• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

Mahashivratri 2022: महादेव की कृपा पाने के लिए महाशिवरात्रि के दिन रखें इन बातों का ध्यान

हिंदुओं में महाशिवरात्रि के पर्व का विशेष महत्व है। इस दिन कुछ बातों का विशेष ध्यान आपकी मनोकामनाओं की पूर्ति कर सकता है। 
author-profile
  • Woman Issues Talk
  • Editorial
Published -19 Feb 2020, 14:52 ISTUpdated -01 Mar 2022, 08:24 IST
Next
Article
maha shivratri to blessings of lord shiva card news

महाशिवरात्रि का पावन पर्व जिसको समस्त हिन्दू समुदाय हर्षोल्लास के साथ मनाता है। यह त्योहार पूर्ण रूप से भगवान शिव को समर्पित होता है। कहा जाता है कि इस दिन माता पार्वती और महादेव शादी के पवित्र बंधन में बंधे थे, वहीं  कुछ पौराणिक कथाओं के अनुसार इस दिन भगवान शिव, शिवलिंग के रूप में प्रकट हुए थे,जिसके उपलक्ष्य में यह त्योहार मनाया जाता है। 

भक्तजन देवों के देव महादेव का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए इस दिन व्रत करते हैं। हमारे देश में इस व्रत का आध्यात्मिक महत्व है जिसके करने से मनुष्य को भगवान शिव की विशेष कृपा दृष्टि प्राप्त होती है। इस दिन व्रत के अलावा लोग अपनी सामर्थ्यानुसार विधि विधान से पूजा अर्चना करते हैं लेकिन फिर भी भूलवश हमसे कुछ गलतियां हो जाती हैं तो आइए जानें कि शिवरात्रि के दिन क्या करें और क्या न करें, जिससे भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त हो सके। 

प्रातःबेला में करें स्नान

maha shivratri to blessings of lord shiva card inside

इस दिन सुबह जल्दी उठ कर स्नान करें हो सके तो नहाने के पानी में काले तिल डालकर नहाएं। मान्यता है कि ऐसा करने से सभी तरह की अशुद्धियों का विनाश हो जाता है। आप भी इस बार दिन की शुरुआत कुछ इस ढंग से करें।  

लिंग अभिषेक

maha shivratri to blessings of lord shiva card inside

आज के दिन मंदिर जाकर शिवलिंग का अभिषेक (शिवलिंग का 7 अलग धाराओं से करें अभिषेक) अवश्य करें। दूध, दही, शहद से अभिषेक कर महादेव को बेलपत्र, धतूरा और फूल चढ़ाएं। धूप-दीप से आरती कर भगवान शिव से अपनी मनोकामना पूरी करने का वर मांगें।

संपूर्ण दिन का व्रत

maha shivratri to blessings of lord shiva card inside

यदि आप में सामर्थ्य हो तो दिन-रात का व्रत करें क्योंकि यह पर्व एक सुबह से लेकर दूसरे दिन की सुबह तक माना जाता है। दिन में जूस, फल आदि का सेवन करें और सूर्यास्त के बाद किसी प्रकार का भोजन ग्रहण न करें। वैसे तो श्रद्धा भक्ति के कोई नियम नहीं होते, यदि आप में सामर्थ्य है तो व्रत को व्रत के तरीके से करें।

इसे जरूर पढ़ें:महाशिवरात्रि 2022: जानें इस साल कब पड़ेगी महाशिवरात्रि, पूजा की सही विधि और शुभ मुहूर्त

Recommended Video


क्या न करें

maha shivratri to blessings of lord shiva card inside

  • महिलाएं कभी भी शिवलिंग पर सिंदूर न चढ़ाएं इसकी जगह चन्दन का प्रयोग करें।
  • शिवलिंग पर कभी भी तुलसी के पत्ते न चढ़ाएं इनको धार्मिक मान्यता के अनुसार वर्जित माना गया है।
  • हालांकि हल्दी को पूजा अर्चना और रीति-रिवाज़ों के लिए अनुकूल माना जाता है लेकिन शिवलिंग पर इसको अर्पित न करें।
  • शिवलिंग पर शंख से जल न चढ़ाएं।
 

कहते हैं कि भगवान शिव को सफ़ेद रंग के फूल पसंद होते है इसलिए पूजा में लाल रंग के फूलों का प्रयोग ने करें, लेकिन ध्यान रखें सफ़ेद रंग के फूल में केवड़ा और केतकी के फूल के इस्तेमाल से बचें। शिव जी की पूजा में आप गेंदें के फूल चढ़ा सकते हैं। महा शिवरात्रि के दिन पूजा में काले रंग के कपड़े पहनने से बचें, क्योंकि काले रंग को पूजा में शुभ नहीं माना जाता है। खंडित बेल पत्र (शिवलिंग पर बेलपत्र चढ़ाने का तरीका) के प्रयोग से बचें। खंडित बेलपत्र चढ़ाने से बेहतर है कि बेल पत्र चढ़ाएं ही नहीं।

भगवान् शिव की कृपा दृष्टि पाने के लिए यहां बताई बातों का ध्यान दें। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।