• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

मुंबई की इस जगह को आखिर क्यों कहा जाता है चोर बाजार, जानिए इससे जुड़े रोचक तथ्य

आपने भारत के कई चोर बाजार के बारे में सुना होगा, लेकिन आज आप मुंबई के चोर बाजार के बारे में जानेंगे। 
Published -09 Jun 2022, 16:16 ISTUpdated -09 Jun 2022, 16:40 IST
author-profile
  • Shadma Muskan
  • Editorial
  • Published -09 Jun 2022, 16:16 ISTUpdated -09 Jun 2022, 16:40 IST
Next
Article
Mutton Street Chor Bazaar Mumbai in Hindi

Chor Bazaar Mumbai History: जब भी महिलाओं को शॉपिंग का ख्याल आता है, तो वो ऐसे बाजार की तलाश करती हैं जहां कम दामों पर ज्यादा सामान खरीदा जा सके। इसलिए हर राज्य में कई ऐसे बाजार होते हैं, जिन्हें चोर बाजार कहा जाता है जैसे- मुंबई का फेमस चोर बाजार, दिल्ली में स्थित चोर बाजार आदि। लेकिन कहा जाता है कि मुंबई का चोर बाजार काफी फेमस और प्राचीन है। 

क्योंकि मुंबई के इस बाजार में आपको हर चीज आसानी से मिल जाएगी। आप खाने-पीने की चीजों से लेकर ब्यूटी प्रोडक्ट और फर्निशिंग के आइटम्स भी किफायती दामों पर आसानी से खरीद सकती हैं। हालांकि, आपको नाम थोड़ा अजीब लग सकता है, लेकिन आपने कभी सोचा है कि इसे चोर बाजार क्यों कहा जाता है और इसके पीछे का क्या इतिहास है। अगर नहीं, तो आइए जानते हैं।  

चोर बाजार का रोचक इतिहास- 

Facts about Chor Bazaar Mumbai

मुंबई का ये मार्केट काफी पुराना है जहां ब्रिटिश शासन काल से ही सामान को बेचा जाता था। कहा जाता है कि ये बाजार यहां लगभग 150 वर्षों से अधिक समय से है। ब्रिटिश शासन के बाद इस बाजार में पुराने सामानों को बेचा जाने लगा था, जिसमें से कुछ लोग चोरी का सामान भी यहां आकर बेचा करते थे। (दिल्ली के इन बाजारों से करें शादी की शॉपिंग)

इसे ज़रूर पढ़ें- ये हैं India के टॉप 5 ‘चोर बाजार’, जूते से लेकर मिलती है कार

हालांकि, आधुनिक काल में इस बाजार में चोरी का सामान न बेचकर सेकेंड हैंड सामान बेचा जाने लगा और अब ये भारत का सबसे बड़ा पिस्सू बाजार बन गया। बता दें कि ये मटन स्ट्रीट ग्रांट रोड दक्षिण मुंबई में भिंडी बाजार के पास है। यहां दूर-दूर से लोग खरीदारी करने आते हैं। 

नाम के पीछे का रहस्य- 

Why Called Chor Bazaar Mumbai

आप जब भी किसी चोर बाजार के बारे में जानते होंगे, तो यकीनन आपको दिमाग में ये सवाल जरूर आता होगा कि इन्हें चोर बाजार क्यों कहा जाता है। बता दें कि चोर बाजार उन मार्केट को कहा जाता है, जहां चोरी या फिर सेकेंड हैंड सामान को बेचा जाता है। लेकिन मुंबई का चोर बाजार का शाब्दिक अर्थ है थ्राइव्स मार्केट, जिसे शुरुआत में शोर बाजार कहा जाता था। (ये हैं भारत के सबसे सस्ते मार्केट)

क्योंकि यहां पर तमाम दुकानदार अपना सामान आवाज लगाकर बेचा करते थे। यहां काफी भीड़ लगा करती थी और फिर अंग्रेजों इसे चोर बाजार के नाम से पुकारने लगे। अब चोर बाजार के नाम से इसे सिर्फ मुंबई में ही नहीं बल्कि पूरे भारत में जानते हैं। 

खरीद सकते हैं ये सामान-

How to Reach Chor Bazaar Mumbai

इस बाजार में आपको सेकंड हैंड या फिर चोरी किया हुआ सामान मिलता है। आपको यहां कई तरह की चीजें आसानी से मिल जाएंगी, लेकिन आपको यहां प्राचीन और विंटेज आइटम, झूमर, पुराने कैसेट व वीडियो टेप, पुराने जमाने के रेडियो और लकड़ी का सामान, फर्नीचर,ऑटोमोबाइल पार्ट्स, इलेक्ट्रॉनिक सामान आदि ज्यादा मिलेंगे।

इसे ज़रूर पढ़ें- शॉपिंग करने की हैं शौकीन तो भारत के इन राज्यों में उठाएं स्ट्रीट मार्केट का लुत्फ 

अगर आप यहां जाना चाहते हैं तो पहले आपको मुंबई जाना होगा। फिर वहां से आप इस बाजार को एक्सप्लोर करने के लिए सड़क परिवहन का सहारा ले सकते हैं। हमें उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। इसे आगे शेयर करने में हमारी मदद करें और इसी तरह के शानदार आर्टिकल्स पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।

Image Credit- (@Freepik and Google images)  
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।