Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    Rudraksha: रुद्राक्ष धारण करते समय न करें इन नियमों की अनदेखी

    रुद्राक्ष धारण करने के कई लाभ होते हैं लेकिन रुद्राक्ष पहनने से पहले और बाद में कुछ नियमों का पालन करना जरूरी माना गया है।   
    author-profile
    • Gaveshna Sharma
    • Editorial
    Updated at - 2022-11-30,16:16 IST
    Next
    Article
    rudraksha rules

    Rudraksha: रुद्राक्ष महादेव को अति प्रिय माना जाता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शिव के आंसुओं से हुई थी। रुद्राक्ष को बेहद चमत्कारी माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि रुद्राक्ष धारण करने से भगवान शिव की विशेष कृपा प्राप्त होती है। रुद्राक्ष धारण करने से व्यक्ति के सभी संकट मिट जाते हैं। 

    हमारे ज्योतिष एक्सपर्ट डॉ राधाकांत वत्स का कहना है कि रुद्राक्ष पहनने के अनेकों लाभ हैं लेकिन ये लाभ फलित तभी होते हैं जब रुद्राक्ष को पूर्ण विधि और संपूर्ण नियमों के पालन के साथ धारण किया जाए। ऐसे में चलिए जानते हैं कि रुद्राक्ष धारण करने से पहले और रुद्राक्ष धारण करने के बाद किन नियमों का ध्यान रखना अति आवश्यक माना गया है। 

    रुद्राक्ष धारण करने के नियम (Rudraksha Wearing Rules)

    • रुद्राक्ष धारण करने के बाद रोजाना रुद्राक्ष मंत्र और रुद्राक्ष मूल मंत्र का जाप करें। 
    rules to wear rudraksha
    • किसी कारण से रुद्राक्ष को गले या हाथ से निकाला है तो उसे किसी पवित्र स्थान पर ही रखें।  
    • रुद्राक्ष धारण करने के बाद किसी भी तरह का तामसिक भोजन और मदिरा का सेवन करने से बचें। 
    • किसी की मृत्यु में जा रहे हैं तो रुद्राक्ष धारण करके न जाएं।
    • किसी बच्चे के जन्म के दौरान भी रुद्राक्ष धारण करना वर्जित माना गया है। 
    • महिलाएं मासिक धर्म से पहले रुद्राक्ष को उतारकर पूजा स्थल में रख दें। 
    • बिना स्नान किये रुद्राक्ष को स्पर्श न करें। 
    • रुद्राक्ष धारण करते समय और करने के बाद निरतंर भगवान शिव का स्मरण करें। 
    rudraksh wearing rules
    • रुद्राक्ष धारण करते हैं तो रोजाना 'ॐ नमः शिवाय' मंत्र का जाप करें। 
    • रुद्राक्ष को हमेशा लाल या फिर पीले रंग के धागे में पहनें। 
    • काले रंग के धागे में रुद्राक्ष पहनने से अशुभ प्रभाव पड़ता है।
    • खुद के द्वारा धारण किये हुए रुद्राक्ष को कभी किसी और को न दें। 
    • किसी और के द्वारा उपहार में दी गई रुद्राक्ष की माला को भी धारण करने से बचें। 
    • रुद्राक्ष की माला पहनते समय उसके मानकों की संख्या विश्मा होनी चाहिए। 
    • किसी भी कीमत पर पहने जाने वाली रुद्राक्ष की माला 27 मानकों से कम की न हो। 
    rudraksha wearing rules
    • रुद्राक्ष को सप्ताह में एक बार गंगाजल से शुद्ध जरूर करें। 

    तो ये थे रुद्राक्ष धारण करने से पहले और धारण करने के बाद के जरूरी नियम। अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। आपका इस बारे में क्या ख्याल है? हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

    Image Credit: Freepik, Shutterstock, Herzindagi

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।