हिंदू धर्म में हर एक दिन और व्रत त्योहार का विशेष महत्व बताया गया है। प्रत्येक दिन किसी अलग भगवान की पूजा करने का विधान है और उन्हें प्रसन्न करके मनोकामनाओं की पूर्ति की जाती है। ऐसा माना जाता है कि सोमवार से लेकर रविवार तक के 7 दिनों में अलग तरह से पूजा-पाठ करने और भक्ति करने से ईश्वर की कृपा दृष्टि प्राप्त होती है।

इन्हीं 7 दिनों में से एक दिन है शुक्रवार का दिन। इस दिन को मुख्य रूप से शुक्र ग्रह का दिन माना जाता है और यह माता लक्ष्मी को समर्पित होता है। शुक्रवार के दिन यदि भक्तजन माता लक्ष्मी की पूजा अर्चना पूरे श्रद्धा भाव से करते हैं तो घर, धन धान्य से भर जाता है और आर्थिक स्थिति ठीक रहती है। वहीं यह भी मान्यता है कि यदि शुक्रवार के दिन कुछ कार्य किये गए तो धन हानि के साथ घर का विनाश निश्चित होता है। आइए नई दिल्ली के जाने माने पंडित, एस्ट्रोलॉजी, कर्मकांड,पितृदोष और वास्तु विशेषज्ञ प्रशांत मिश्रा जी से जानें ऐसे कौन से काम हैं जो शुक्रवार के दिन भूलकर भी नहीं करने चाहिए। 

रुपए पैसे का आदान -प्रदान न करें 

money exchange on friday

शुक्रवार का दिन मुख्य रूप से माता लक्ष्मी का दिन होता है। इसलिए इस दिन भूलकर भी किसी को उधार पैसे नहीं देने चाहिए। मान्यता है कि यदि व्यक्ति इस दिन पैसे का आदान-प्रदान करता है तो बहुत जल्द माता लक्ष्मी रुष्ट हो जाती हैं और घर की आर्थिक स्थिति खराब हो जाती है। यही नहीं इस दिन किसी से उधार लेना भी धन हानि का संकेत है। ऐसा व्यक्ति कभी भी कर्ज मुक्त नहीं हो पाता है। 

इसे जरूर पढ़ें:Santoshi Mata Vrat: शुक्रवार को रखें संतोषी माता का व्रत, घर में आएगी सुख-समृद्धि

स्त्रियों का अपमान न करें 

avoid these work on friday

वैसे तो किसी भी दिन घर की महिलाओं का अपमान नहीं करना चाहिए। लेकिन खासतौर पर शुक्रवार को भूलकर भी किसी महिला का अपमान न करें। ऐसा करने से आपकी आर्थिक स्थिति खराब होने के साथ घर में झगड़े बढ़ेंगे और उस घर का विनाश निश्चित है। पंडित प्रशांत मिश्रा जी बताते हैं कि स्त्रियां माता लक्ष्मी का रूप होती हैं और शुक्र ग्रह भी स्त्रियों का ग्रह माना जाता है इसलिए इस दिन स्त्रियों का अपमान करने और उनसे लड़ाई झगड़ा करने से माता लक्ष्मी रुष्ट हो जाती हैं और धन व्यर्थ के कामों में व्यय होने लगता है।  

तामसिक भोजन न करें 

avoid having non veg on friday

शुक्रवार के दिन भूलकर भी किसी जानवर को क्षति नहीं पहुंचानी चाहिए। यही नहीं इस दिन तामसिक भोजन भी न करें। मुख्य रूप से इस दिन भोजन में मांसाहार का सेवन करने से माता लक्ष्मी घर से दूर चली जाती हैं और धनवान व्यक्ति भी निर्धन हो जाता है।

इन दिशाओं में यात्रा न करें 

avoid these direction on friday

पंडित प्रशांत मिश्रा जी बताते हैं कि शुक्रवार के दिन भूलकर भी नैऋत्य, पश्चिम और दक्षिण में यात्रा न करें। खासकर इस दिन पश्‍चिम में दिशाशूल रहता है और इन दिशाओं की यात्रा करने से दुर्घटना की आशंका बढ़ जाती है। यही नहीं यदि इस दिन नौकरी या व्यापार के संबंध में भी इन दिशाओं में यात्रा की जाती है तब भी धन हानि के संकेत मिलते हैं और कुछ ही दिनों में धन नष्ट होने लगता है। 

इसे जरूर पढ़ें:Santoshi Mata Vrat: शुक्रवार संतोषी माता का करती हैं व्रत, तो ध्यान रखें ये बातें

शाम के समय न सोएं 

avoid sleeping at evening on friday

कहा जाता है कि किसी भी दिन शाम के समय सोने का मतलब है माता लक्ष्मी को रुष्ट करना। शाम का समय पूजा -पाठ का समय होता है इसलिए उस समय सोना नहीं चाहिए। मुख्य रूप से शुक्रवार के दिन यदि घर की महिलाएं संध्या काल में सोती हैं तो उनके घर में धन हानि होने लगती है। कहा जाता है कि संध्या काल में माता लक्ष्मी विचरण पर निकलती हैं इसलिए महिलाओं को साफ़ मन से लक्ष्मी माता का स्वागत करना चाहिए। यदि घर का कोई भी व्यक्ति इस समय सोता है तो माता लक्ष्मी उस घर से हमेशा के लिए चली जाती हैं। 

घर में गंदगी न रखें 

शुक्रवार का दिन माता लक्ष्मी से संबंधित होता है और उन्हें गंदगी पसंद नहीं है। कहा जाता कि यदि किसी घर में गंदगी होती है तो उस घर से माता लक्ष्मी हमेशा के लिए चली जाती हैं और कितने भी उपाय करने पर वापस नहीं आती हैं। बल्कि ऐसे घर में अलक्ष्मी का वास होने लगता है। इसलिए शुक्रवार के दिन जितना हो सके घर को साफ़ सुथरा रखें और किसी भी कोने में कूड़ा इकठ्ठा न होने दें। लेकिन भूलकर भी इस दिन शाम के समय घर में झाड़ू न लगाएं और कूड़ा घर से बाहर न निकालें। 

यदि आप शुक्रवार के दिन इन बातों का ध्यान रखेंगी तो घर की आर्थिक स्थिति सुधरने के साथ घर में सुख समृद्धि भी आएगी। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik