कार्तिक का महीना सभी महीनों में सबसे ज्यादा पावन और भगवान को समर्पित माना जाता है। यही वजह है कि इस महीने में कई व्रत एवं त्यौहार होते हैं। इस वर्ष कार्तिक का महीना 1 नवंबर से शुरू हो गया है। कार्तिक का महीना शरद पूर्णिमा के अगले दिन से शुरू होकर कार्तिक पूर्णिमा के दिन समाप्त हो जाता है। इस साल कार्तिक का महीना 1 नवम्बर से शुरू होकर 30 नवंबर को कार्तिक पूर्णिमा के साथ समाप्त हो जाएगा। कार्तिक के महीने का हिन्दू धर्म में और पुराणों में विशेष महत्त्व बताया गया है। इसके अलावा कार्तिक के महीने में दीप दान का भी विशेष महत्त्व है। आइये जानें कार्तिक के पावन महीने में दीप दान करना क्यों लाभकारी माना जाता है। 

क्यों किया जाता है दीप दान 

deep lit inkartik month

कार्तिक माह में दीप दान करना बहुत शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि कार्तिक माह में आकाश मंडल का सबसे बड़ा ग्रह सूर्य अपनी नीच की राशि तुला में गमन करता है, इस वजह से वातावरण में अंधकार छाने लगता है। यही कारण है कि इस पूरे माह में दीपक जलाने, जप -तप करने तथा दान और स्नान करने का विशेष महत्व बताया गया है।  अगर किसी विशेष कारण से कार्तिक के पूरे महीने में प्रत्येक दिन आप दीपदान करने में असमर्थ हैं, तो कार्तिक के विशेष दिन यानी कि कार्तिक पूर्णिमा को अवश्य ही दीपक प्रज्जवलित करने चाहिए। 

कार्तिक में दीप-दान का महत्व 

lamps lit in kartik

ऐसा कहा गया है कि जो व्यक्ति कार्तिक मास में श्रीकेशव के निकट अखण्ड दीपदान करता है, वह दिव्य कान्ति से युक्त हो जाता है। कार्तिक माह में पहले पंद्रह दिनों में अँधेरी रातें होती हैं। मान्यता ये है कि भगवान विष्णु के निद्रा त्यागने के कुछ दिन पूर्व यानी की कार्तिक माह में दीप जलाने से जीवन का अंधकार दूर होता है। जो व्यक्ति कार्तिक मास में दीपदान करता है, वह दिव्य कान्ति से युक्त हो जाता है। 

इसे जरूर पढ़ें : कार्तिक मास में तुलसी पूजा का क्या है महत्व, जानें इसकी कथा

Recommended Video


नियमित रूप से दीपक जलाएं 

ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति भक्ति भाव से पूर्ण होकर कार्तिक के पूरे महीने भगवान विष्णु का पूजन करता है उसे मरणोपरांत भी स्वर्ग की प्राप्ति होती है। भगवान विष्णु के मन्दिर को दीपों से आलोकित करने पर व्यक्ति को धन, यश और कीर्ति प्राप्त होती है और उसके सात कुल पवित्र हो जाते हैं। मिट्टी के दीपक में घी या तिल का तेल डालकर कार्तिक पूर्णिमा तक नियमित रूप से दीप प्रज्वलित करें, इससे सभी कष्टों से मुक्ति मिलेगी ।

मंदिर में करें दीप दान 

deep daan in kartik month

पुराणों के अनुसार जो मनुष्य देव मंदिर तथा घर के मंदिर में दीप दान करता है वह सभी सुखों को प्राप्त करता है। पद्मपुराण के अनुसार मंदिरों में और नदी के किनारे दीप दान करने से माता लक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती हैं। इसके अलावा भूमि पर या किसी दुर्गम स्थान पर दीपदान करने से व्यक्ति को स्वर्ग की प्राप्ति होती है। 

इसे जरूर पढ़ें : Kartik Month 2020: जानें कब से शुरू हो रहा है कार्तिक माह, क्या है इसका महत्त्व

इस प्रकार कार्तिक के महीने में नियमित रूप से दीप दान करने से माता लक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होने के साथ कई पुण्यों का फल एक साथ प्राप्त होता है। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik