्पोरेट के लिए है तो वो यूजर्स जिनके पास इन अकाउंट्स से मैसेज आते हैं या इन अकाउंट्स के जरिए कोई ईकॉमर्स शॉपिंग आदि होती है उनपर असर पड़ेगा। अगर ये सभी के लिए है तो इसका असर नॉर्मल बिजनेस अकाउंट पर भी होगा। उदाहरण के तौर पर अगर कोई मुझसे किसी स्मार्टफोन के बारे में पूछता है या रिव्यू करता है तो उसे फेसबुक पर तुरंत ऐसे ऐड्स दिखने लगेंगे जो उस स्मार्टफोन से जुड़े हुए हैं। ध्यान रहे कि वॉट्सएप पर्सनल चैट नहीं पढ़ेगा बल्कि ये बिजनेस अकाउंट्स के लिए है। पर फिर भी कुछ हद तक प्राइवेसी का रिस्क हो सकता है क्योंकि एक बिजनेस अकाउंट से उसका पर्सनल वॉट्सएप/ फेसबुक अकाउंट इफेक्टेड होगा।' 

'हालांकि, ये साफ है कि पर्सनल लेवल पर इसका कोई असर नहीं होगा। पर एंड टू एंड इन्क्रिप्शन अभी भी है इसका मतलब आपके पर्सनल चैट्स, मैसेजेस आदि सब कुछ सेफ है।'

 whataspp location and details

मनीष खत्री ने हमारे साथ वॉट्सएप बिजनेस अकाउंट के कुछ स्क्रीन शॉट्स भी शेयर किए जिसमें साफ देखा जा सकता है कि अभी भी उनके बिजनेस अकाउंट में एंड टू एंड इन्क्रिप्शन लागू है जिसमें पर्सनल चैट्स न पढ़ने की बात साफ थी। मनीष का कहना है कि अभी भी ये साफ नहीं है कि वॉट्सएप इस डेटा का इस्तेमाल कैसे करेगा, लेकिन इस बात के लिए निश्चिंत हो जाना चाहिए कि इसका असर साफ तौर पर बिजनेस अकाउंट्स पर ही पड़ेगा। 

इसे जरूर पढ़ें- Whatsapp पर पढ़े जा सकते हैं डिलीट किए हुए मैसेज, आजमाएं ये तरीका 

प्राइवेसी को लेकर मिथकों पर न करें यकीन- 

हमने टेक गुरू और हाईटेक ज्यूरी मेंबर अभिषेक तैलंग से भी इस विषय में बात की और उन्होंने अपना पक्ष साफ करते हुए इस बारे में कहा कि यहां लोगों को कुछ मिथकों पर यकीन करना बंद करना होगा। 

'यहां बहुत सारे मिथ्स उड़ रहे हैं कि आपका डेटा शेयर होने वाला है। लोगों को लग रहा है कि आपकी चैट कोई और पढ़ पा रहा है। अगर शर्मा जी को लग रहा है कि उनकी चैट वर्मा जी पढ़ रहे हैं वो कुछ नहीं होने वाला है। पर दिक्कत यहां ये है कि दो साल पहले जो प्राइवेसी पॉलिसी आई थी उसमें लिखा था कि 'हम आपकी प्राइवेसी की रिस्पेक्ट करते हैं।' आज की तारीख में इनका लहजा अलग है कि अगर आपको सही नहीं लग रहा है तो वॉट्सएप न इस्तेमाल करें। ये भी हो सकता है कि दो साल बाद अब ये कहें कि हम पूरा डेटा फेसबुक से शेयर कर रहे हैं।'  

whatsapp abhishek telang

'ये वॉट्सएप Pay जो लॉन्च होने वाला है उसके लिए फायदेमंद है। असर सिर्फ बिजनेस अकाउंट्स पर ही होने वाला है, लेकिन यहां यूजर्स कई तरह के मिथ्स पर भरोसा कर रहे हैं जो गलत है।' अभिषेक तैलंग के मुताबिक जैसे शुरुआत में वॉट्सएप का मनी मॉडल चलता था और वो हमारा डेटा कहीं भी शेयर नहीं करता था वो सही था। बड़ी कंपनियां जो वॉट्सएप Pay आदि का इस्तेमाल करती हैं उन्हें इस पॉलिसी से दिक्कत नहीं होगी।  

क्या मेरे पर्सनल मैसेज, चैट, फोटो वीडियो आदि खतरे में हैं? 

अब सबसे बड़ा सवाल जो अभी लोगों के मन में है वो ये कि क्या मेरे पर्सनल चैट मैसेज, फोटो, वीडियो आदि सुरक्षित हैं। तो इसका जवाब है हां, बेशक बिजनेस अकाउंट्स को लेकर पॉलिसी चेंज हुई है, लेकिन अगर आप अपने पर्सनल अकाउंट पर मैसेज, चैट, फोटो, वीडियो आदि भेजते हैं तो वो एंड टू एंड एन्क्रिप्शन के तहत सुरक्षित हैं। इसलिए आपको उसकी चिंता करने की जरूरत नहीं है। 

whatsapp privacy policy

क्या महिलाओं पर कुछ अलग असर पड़ेगा? 

जी नहीं, महिलाओं पर सिर्फ इतना असर पड़ेगा कि उनकी बिजनेस अकाउंट्स से जुड़ी चीज़ों को वॉट्सएप आगे दिखाने वाले एड्स के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। स्थाई तौर पर आई पी एड्रेस, सर्विस प्रोवाइडर और बिजनेस डिटेल्स जैसी चीज़ें ही शेयर होंगी। हां, ये जरूर है कि इसे भी प्राइवेसी में थोड़ा सा खतरा माना जा सकता है, लेकिन तस्वीरों, फोटो वीडियो, ऑडियो आदि को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है। 

वॉट्सएप नहीं तो और कौन से एप्स कर सकते हैं इस्तेमाल? 

चलिए मान लिया कि आपने वॉट्सएप का इस्तेमाल बंद कर दिया और आपको ये प्राइवेसी पॉलिसी अच्छी नहीं लग रही है। तो उस केस में आप वॉट्सएप को अपने फोन से हटा लें और वॉट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी अपग्रेड होने की रिक्वेस्ट को एक्सेप्ट न करें। पिछले कुछ समय से 'टेलिग्राम' और 'सिग्नल' एप्स को ज्यादा महत्व दिया जा रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि इन एप्स का काम भी वॉट्सएप जैसा ही है और यहां भी आप बिजनेस ग्रुप्स आदि बना सकते हैं। बस फर्क सिर्फ इतना है कि वॉट्सएप के उलट यहां पर प्राइवेसी पॉलिसी में डेटा शेयरिंग नहीं है। 

वॉट्सएप को लेकर जितना भी विवाद हो रहा है उसमें से आधा इसलिए है क्योंकि लोगों को इसकी प्राइवेसी को लेकर ज्यादा बातें नहीं पता हैं। हालांकि, अभी एक्सपर्ट्स भी कन्फ्यूज हैं कि आखिर एंड टू एंड एन्क्रिप्शन के बाद भी वॉट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी किस तरह से बदलेगी। फिर भी इस बात को लेकर आप निश्चिंत हो सकते हैं कि वॉट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी से आपकी पर्सनल चैट्स फिलहाल सुरक्षित हैं। 

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।