त्योहार का मौसम चल रहा है। दिवाली का त्योहार एक बार फिर साल भर के इंतजार के बाद आने वाला है। इस त्‍योहार को धूम-धाम से मनाने की तैयारियां भी लोगों ने शुरू कर दी हैं। दिवाली ऐसा त्योहार हैं, जिसमें लोग अपने घर को खूब सजाते हैं। इस दौरान लाइट्स के साथ-साथ धार्मिक महत्व रखने वाले कुछ चिन्हों से भी लोग अपना घर सजाते हैं। इनमें से एक है स्‍वास्तिक। 

स्वास्तिक को हिंदू धर्म में मंगल प्रतीक माना गया है। हिंदू परिवारों में इस चिन्ह के प्रति इतनी आस्था है कि लोग अपने घर की दीवारों और दरवाजों में स्‍वास्तिक चिन्‍ह को बनाते हैं। ऐसा कहा जाता है कि यह चिन्ह इतना ज्यादा शक्तिशाली होता है कि इससे नकारात्मक ऊर्जा घर में प्रवेश नहीं करती है। 

वैसे तो आप हर तीज-त्योहार पर हल्दी-कुमकुम की मदद से स्वास्तिक का चिन्ह बना सकती हैं, मगर जब नवरात्रि और दिवाली की बात आती है तो लोग घर में डेकोरेटिव स्वास्तिक का चिन्ह लगाना पसंद करते हैं। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा के प्रवेश के साथ ही सजावट भी हो जाती है। 

आज हम आपको बताएंगे कि आप नवरात्रि और दिवाली पर किस तरह से घर पर डेकोरेटिव स्वास्तिक का चिन्ह बना सकती हैं। 

फूलों का स्वास्तिक 

त्योहारों पर रंगोली बनाने का प्रचलन बहुत पुराना है। रंगोली को भी बहुत ज्यादा शुभ माना जाता है। अगर आप भी नवरात्रि या दिवाली के त्योहार पर रंगोली बनाती हैं, तो आप फूलों से स्वास्तिक बना सकती हैं और उसके चारों तरफ दिया रख सकती हैं। 

फूलों से स्वास्तिक की रंगोली बनाने के लिए आप गेंदे और गुलाब जैसे फूलों का चयन कर सकती हैं। केवल फूलों का स्वास्तिक बनाने के लिए आपको काफी मात्रा में फूलों की व्यवस्था करनी पड़ सकती है, इसलिए आप फूलों के साथ रंगोली के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले रंगों का भी प्रयोग कर सकती हैं। 

 इसे जरूर पढ़ें- यूनिक तरीके से सजाना है आशियाना तो फेयरी लाइट्स का ऐसे करें इस्तेमाल

diwali  decoration  ideas swastik

दफ़्ती का स्वास्तिक 

अगर आपको घर की दीवार या फिर दरवाजे के लिए कोई डेकोरेटिव आइटम बनाना है, तो आप दफ़्ती से स्वास्तिक का चिन्ह बना कर उसे विभिन्न चीजों से डेकोरेट कर सकती हैं। इसके लिए पहले आपको दफ़्ती  में चार दिशाओं में एक दूसरे को मिलाते हुए चार भुजाएं खींच कर स्वास्तिक तैयार करना है। (जानें स्वास्तिक के लाभ)

इस बात का ध्यान रखें कि आप जब स्वास्तिक बनाएं तो रेखाओं को क्रॉस न करें बल्कि पहले स्वास्तिक का दायां भाग बनाएं और फिर बायां भाग बनाएं।  इसके बाद दफ़्ती  को फैब्रिक पेंट से रंग दें। लाल रंग का स्वास्तिक बहुत अधिक शुभ माना जाता है और यह दिखने में भी अच्छा लगता है। इसके साथ ही आप, स्वास्तिक को अन्य सजावटी चीजों से और भी डेकोरेट कर सकती हैं।  

थर्माकोल का स्वास्तिक 

थर्माकोल शीट बाजार में आपको आसानी से मिल जाएगी। आप इस शीट पर पहले पेंसिल की मदद से स्वास्तिक बना लें। इसके बाद आप कटर की मदद से स्वास्तिक के शेप में थर्माकोल  को कट कर लें। फिर लाल रंग के वेल्‍वेट पेपर से थर्माकोल के स्वास्तिक को कवर कर लें। फिर आप इसे डेकोरेट करने के लिए अन्‍य सजावटी सामग्रियों का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। 

इस तरह के स्वास्तिक को आप घर की किसी भी दक्षिण दिशा की दीवार पर लगा सकती हैं। वास्‍तु के हिसाब से भी इस दिशा को स्वास्तिक के चिन्ह के लिए बहुत शुभ माना गया है। 

इसे जरूर पढ़ें- घर के मंदिर को सजाने के 3 आसान और बेहतरीन तरीके जानें

swastik puja  vidhi

लकड़ी का स्वास्तिक 

आप लकड़ी की मदद से भी स्वास्तिक तैयार कर सकती हैं। इस तरह का स्वास्तिक बनाने के लिए पहले अपने मनचाहे शेप (यहां पर हमारा आशय स्वास्तिक बनाने के लिए खींची जाने वाली रेखाओं से है। बाकी आपको स्वास्तिक के लिए 4 दिशाओं में 4 भुजाएं ही खींचनी हैं। रेखाओं का आकार स्वास्तिक को डिजाइन बनाने के लिए आप अपने हिसाब से तय कर सकती हैं।) में कारपेंटर से कटवा लें। (घर के मंदिर में इस तरह बनाएं 'स्‍वास्तिक')

अब आप स्‍वास्तिक को ऑयल पेंट से कलर करें। कलर लाल या पीले चुनेंगी तो बेहतर रहेगा। फिर आप इसे अपने हिसाब से अन्य चीजों से डेकोरेट कर सकती हैं। इस तरह के स्वास्तिक को आप घर की दीवारों या फिर दरवाजों पर टांग सकती हैं।  

उम्मीद है कि आपको ऊपर बताए गए आइडिया पसंद आए होंगे। इस बार त्योहार पर आप भी अपने घर के लिए इसी तरह से स्वास्तिक का चिन्ह बना सकती हैं। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई हो, तो आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें। इसी तरह और भी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।  

 Image Credit: freepik, shutterstock