हिंदू धर्म में सावन का महीना शिव जी का महीना बताया गया है। इस पूरे महीने भगवान शिव जी के भक्त उनकी पूजा करते हैं। ऐसे में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए उनके भक्त उनकी शिवलिंग पर महादेव की प्रिय फूल और प्रसाद चढ़ाते हैं। मगर, शिव महापुराण में भगवान शंकर के शिवलिंग का अभिषेक करने के भी महत्व बताए गए हैं। ज्यादातर लोग भगवान शिव का अभिषेक जल या दूध से करते हैं। मगर, उज्जैन के ज्योतिषाचर्य पंडित मनीष शर्मा बाताते हैं कि शिवलिंग पर भगवान शंकर की कई प्रिय चीजों से अभिषेक किया जा सकता है। इनसे अभिषेक करने के अलग-अलग फल भी मिलते हैं। तो चलिए जानते है कि किससे अभिषेक करने का क्या फल मिलता है। 

दूध से अभिषेक 

अगर आपके घर में कलेश है तो आपको शिवलिंग पर दूध चढ़ाना चाहिए। इससे आपके घर में जो भी कलेश होगा वह शांत हो जाएगा। इतना ही नहीं अगर आपके ऑफिस में कलेश है तो वह भी ऐसा करने से शांत हो जाएगा। वैसे दूध से शिवलिंग का अभिषेक करने से मूर्ख भी बुद्धिमान हो जाता है। अगर आपके घर में पढ़ने वाला बच्चा है तो उसे शिवलिंग पर दूध चढ़ाने के लिए कहें। इससे बच्चा पढ़ाई में और भी अच्छा हो जाएगा। 

इसे जरूर पढ़ें:10 तरह के होते हैं शिवलिंग, सबकी अलग तरह से होती है पूजा और मिलता है अलग फल

Shivling Abhishekam In  Different Ways In Sawan

 

जल चढ़ाएं 

अमूमन लोग भगवान शिव के लिंग पर जल से अभिषेक करते हैं। ऐसा करने से आपकी विभिन्न कामनाएं पूरी होती हैं। आपको केवल सावन में ही नहीं बल्कि हर दिन भगवान शिव के लिंग पर जल चढ़ाना चाहिए। यह आपके मन को भी शांत करता है और शिव जी इससे प्रसन्न रहते हैं। (क्या है शिवलिंग पर बेलपत्र चढ़ाने का महत्व और लाभ

देसी घी से अभिषेक 

अगर आपके घर परिवार में कोई बहुत बीमार है तो आपको भगवान महादेव के लिंग पर शुद्ध देसी घी का अभिषेक करना चाहिए। इससे अपके सारे रोग और घर में जो भी बीमार है उसके सारे रोग दूर हो जाते हैं। इतना ही नहीं यह आपके वंश का विस्तार करता है और नपुंसकता को भी दूर करता है। 

इसे जरूर पढ़ें:Sawan 2019: शिवलिंग छूने से क्यों किया जाता है महिलाओं को मना, एक्सपर्ट से जानें

types of abhishekam

 

इत्र चढ़ाएं 

अगर आप भगवान शिव के लिंग पर इत्र से अभिषेक करती हैं तो इससे आपके पति के साथ संबंध मधुर होंगे। आपकी पति से अनबन खत्म होगी

शहद से अभिषेक करें 

अगर आपको या आपके घर में किसी को टीबी रोग है तो आपको शहद से शिवलिंग का अभिषेक करना चाहिए। इससे यह रोग दूर हो जाता है। ऐसा करने से आपकी स्वास्थ्य से जुड़ी और बीमारियां भी दूर हो जाती हैं। 

गन्ने के रस से अभिषेक करें 

अगर आप बहुत दुख में है और आप आनंद प्राप्त करना चाहती हैं तो आपको गन्ने के रस से शिवलिंग का अभिषेक करना चाहिए। इससे आपका घर खुशियों से भर जाएगा। 

गंगाजल चढ़ाएं 

अगर आपकी इच्छा है कि आपको मृत्यु के बाद मोक्ष प्राप्त हो तो आपको शिवलिंग पर गंगाजल से अभिषेक करना चाहिए।