• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

30 सितंबर से पहले जरूर निपटा लें अपने क्रेडिट और डेबिट कार्ड का यह काम वरना हो सकता है भारी नुकसान

इस लेख में हम आपको बताएंगे कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने क्या आदेश जारी किया है जिसे आपको अपने क्रेडिट और डेबिट कार्ड के लिए अवश्य करना चाहिए।  
author-profile
Published -06 Sep 2022, 14:07 ISTUpdated -11 Sep 2022, 14:34 IST
Next
Article
what is RBI new guideline

ऑनलाइन ऐप से भुगतान से ज्यादातर लोंग भुगतान करते हैं। आपको बता दें कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने आदेश जारी किया है कि 30 सितंबर 2022 से पहले ऑनलाइन ऐप से भुगतान में इस्तेमाल होने वाले सभी क्रेडिट और डेबिट कार्ड के डेटा को एक यूनिक टोकन से रिप्लेस किया जाना जरूरी है।

आपको बता दें कि टोकनाइजेशन के बेहतरीन सुरक्षा के कारण कार्ड को यूज करने वाले को भुगतान करते वक्त अनुभव भी बेहतर होगा। इससे आपके कार्ड की सभी डिटेल एन्क्रिप्टेड 'टोकन' के रूप में स्टोर हो जाएगी।

 

क्या मिलेगा टोकनाइजेशन से फायदा?

credit and debit card tokenization

टोकनाइजेशन से आपका क्रेडिट और डेबिट कार्ड का भुगतान सुरक्षित रहेगा। साथ ही आप इन टोकन की मदद से अपनी जानकारी को दूसरे व्यक्ति के सामने लाए बिना ही भुगतान कर सकेंगे।

आरबीआई के निर्देशों से यह अनिवार्य हो गया है कि कार्ड के ओरिजिनल डेटा को एन्क्रिप्ट डिजिटल टोकन से बदला जाए। टोकनाइजेशन से आपके क्रेडिट और डेबिट कार्ड से किए गए भुगतान सुविधाजनक और सेफ भी हो जाएंगे।

टोकनाइजेशन सिस्टम पूरी तरह फ्री होता है। पर आपको सिर्फ घरेलू ऑनलाइन भुगतान पर शुल्क देना होगा। आपको बता दें कि डेबिट और क्रेडिट कार्ड के नए नियम 1 जुलाई से ही लागू होना था लेकिन यह नियम आगे बढ़ा दिया गया था और अब टोकनाइजेशन की डेडलाइन 30 सितंबर 2022 है।

 इसे भी पढ़ें: Gpay में दो अकाउंट कैसे एड करें? जानिए यहां

 

ऐसे करें टोकनाइजेशन के लिए टोकन जनरेट 

1) जब आप किसी पेंमेंट को करने के लिए ई-कॉमर्स वेबसाइट पर या किसी ऐप पर जाएंगे तो आपको जिस भी कार्ड से पेमेंट करना होगा उसकी डिटेल भरेने होंगे। 

2) फिर आपको कार्ड को सिक्योर करना होगा। इसके लिए आरबीआई के निर्देशों के अनुसार अपने कार्ड को टोकेनाइज करने के लिए 'सिक्योर योर कार्ड एस पर आरबीआई गाइडलाइन'  का ऑप्शन सेलेक्ट करना होगा।

3)उसके बाद क्रिएशन के ऑप्शन को आपको ओके करना होगा। इस प्रोसेस को पूरा करने के लिए आपके फोन पर और बैंक से लिंक ईमेल पर ओटीपी आएगा जिसे आपको फिर एंटर करना होगा।

इसे भी पढ़ें- बिग बाज़ार और हाइपरसिटी जैसे सुपरमार्केट से लेना है सामान? ये टिप्स करवाएंगी स्मार्ट शॉपिंग 

4)फिर आपका टोकन क्रिएट हो जाएगा। इसमें आपके कार्ड का डेटा एक टोकन में सेव हो जाएगा।

6) अगली बार फिर जब आप उसी वेबसाइट या ऐप पर भुगतान करेंगे तो उस वक्त अपना कार्ड पहचानने के लिए आपके कार्ड नंबर के अंतिम चार अंक ही दिखाई देंगे।

7)आपको बता दें कि इस तरह से आपके कार्ड का डेटा टोकन के रूप में सेव हो जाएगा और यह सिक्योर भी रहेगा। इसके साथ ही आप आसानी से पेमेंट कर सकेंगे।

 

तो यह थी क्रेडिट और डेबिट कार्ड से संबंधित जानकारी  ।

 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

 

Image credit- freepik

 

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।