अपनी उम्र, धन, ऐश्वर्य आदि से जुड़ी बातें हर कोई जानना चाहता है। हर व्यक्ति के मन में इस बात को जानने की जिज्ञासा होती है कि आने वाले वक्त में उसके साथ क्या शुभ-अशुभ बीतने वाला है। हमारी हथेलियों में बनी अलग-अलग रेखाओं में इन सभी सवालों के जवाब छिपे होते हैं।

हथेली की रेखाओं के अलावा कुछ रेखाएं हमारी कलाई में भी होती हैं। इन रेखाओं को मणिबंध रेखा या ब्रेसलेट लाइन कहा जाता है। अमूमन किसी का भी ध्यान इन रेखाओं पर नहीं जाता है, मगर यह बहुत ही महत्वपूर्ण रेखाएं होती हैं। ये रेखाएं जीवन में घटने वाली कई बड़ी घटनाओं की ओर संकेत करती हैं। 

इन रेखाओं के विषय में भोपाल के ज्योतिषाचार्य एवं हस्तरेखार्विंद विनोद सोनी पोद्दार कहते हैं, 'यह रेखाएं महत्वपूर्ण होती हैं और व्यक्ति की जीवन यात्रा को दर्शाती हैं। इस रेखा को देख कर आपकी उम्र से लेकर संतान, रोग और तरक्की एवं दुर्घटना तक का पता लगाया जा सकता है।'

manibandh rekha for good luck

कहां होती हैं मणिबंध रेखाएं 

हथेली की जहां से शुरुआत होती है उसी स्थान पर आपको 1, 2 या 3 रेखाएं नजर आएंगी। अलग-अलग व्यक्ति के हाथों में इन रेखाओं की संख्या भी भिन्न होती हैं । मणिबंध रेखाएं दोनों ही हाथों में होती हैं। किसी की कलाई पर यह स्‍पष्‍ट नजर आती हैं तो किसी की कलाई पर यह मोड़ने पर दिखती हैं। पंडित जी कहते हैं, 'महिला हो या पुरुष दोनों के ही दाएं और बाएं हाथ की कलाई पर मौजूद इन रेखाओं को देखा जाता है। ऐसा कुछ भी नहीं है कि महिला है तो बाएं हाथ को देखा जाए और पुरुषों के दाएं हाथ को।'

इसे जरूर पढ़ें- पंडित जी से जानें क्‍या कहती है आपकी जीवन रेखा

मणिबंध रेखा के शुभ फल 

  • अगर आपकी कलाई पर मणिबंध रेखा स्पष्ट नजर आती हैं और कहीं से भी कटी हुई नहीं होती हैं तो ऐसे व्यक्ति का भाग्य प्रबल होता है। 
  • यह रेखा अगर आपकी कलाई में लाल या गुलाबी रंग की नजर आती है तो यह संकेत है कि आपके जीवन में जो भी संकट आएंगे, उनसे आप आसानी से उबर पाएंगे। 
  • अगर दोनों कलाइयों में 3 मणिबंध रेखाएं है तो यह बेहद शुभ होता है। ऐसे व्यक्ति मन के साफ होते हैं, किसी को धोखा (जानें प्यार में सक्सेस मिलेगी या फिर धोखा ) देना या किसी को रौंद कर खुद आगे बढ़ जाने का ख़्याल उनके मन में कभी नहीं आता है। 
  • अगर दोनों में किसी भी हथेली की मणिबंध रेखा से यदि कोई रेखा निकलकर चंद्र पर्वत तक जाती है तो इसे भी बेहद शुभ माना गया है। ऐसे व्यक्ति को विदेश जाने का मौका मिलता है और साथ ही उन्हें कम मेहनत में अधिक सफलता मिल जाती है। 
  • पंडित जी कहते हैं, 'दोनों कलाई में 3 मणिबंध रेखा के साथ-साथ अगर किसी के माथे पर भी 3 रेखाएं नजर आती हैं तो ऐसे लोग बहुत ही भाग्यशाली होते हैं। ऐसे लोगों को जीवन में कभी न कभी बहुत अधिक धन प्राप्त हो सकता है। इतना ही नहीं, ऐसे लोग काफी फेमस भी हो जाते हैं।'
manibandh lines predictions

मणिबंध रेखा के अशुभ फल 

  • अगर किसी की दोनों कलाइयों में एक मणिबंध रेखा है तो ऐसे व्यक्ति का जीवन बहुत कठिन होता है। मगर केवल एक तिल से इसका अशुभ फल शुभ में भी बदल सकता है। पंडित जी कहते हैं, ' जिन लोगों की कलाई में एक मणिबंध रेखा हो और आंखों पर तिल हो या मणिबंध रेखा से एक रेखा निकलकर चंद्र पर्वत तक जाती हो तो ऐसे लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि मेहनत करने पर उन्हें सफलता ही मिलती है और ऐसे लोगों का जीवन आराम से कट जाता है।'
  • अगर किसी की कलाई में बनी मणिबंध रेखा जंजीरदार है या कटी हुई है तो यह बहुत ही अशुभ होता है। ऐसे लोगों को जीवन भर संघर्ष करना होता है। बहुत मेहनत करने पर भी उन्हें सफलता (लक्ष्य पाने के लिए 5 टिप्स अपनाएं ) नहीं मिलती है। पंडित जी कहते हैं, 'अगर जंजीरदार मणिबंध रेखा में तिल है तो ऐसे व्यक्ति को किसी बड़े रोग का सामना करना पड़ सकता है।'
  • अगर कलाई पर बनी मणिबंध रेखा का रंग नीला या पीला है तो ऐसे व्यक्ति भी रोगी होते हैं। 
  • अगर कलाई पर मौजूद 2 मणिबंध रेखाएं आपस में एक-दूसरे से जुड़ रही हैं तो यह भी अशुभ होता है। इस स्थिति में व्यक्ति के साथ बड़ी दुर्घटना हो सकती है, जिसमें उसका अंग-भंग हो सकता है। 
  • यदि कलाई में 3 मणिबंध रेखाएं हैं, मगर वह स्पष्ट नजर नहीं आ रही हैं तो ऐसे व्यक्ति को सफलता पाने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ता है। जब उसकी आधी उम्र निकल जाती है तब जाकर उसे सफलता मिलती है। ऐसे लोगों के जीवन में हर कार्य विलंब से होता है। 
 
palm reading expert tips for property

मणिबंध रेखा के अन्य संकेत 

जिनकी दोनों कलाई में स्पष्ट रूप से केवल 1 मणिबंध रेखा नजर आती है,  उनकी आयु (हृदय रेखा के बारे में जानें )अधिक नहीं होती है। 30 से 40 वर्ष की उम्र तक ही उनका जीवन होता है। वहीं 2 मणिबंध रेखा वाले व्यक्ति भी 50 से 60 की उम्र तक जीते हैं। जिन लोगों की कलाई में 3 स्पष्ट मणिबंध रेखा नजर आती हैं, वे लोग 70 से 80 वर्ष की आयु तक जीवित रहते हैं। कुछ लोगों की कलाई में 4 मणिबंध रेखाएं भी होती हैं, ऐसे लोग दीर्घायु होते हैं। 

कलाई में दो या चार मणिबंध रेखा वाले व्यक्ति को पहली संतान के रूप में कन्या रत्न की प्राप्ति होती है। वहीं 1 या 3 मणिबंध रेखा होने पर पुत्र रत्न की प्राप्ति हो सकती है। 

यह जानकारी आपको अच्‍छी लगी हो तो इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करें। धर्म, ज्योतिष और हस्त रेखाओं से जुड़े और भी आर्टिकल पढ़ने के लिए देखती रहें हरजिंदगी।