घर पर कई ऐसे फल हैं, जिनके पेड़ आसानी से लगाए जा सकते हैं। उनमें अमरूद का पेड़ शामिल है, जिसे आप गमले में भी लगा सकती हैं। हर-पीले अमरूद खाने का आनंद लोगों को अक्सर लेते देखा होगा, लेकिन अगर ये अपने ही गार्डन का हो, तो मजा दोगुना हो जाता है। अमरूद का पेड़ आसानी से भले ही लग जाता है, लेकिन अन्य पेड़-पौधों की तरह उसकी देखरेख सही तरीके से ना की जाए तो जल्दी मुरझा भी जाते हैं। हालांकि, ज्यादातर महिलाओं की चाहत होती है कि गार्डन में लगा अमरूद का पेड़ अधिक फल दें, इसके लिए वह तरह-तरह के तरीके आजमाती रहती हैं।

कई बार अमरूद के पेड़ फूल आते हैं, लेकिन फल लगने से पहले ही झड़ जाते हैं। इस तरह की कई समस्याएं अमरूद के पेड़ में अक्सर देखने को मिलती है। ऐसे में आज हम बताएंगे कुछ ऐसे उपाय, जिसे आप आजमा सकती हैं। अमरूद के पेड़ की उचित देखभाल की जाए तो फल की पैदावार अच्छी होती हैं। आइए जानते हैं इसके अलावा क्या-क्या करना चाहिए।

सिंचाई और मिट्टी की खुदाई दोनों है जरूरी

guava tree care

अमरूद के पेड़ में अधिक सिंचाई करने की आवश्यकता नहीं होती। हालांकि, इसका मतलब ये बिल्कुल नहीं कि आप इसे महीनों तक पानी ना डालें। हफ्ते में दो या फिर तीन अच्छी तरीके अमरूद के पेड़ के आसपास पानी डालें। अगर अमरूद का पौधा अभी भी गमले में है, तो पानी सीमित मात्रा में ही डालें। गमले को पानी से भरे नहीं बल्कि हल्का छिड़काव करें। इसके अलावा दो या तीन दिन पर अमरूद के पेड़ आसपास की मिट्टी की गहरी खुदाई जरूर करें। ध्यान रखें कि अमरूद के पेड़ की मिट्टी में नमी जरूर होनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: Birthday Special: माहिरा शर्मा के बारे में ये 5 दिलचस्प बातें नहीं जानती होंगी आप

अमरूद के पेड़ को रोजाना दिखाएं धूप

अगर आपने अमरूद का पेड़ गमले में लगाया है तो उसे रोजाना कम से कम 6 से 7 घंटे धूप जरूर दिखाएं। वहीं गार्डन एरिया में अमरूद का पेड़ सही जगह पर लगाएं, ताकि धूप आसानी से पेड़ तक पहुंच पाए। अमरूद के पेड़ को छाव में लगाने की गलती ना करें, क्योंकि इससे पेड़ की ग्रोथ धीमी हो जाती है। अमरूद के पेड़ को हेल्दी रखने के लिए बराबर धूप दिखाना बहुत जरूरी है।

ऑर्गैनिक खाद का उपयोग करें

organic khad

अमरूद का पौधा लगा रही हैं तो पहले उसे बढ़ने दें। थोड़ा बड़ा हो जाने के बाद उसे एक बड़े से गमले में शिफ्ट करें। गमले में पहले फ्रेश मिट्टी की लेयर बना लें और फिर ऑर्गैनिक खाद का इस्तेमाल करें। इसके बाद ऊपर वाले हिस्से को मिट्टी से भर दें। इसके बाद अमरूद के पेड़ को सही तरीके से लगा लें। ऑर्गेनिक खाद के तौर पर सड़ा हुआ गोबर, बची हुई चायपत्ती, अंडे के छिलके जैसी चीजों का इस्तेमाल करें। ध्यान रखें कि केमिकल युक्त खाद का इस्तेमाल ना करें, इससे पेड़ नष्ट होने का डर रहता है।

चूना का मिश्रण बनाकर स्प्रे करें

अमरूद के पेड़ पर ज्यादातर चीटियों का आतंक देखने को मिलता है। ये फल आने पर उन्हें खाना शुरू कर देते हैं। यही नहीं ये अमरूद के पेड़ से चिपक जाते हैं और उन्हें अंदर से कमजोर करने लगते हैं। ऐसी स्थिति आपको चूना लेना और उसे पानी में मिक्स कर लिक्विड तैयार कर लें। पेड़ की साइज को देखते हुए मिश्रण तैयार करें और उसे एक स्प्रे बॉटल में भर लें। अब इसे पेड़ के जड़ों के आसपास और पत्तों पर इसका छिड़काव करें। कोशिश करें कि हफ्ते में दो बार इसका छिड़काव जरूर करें।

इसे भी पढ़ें: घर पर इन तरीकों से बनाएं अपने लिए स्टाइलिश फोन कवर

Recommended Video

अमरूद के फूल को झड़ने से रोके

guava fruits

कई बार अमरूद के पेड़ में फूल तो आते हैं, लेकिन फल लगने से पहले झड़ जाते हैं। इसके पीछे कई वजह हो सकते हैं। सही देखरेख या फिर धूप नहीं दिखाने की वजह से भी इस तरह की समस्या अक्सर देखने को मिलती है। इसलिए इसका ख्याल जरूर रखें। इसके अलावा अमरूद के पेड़ को अंदर नहीं बल्कि खुली जगह में रखें। अगर फूल झड़ रहे हैं तो राख का इस्तेमाल करें। यह खाद की तरह काम करेगा और फूल को झड़ने से रोकेगा।

उम्मीद है कि आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी। साथ ही, आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें कमेंट कर जरूर बताएं और इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हर जिंदगी के साथ।