घर बनाते वक्त अगर आप वास्तु का ध्यान रखते हैं, तो घर में होने वाले कलेशों से बच सकते हैं। घर में खुशियों का माहौल बना रहे, इसके लिए वास्तु के हिसाब से घर को सेट करना आवश्यक हो जाता है। लिविंग रूम आपके घर के सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक है। यह वह जगह है जहां मेहमान आपस में मिलते हैं और आपके घर आने पर सबसे अधिक समय बिताते हैं। इसलिए, लिविंग रूम में सकारात्मक वाइब बनाए रखना आवश्यक है। इसे सकारात्मक ऊर्जा को समाहित करना चाहिए जो बातचीत और सौहार्द को सुविधाजनक बनाता है। एक्सपर्ट नरेश सिंगल से जानें कुछ वास्तु टिप्स।

कैसा हो फर्नीचर

vastu tips for furniture

लिविंग रूम आदर्श रूप से पूर्व, उत्तर या उत्तर-पूर्व दिशा में होना चाहिए। हालांकि फर्नीचर को उत्तर या उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके रखना चाहिए। टेलीविजन और होम थिएटर जैसे सभी इलेक्ट्रॉनिक्स को कमरे के पूर्व की दीवार और दक्षिण-पूर्व कोने पर रखा जाना चाहिए। लिविंग रूम उज्ज्वल और अच्छी तरह से प्रकाशित होना चाहिए। उदास लोगों, युद्ध, नुकसान या रोने वाले लोगों जैसी नकारात्मक ऊर्जा का उत्सर्जन करने वाली तस्वीरें या फ्रेम लिविंग रूम में नहीं लटकाने चाहिए।

इन वास्तु टिप्स को आजमाएं 

  • लिविंग रूम बनवा रहे हैं तो इसके लिए उत्तर पूर्व, पश्‍चिम या उत्तर-पश्‍चिम दिशा बेहतर रहेगी। वास्तुशास्त्रमें लिविंग रूम के लिए इन्हें शुभ माना जाता है। इस बात का ध्यान रखें कि अन्य कमरों की तुलना में लिविंग रूम को बड़ा बनवाएं।
  • लिविंग रूम में फर्नीचर की प्लेसिंग इस तरह से होनी चाहिए कि उससे वहां से आने-जाने में घर के सदस्यों को किसी तरह की परेशानी न हो।
  • बीम के होने पर घर के सदस्यों पर उसका बुरा प्रभाव पड़ सकता है, इसीलिए बीम के नीचे सोफा या कुर्सी नहीं रखें ताकि उससे घर के सदस्य प्रभावित ना हों।
  • लिविंग रूम में पूर्व में सबसे ज्यादा खिड़कियां बनवाएं। इससे बाहरी ऊर्जा घर में प्रवेश करेगी।
  • दक्षिण और पश्‍चिम भाग कुछ ऊंचा रखें और इससे अच्छी तरह से सजाएं। यहां डेकोर को अच्छा लुक देने के लिए शो-पीस लगाए जा सकते हैं। टीवी, म्यूजिक सिस्टम जैसे एंटरटेनमेंट वाले गैजेट्स इसी दिशा में रखें।
  • अपने पूर्वजों की फोटो और उनकी मेमोरीज को लिविंग रूम में ठीक तरह से अरेंज करके लगाएं। इससे अतिथियों और घर के सदस्यों पर पॉजिटिव असर पड़ता है।
  • बैठने की व्यवस्था इस तरह से करें कि घर का मुखिया यहां बैठे तो उसका चेहरा पूर्व या उत्तर की तरफ हो। 
  • कई बार महिलाएं लिविंग रूम की खूबसूरती बढ़ाने के लिए कमरे के बीच में झूमर लगवाती हैं। लेकिन वास्तु के अनुसार आपको सीलिंग के बीचोंबीच एक झूमर के बजाय दो झूमर इस तरह से लगाने चाहि कि बीच की जगह खाली हो। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ेगा।
 

Recommended Video

  • लिविंग रूम में फूलों की सजावट की खास अहमियत है, यहां पर रंग-बिरंगे फूलों से भरा वास इस तरह सजाएं कि कमरे की रौनक बढ़ जाए। आर्टीफीशियल फूलों से आप यह काम कर सकती हैं, लेकिन अगर आप ताजे फूल लगाएं तो इस बात का ध्यान रखें कि फूलों के मुरझाने के बाद उन्हें बदल दें, अन्यथा मुरझाए हुए फूलों से भी घर में नेगेटिविटी आती है।
  • मुख्य द्वार पर मांगलिक तोरण ज़रूर लगाएं। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा लाने में मदद मिलती है।
  • फेंग्शुई के अनुसार कमरे के उत्तर, पूर्व या उत्तर-पूर्व में कोई वॉटर बॉडी जैसे कि फिश टैंक रखना शुभ होता है। सेहत और घर में समृद्धि के लिए भी बहुत अच्छा है।
  • लिविंग रूम के लिए रेंक्टेंगुलर या स्क्वेयर स्ट्रक्चर को अच्छा समझा जाता है। इससे पॉजिटिव एनर्जी मिलती है। अगर कमरे की डिज़ाइनिंग इस तरह की नहीं है, तो कमरे में खूबसूरत पौधे या प्लांटर्स लगा सकती हैं। इससे पॉजिटिविटी के साथ घर का वातावरण भी शुद्ध होगा। 
  • ज़मीन पर अच्छा सा कार्पेट सजाएं। इससे कमरे का लुक भी निखर जाएगा और मेहमानों को भी कमरा अट्रैक्टिव फील होगा।