• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

ये छोटी-छोटी गलतियां पिता के आपके बॉन्ड को कर सकती हैं खराब

पिता और बेटे का रिश्ता बेहद नाजुक होता है। ऐसे में इस रिश्ते को बहुत प्यार से निभाना पड़ता है, एक छोटी सी गलती रिश्ते को कमजोर कर सकती है।
author-profile
Published -20 Jun 2022, 14:14 ISTUpdated -20 Jun 2022, 14:55 IST
Next
Article
Signs Of a Bad Father Son Relationship

बदलते समय के साथ पिता और पुत्र के रिश्तों में बहुत बदलाव आया है। पहले जहां बच्चे अपने पिता जी से बात करने में डरते थे, वहीं आज के बच्चे अपने पिता के सामने काफी फ्रैंक हैं। यही वजह है के पिता और बेटे की बॉन्डिंग पेरेंटिंग में बेहद अहम रोल निभाती है। कई बार जाने अनजाने में पिता या बच्चे ऐसी गलतियां कर जाते हैं, जिसके बाद उनके रिश्ते पहले जैसे नहीं रहते। ऐसी गलतियां पिता और बच्चे के बीच बंधे नाजुक से रिश्ते पर असर डालती हैं।

आज के आर्टिकल में हम आपको उन छोटी-छोटी गलतियों के बारे में बताएंगे, जिस वजह से बेटे और पिता के रिश्ते कमजोर हो जाते हैं- 

पिता पर फैसले थोपना- 

father and son bond

जब बच्चे उम्र में बड़े हो जाते हैं, तब उनकी अपनी दुनिया बन जाती है। जिस कारण वो कई बार अपने फैसले माता-पिता पर थोपने लगते हैं। इस कारण कई बार पिता के आत्मसम्मान को ठेस भी पहुंच जाता है। ऐसे में फैसले थोपने की जगह बच्चों को माता-पिता की सलाह माननी चाहिए। इसके अलावा कई बार पिता को भी बच्चों पर अपने फैसले नहीं थोपने चाहिए, जिससे बच्चे खुद ही आपसे दूर होने लगें। 

 इसे भी पढ़ें- बेस्ट पेरेंटिंग के लिए ध्यान में रखें ये ज़रूरी बातें

पिता के साथ वक्त न बिताना- 

समय सभी के लिए बेहद जरूरी है। लेकिन इस भागदौड़ भरे जीवन में भी पिता और बच्चों दोनों को ही एक-दूसरे के लिए समय निकालना चाहिए। अक्सर बच्चे बड़े होने के बाद पिता के साथ वक्त नहीं बिता पाते, जिस कारण उनके बीच दूरियां बढ़ जाती हैं। ऐसे में रिश्तों को समय देना बेहद जरूरी होता है, जिससे आपकी बॉन्डिंग बनी रहे। 

 इसे भी पढ़ें- पेरेंटिंग के ये 5 इफेक्टिव टिप्स जो करेंगे आपके बच्चे का बेहतर विकास

फैसलों में हिस्सेदारी न देना- 

child and son relationship

अक्सर बच्चे बड़े होने के बाद खुद-ब-खुद फैसले लेने लगते हैं। जिसमें पिता की कोई भागीदारी नहीं होती है। किसी भी पिता पर इसका गहरा प्रभाव पड़ता है।

घरेलू कामों का हिस्सा न बनना- 

हर पिता को हमेशा अपने बेटे या बेटी लगभग हर घरेलू काम सिखाना चाहिए। ताकि इससे बॉन्डिंग( ग्रैंड पेरेंट्स के साथ बनाएं बॉन्डिंग) और भी बेहतर हो सके। लोग अक्सर घर के काम नहीं सिखाते हैं,जिससे बच्चों को आगे चलकर और समस्या होती है। इसलिए पिता और बेटे दोनों को आपस में मिलकर छोटे-छोटे घरेलू काम करने चाहिए। 

प्रोत्साहित न करना- 

parent and child bond

प्रोत्साहन सभी के लिए बेहद जरूरी है। कई बार पिता अपने बच्चे की सफलता पर भी प्रोत्साहित नहीं करते हैं, जिस कारण बॉन्ड और कमजोर होने लगता है। साथ ही कई बार बच्चे भी अपने पिता के किए गए कार्यों को प्रोत्साहित नहीं करते हैं, जिसका प्रभाव पिता पर भी होता है।

तो ये थीं कुछ ऐसी गलतियां जो बच्चे और पिता के बीच बने बॉन्ड को खराब करती हैं। आपको हमारा यह आर्टिकल अगर पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हर जिंदगी के साथ। 

image credit- freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।