शादी किसी भी लड़की की लाइफ का एक टर्निंग प्वाइंट होता है। शादी से पहले हम सभी वैवाहिक जीवन से जुड़ी कुछ बातों के बारे में सुनते हैं और बिना सोचे-समझे ही उस पर भरोसा कर लेती हैं। इससे कभी तो वह अपने रिश्ते से कुछ जरूरत से ज्यादा उम्मीदें कर बैठती हैं तो कभी उनके  मन में शादी के बाद की लाइफ को लेकर एक अजीब सा डर बैठ जाता है। इन सभी समस्याओं से बचने का एक आसान तरीका है कि आप इन सभी मिथ्स के पीछे की सच्चाई को पहले ही जान लें। यह सच है कि शादी सबसे खूबसूरत रिश्तों में से एक है और इस रिश्ते की खूबसूरती को यूं ही बनाए रखने के लिए जरूरी है कि आप किसी भी तरह के मिथ्स पर यूं ही भरोसा ना करें।

हालांकि दांपत्य जीवन को लेकर तरह-तरह के मिथक हैं जिन्हें लोग सदियों से मानते आ रहे हैं। लेकिन, अब इन मिथकों को खत्म करने का समय आ गया है। तो चलिए आज हम आपको शादी से जुड़े कुछ मिथ्स के बारे में बता रहे हैं, जिसे जानने के बाद आपके मन में वैवाहिक जीवन को लेकर किसी तरह का भ्रम नहीं रहेगा-

मिथ 1

stop believing these marriage myths

अमूमन लड़कियों के मन में यह मिथ होता है कि शादी उनके जीवन का लक्ष्य है। यकीनन शादी का जीवन में अपना एक अलग महत्व है, लेकिन शादी कभी भी हमें खुद को खोजने या खुद होने में मदद नहीं कर सकती। अगर आप परेशान या उदास है, तो आपको इसकी जड़ तक पहुंचने की जरूरत है। शादी इसका हल नहीं है। आपका लक्ष्य अपने जीवन में खुश रहना होना चाहिए।

इसे जरूर पढ़ें- इन relationship goals से रहें बचकर, यह आपके रिश्ते को बना देंगे toxic

मिथ 2

stop believing these marriage myths

कई बार लड़कियां शादी से पहले अपने आसपास कई ऐसे जोड़ों को देखती हैं, जिन्हें परफेक्ट कपल्स कहा जाता है। हो सकता है कि आपने उन्हें साथ में हमेशा खुश ही देखा हो। इसलिए उनके मन में यह मिथ पैदा होता है कि हैप्पी कपल्स कभी आपस में झगड़ते नहीं हैं। मनोवैज्ञानिकों के अनुसार, संघर्ष हर रिश्ते का एक हिस्सा है।

Recommended Video

लेकिन अपने साथी के साथ बहस करने का मतलब यह नहीं है कि आपको अपने रिश्ते को समाप्त करने की आवश्यकता है। केवल एक चीज है जो सबसे ज्यादा मायने रखती है कि आप दोनों चीजों को ठीक करने के लिए उस पर कैसे काम करते हैं।

मिथ 3

stop believing these marriage myths

यह एक ऐसा मिथ है, जिस पर आप शायद अब तक भरोसा करती आई हो। अमूमन यह कहा जाता है कि कपल्स को एक दूसरे के साथ सब कुछ साझा करने और सब कुछ एक साथ करने की आवश्यकता है। शादी में शेयरिंग यकीनन काफी जरूरी है, लेकिन ओवरशेयरिंग से शादी में अंतरंगता कम हो सकती है। कभी-कभी, कपल्स को एक-दूसरे से विराम लेने और अकेले अपनी पसंदीदा चीजें करने की आवश्यकता होती है।

इसे जरूर पढ़ें- घर में जरूर रखें ये आई सूदिंग चीज़ें, पति-पत्नी के रिश्ते में ला सकती हैं नया मोड़

मिथ 4

stop believing these marriage myths

यह एक बेहद ही पापुलर मिथ है कि आपके जीवनसाथी को आपका सबसे अच्छा दोस्त बनना चाहिए (रिश्ते में विश्वास को ऐसे करें मजबूत)। हालांकि, ऐसा कोई नियम नहीं है। यकीनन आप अपने पार्टनर से अपने मन की बात शेयर कर सकती हैं, लेकिन यह जरूरी नहीं है कि वह आपका सबसे अच्छा दोस्त ही बने।

कुछ बातें आप अपने बचपन के दोस्त के साथ साझा कर सकती हैं या फिर आपको शादी के रिश्ते में कुछ स्पेस की जरूरत हो सकती है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।