पति, पत्नी और वो फिल्म का ट्रेलर सामने आ चुका है। 1978 में इसी टाइटल के साथ बनी संजीव कुमार, विद्या सिन्हा और रंजीता कौर के किरदारों के साथ बनी ये फिल्म अब 2019 में कार्तिक आर्यन, भूमी पेडनेकर और अनन्या पांडे के साथ बनाई गई है। इसमें मुख्य किरदारों के नाम बदल दिए गए हैं, लेकिन कार्तिक आर्यन, संजीव कुमार के किरदार में हैं। भूमी, विद्या सिन्हा के किरदार में हैं और अनन्या ने रंजीता कौर का किरदार लिया है। फिल्म का ट्रेलर आते ही ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा।  

कहानी बिलकुल वैसी ही है। हालात से परेशान मेन लीड एक्टर की शादी जल्दी हो जाती है और फिर उनकी जिंदगी में आती है एक 'वो' जिससे वो तरह-तरह के झूठ बोलते हैं और साथ ही साथ अपनी पत्नी से भी कई तरह के झूठ बोलते हैं। ये कॉमेडी फिल्म है जिसमें दोनों महिलाएं अपने पार्टनर की झूठी बातों पर यकीन करती हैं और बेवफाई के मामले को हास्यप्रद तौर पर दिखाया गया है।  

हालांकि, ये अपने आप में बहुत ही खराब बात है कि बेवफाई जैसे मामले को कॉमेडी की तरह दिखाया जा रहा है, लेकिन बॉलीवुड से हम ज्यादा उम्मीद नहीं रख सकते हैं। हालांकि, इस फिल्म में एक ऐसा डायलॉग बोला गया है जिसपर विवाद हो गया है और होना भी चाहिए। फिल्म में मैरिटल रेप को लेकर मज़ाक किया गया है और ये यकीनन खराब बात है।  

pati patni aur woh songs

फिल्म में कार्तिक आर्यन एक डायलॉग में कह रहे हैं। 'पत्नी से सेक्स मांगे तो भिखारी, पत्नी को सेक्स न दें तो अत्याचारी, और अगर जुगाड़ लगाकर सेक्स हासिल कर भी लिया तो बलात्कारी भी हम ही हैं।' 

इसे जरूर पढ़ें- बदल गई हैं बालिका वधु की छोटी आनंदी, तस्वीरों में देखिए उनका स्टाइलिश और फिट अवतार 

भारत में जहां #Metoo मूवमेंट को लेकर इतनी बात हो चुकी है। जहां मैरिटल रेप को लेकर केस सुप्रीम कोर्ट में भी चला है (भले ही सुप्रीम कोर्ट ने इसे बलात्कार और जुर्म की कैटेगरी में नहीं रखा) ऐसे में इस गंभीर मामले में मज़ाक करना सही नहीं है। इसे यकीनन कंसेंट के मामले को एकदम ही खत्म कर दिया गया। इस डायलॉग को ट्विटर ने अच्छे से नहीं लिया और सोशल मीडिया पर इस फिल्म को ट्रोल किया जा रहा है। 

 

लोगों ने कार्तिक आर्यन के किरदार को लेकर भी काफी कुछ कहा। बीवी नंबर 1 जैसी फिल्म में सलमान खान और करिश्मा अंत में एक हो जाते हैं, लेकिन क्या ये सही था? 

 

इस मैरिटल रेप के जोक को लेकर लोगों का मानना है कि 2019 में भी अगर फिल्म मेकर इस बात को लेकर संजीदा नहीं होंगे तो फिर समाज का क्या होगा। 

 

इस तरह के गंभीर मुद्दे का जवाब हम इतनी आसानी से नहीं बना सकते हैं। सलमान खान ने जब रेप को लेकर मज़ाक किया था तो उन्हें भी काफी ट्रोल होना पड़ा था। 

 

इस फिल्म में कार्तिक आर्यन का किरदार उसी तरह का है जिस तरह उनकी हर फिल्म में होता है। वो महिलाओं के खिलाफ कुछ न कुछ बोलते हुए दिखाई दे रहे हैं। पहली फिल्म से लेकर लेटेस्ट तक यही चला आ रहा है।  

इसे जरूर पढ़ें- अगर लग रहा है अकेलापन तो इन 6 चीज़ों को कर सकती हैं ट्राई 

कुल मिलाकर इस नई फिल्म में भी वही सब दिक्कतें सामने आ रही हैं जो पहले से कही जा रही हैं। बॉलीवुड रेप और महिला छेड़खानी को लेकर संजीदा अभी भी नहीं हुआ है और इस डायलॉग के बाद भी ये समझा जा सकता है कि किसी भी तरह से अभी तक लोग इस मामले में आगे नहीं बढ़ पाए हैं। 2019 में भी अगर हम अभी सचेत नहीं हुए और इतने बड़े #Metoo आंदोलन को लेकर भी अगर कुछ नहीं किया गया है तो यकीनन ये चिंता की बात है।