कठुआ में आठ साल की बच्ची आसिफा के साथ हुए गैंगरेप और उसकी हत्या के मामले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। इस गैंगरेप की जांच में जुटी पुलिस ने कहा है कि आरोपियों में से एक सांझी राम ने हत्या की बात कबूल ली है। पुलिस के साथ हुई पूछताछ में सांझी राम ने बताया कि उसे बच्ची के अपहरण के चार दिनों बाद बलात्कार की बात पता चली और बलात्कार में अपने बेटे के भी शामिल होने का पता चला। इसके बाद उसने बच्ची आसिफा की हत्या करने का फैसला ले लिया। 

इस मामले से जुड़ी जांचकर्ताओं की टीम ने बताया कि 10 जनवरी को आसिफा से उसी दिन सबसे पहले सांझी राम के नाबालिग भतीजे ने बलात्कार किया था और इसके बाद सांझी राम को इस घटना की जानकारी 13 जनवरी को मिली जब उसके भतीजे ने अपना गुनाह कबूल किया। 

kathua asifa gangrape case inside

Image Courtesy: HerZindagi

सांझी राम का बड़ा बेटा भी था इस गैंगरेप में शामिल 

सांझी राम ने जांचकर्ताओं को बताया कि उसने ‘देवीस्थान’ में पूजा की और अपने भतीजे को घर प्रसाद ले जाने को कहा लेकिन वह देर करता रहा। इसके गुस्से में उसे पीट दिया। पिटने के बाद नाबालिग ने सोचा कि शायद उसके चाचा को लड़की से रेप करने की बात पता चल गई है और उसने खुद ही सारी बात कबूल कर ली। 

Read more: मासूम आसिफा के साथ हुई क्रूरता में मजा खोज रहे हैं घिनौनी सोच वाले लोग

नाबलिग ने इस मामले में अपने चचेरे भाई का नाम भी लिया है कि सांक्षी राम का बड़ा बेटा विशाल भी इस मामले में शामिल था। दोनों ने मंदिर के अंदर बच्ची से बलात्कार किया था। यह जानने के बाद सांझी राम ने तय किया कि बच्ची को मार दिया जाना चाहिए जिससे वह अपने बेटे तक पहुंचने वाले हर सुराग को मिटा सके। 

14 जनवरी को सांझी राम ने आसिफा की हत्या कर दी लेकिन इसके बाद चीजें प्लान के अनुसार नहीं हुईं। वह बच्ची को मारने के बाद उसे हीरानगर नहर में फेंकना चाहता था लेकिन आसपास कोई वाहन नहीं होने के कारण उसे उसी ‘देवीस्थान’ में वापस ले आया जिसका सांझी राम सेवादार था। 

Read more: पोर्न साइट्स हैं गैंग रेप के लिए जिम्मेदार?

17 जनवरी को आसिफा का शव जंगल से बरामद हुआ था। साथ ही जांचकर्ताओं ने बताया कि सांझी राम ने अपने भतीजे को जुर्म स्वीकार करने के लिए तैयार कर लिया था लेकिन बेटे विशाल को इससे दूर रखा था और उसे आश्वासन दिया था कि उसे रिमांड होम से जल्द बाहर निकाल लेगा। इस मामले में नाबालिग के अलावा सांझी राम, उसका बेता विशाल और पांच अन्य को आरोपी बनाया गया है। 

Recommended Video