कार्तिक का महीना इस साल 1 नवम्बर से शुरू हो रहा है। मान्यतानुसार कार्तिक का महीना पूर्ण रूप से भगवान विष्णु को समर्पित होता है। इसलिए इस महीने में भगवान विष्णु सहित माता लक्ष्मी की पूजा अर्चना की जाती है। इसके अलावा इसी महीने में तुलसी विवाह भी होता है और कार्तिक के महीने में तुलसी पूजन का विशेष महत्त्व है। कहा जाता है कि कार्तिक के महीने में तुलसी की पूजा करने से विष्णु जी को प्रसन्न किया जा सकता है और घर में सुख समृद्धि आती है। आइए जाने तुलसी पूजन का महत्त्व और इससे जुड़ी कथा क्या है -

क्‍यों होती है कार्तिक में तुलसी की पूजा 

tulsi pujan

कार्तिक माह की अमावस्‍या को तुलसी जी की जन्‍म तिथ‍ि माना गया है। पुराणों में तुलसी के जन्‍म की एक कथा इस प्रकार बताई गई है- तुलसी पूर्व जन्‍म में वृंदा थीं और जालंधर राक्षस की पत्‍नी थीं। जालंधर अत्यंत निर्दयी राक्षस था और उसके अत्‍याचारों की वजह से भगवान विष्‍णु ने जालंधर का वध क‍िया था। इससे दुखी वृंदा ने भी अपनी देह त्यागने का निर्णय लिया और तब भगवान विष्‍णु ने वृंदा को अगले जन्म में अपनी प्रिया बनाने का वरदान दिया। वृंदा के सतीत्‍व और पतिव्रता धर्म के कारण ही उसे विष्‍णुप्र‍िया बनने का वरदान मिला। इसलिए (मलमास में क्यों होती है तुलसी की पूजा) तुलसी को श्रीहरि की पूजा में विशेष स्‍थान द‍िया जाता है। 

तुलसी पूजन का महत्त्व 

tulsi puja in kartik

हिंदू कैलेंडर में कार्तिक मास का विशेष महत्व बताया गया है,साथ ही कार्तिक मास के दौरान विशेष तौर पर तुलसी पूजा को महत्‍वपूर्ण बताया गया है। तुलसी का पौधा मुख्य रूप से पूजनीय माना जाता है। तीज-त्यौहार हो या पूजा-पाठ हर काम में इस पवित्र पौधे की पत्तियों को इस्तेमाल किया जाता है। खासतौर पर विष्णु जी के पूजन में विशेष रूप से तुलसी दल चढ़ाया जाता है। कार्तिक महीने में तुलसी का महत्व और भी बढ़ जाता है। कार्तिक माह में भगवान श्रीहरि की पूजा में तुलसी चढ़ाने का फल कई अच्छे कर्मों के पुण्य के बराबर होता है। जिन व्यक्तियों के काम रुके हुए हैं ,जो संतान प्राप्ति की इच्छा रखते हैं उन्हें विशेष रूप से तुलसी पूजन करना चाहिए और तुलसी के पौधे में रोज़ दीपक प्रज्ज्वलित करके आरती करनी चाहिए।  

इसे जरूर पढ़ें :Kartik Month 2020: जानें कब से शुरू हो रहा है कार्तिक माह, क्या है इसका महत्त्व

Recommended Video


कैसे करें तुलसी का पूजन 

  • तुलसी पूजन करने के लिए सबसे पहले तुलसी के गमले या चौरे को अच्छी तरह से साफ़ करें। 
  • तुलसी के पौधे की जड़ में जल अर्पित करें। 
  • तुलसी की आरती करें और तुलसी के सामने दीप प्रज्ज्वलित करें।

इस प्रकार तुलसी का पूजन करना कार्तिक महीने में अत्यंत फलदायी होता है। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik and Pinterest