घर की सुंदरता को बढ़ाने वाले पौधों के अलावा आजकल कुछ लोग उपयोगी पौधों को लगाने का भी शौक रखते हैं। बहुत-से लोग उपयोगी पौधों में सहजन का पौधा भी लगाने लगे हैं। इसे मोरिंगा ट्री, ड्रमस्टिक ट्री, चमत्कारी ट्री और लाइफ ऑफ़ ट्री के रूप में भी जाना जाता है। मोरिंगा एक तरह का औषधीय पौधा है जिसे कई तरह से उपयोग किया जा सकता है। इसका पाउडर मोरिंगा के पेड़ की पत्तियों से बनाया जाता है और इसमें ढेर सारे औषधीय गुण पाए जाते हैं।

आपको बता दें कि इस सुपरफूड का इस्तेमाल हजारों वर्षों से फाइटोमेडिसिन और आयुर्वेदिक उपचार में पारंपरिक उपाय के रूप में किया जाता रहा है। अगर आप भी इसका लाभ उठाना चाहते हैं, तो इसके पौधे को गमलों, घर या खेतों में आसानी से लगा सकते हैं। सहजन का पौधा लगाना बहुत आसान है, तो आज इस आर्टिकल में हम आपको सहजन, मोरिंगा का पौधा लगाने के बारे में बताने जा रहे हैं। इन टिप्स को अपनाकर आप आसानी से गमले में घर पर सहजन का पौधा उगा सकते हैं, तो आइए जानते हैं.. 

मोरिंगा लगाने के लिए सामग्री 

moringa plant ()

मोरिंगा का पौधा लगाने के लिए आपको कुछ चीजों की ज़रूरत पड़ेगी। तो आइए जान लेते हैं...

  • सहजन/मोरिंगा पौधे की कटिंग या बीज 
  • गमला
  • मिट्टी
  • खाद
  • पानी

इसे ज़रूर पढ़ें- पौधों के पत्ते हो रहे हैं पीले तो इस तरह करें देखभाल 

इस तरह लगाएं पौधा

plant grow

  • मोरिंगा की कटिंग या बीज को गमले में लगाने के लिए सबसे पहले आप मध्यम या बड़ा आकार का अपनी इच्छानुसार गमला लें।
  • अब आप 50% कोको-पीट और 50% वर्मीकम्पोस्ट (केंचुआ खाद या गोबर) लें और दोनों को अच्छी तरह से मिला लें। फिर इसे गमले में भर दें।
  • पॉटिंग मिक्स हो जाने के बाद बीज या कटिंग लें। कटिंग लेते समय टहनी को तिरछा काटें और बीज को गमले में लगा दें।
  • कटिंग या बीज को लगाने के बाद अब बारी आती है गमले में पानी डालने की। तो अब आप उचित मात्रा में गमले में अच्छी तरह से पानी डाल दें।
  • अब आपका गमला पूरी तरह से तैयार है। पौधा की ग्रोथ होने में काफी टाइम लगता है, तो आप थोड़ा सब्र करें। अगर आपको मोरिंगा पौधे की कटिंग नहीं मिल रही है, तो आप नर्सरी से भी पौधा खरीदकर ला सकते हैं।

    Recommended Video

इन बातों का रखें ध्यान 

  • आप रोजाना गमले में नियमित रूप से पानी डालें।
  • ध्यान रहे कि गमले पर सीधी धूप पड़े क्योंकि इस पौधे को धूप की जरूरत होती है। 
  • गमले में लगे कटिंग या बीज को आप लगभग 10 दिन के बाद चेक कर सकती हैं। साथ ही, अगर आपकी कटिंग पूरी तरह से अंकुरित (फैलाव आना) हो गई है, तो समझ लीजिए आपका पौधा सही उगा है।
  • इस गमले की थोड़ी ग्रोथ लगभग 20 से 25 दिनों के बाद होना शुरू होगी और लगभग 90 दिन के बाद इसमें फूल आ जाते हैं। 
  • इसके पौधे को अगर आपको जमीन में रोपना हो, तो इसके लिए 15 सेंटीमीटर ऊंचे और दो फीट चौड़ी मेड़ बनाकर लगाएं।
  • पौधे को रोपने के समय फास्फोरस, नाइट्रोजन  और पोटाश को मिट्टी में गोबर की खाद के साथ इस्तेमाल करें।
  • 4 महीने के बाद आप पौधे की नियमित रूप से कटाई कर सकते हैं। साथ ही, आप हर 4 महीने में गोबर की खाद गमले में मिला सकती हैं 
  • पौधे में किसी भी तरह की कीटनाशक या रासायनिक युक्त खाद का सीधा इस्तेमाल ना करें।
  • अगर आप पौधे में कीड़ों को लगने से रोकना चाहते हैं, तो नीम के तेल को पानी में घोलकर इसका स्प्रे बनाकर इस्तेमाल करें।  

इन टिप्स को अपनाकर आप आसानी से सहजन का पौधा घर में ही उगा सकती हैं। आपको ये लेख पसंद आया हो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। साथ ही जुड़ी रहें हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (@Freepik and Google)