सेफ्टी पिन का इस्तेमाल हम सबने किसी न किसी तरह से किया होगा। महिलाओं के लिए तो ये एक ऐसा आविष्कार है जिसने उनकी कई समस्याओं को हल किया है। सेफ्टी पिन एक ऐसी चीज़ है जिसकी जरूरत गाहे-बगाहे पड़ ही जाती है। सेफ्टी पिन एक ऐसा आविष्कार है जो अगर आपकी पर्स में मौजूद हो तो किसी भी जगह आपके काम आ सकती है। इसे सिर्फ कपड़े जोड़ने के लिए ही नहीं, थैले पैक करने के लिए, दांतों से खाना निकालने के लिए, मोबाइल का सिम कार्ड स्लॉट निकालने के लिए भी लोग इस्तेमाल करने लगे हैं। 

ऐसे में क्यों न सेफ्टी पिन के बारे में कुछ जान लिया जाए। सेफ्टी पिन का इतिहास बहुत ही रोचक रहा है और ये आविष्कार सिर्फ कर्ज चुकाने के लिए किया गया था। ये आविष्कार सिर्फ 3 घंटे के अंदर ही कर दिया गया था और इसे बनाने वाला जिंदगी भर गुमनामी में ही जिया। 

safety pin first

वॉल्टर हंट की कहानी जिसने दुनिया को दिए कई नए आविष्कार-

जिस आविष्कार को हम आज मॉर्डन सेफ्टी पिन कहते हैं उसे वॉल्टर हंट ने डिजाइन किया था। वॉल्टर दिमाग के बहुत तेज़ थे और लगातार नई चीज़ें बनाते रहते थे। 29 जुलाई 1786 को पैदा हुए वॉल्टर कई आविष्कारों को अपने नाम कर चुके थे। पर वो काफी गरीब थे और उनके ऊपर 15 डॉलर का कर्ज भी था। 

safety pin patent

इसे जरूर पढ़ें- आखिर क्यों एम्बुलेंस को हमेशा उल्टा लिखा जाता है गाड़ियों पर?

1842 में अपने इस कर्ज को चुकाने के लिए वॉल्टर ने लगातार बहुत कोशिश की और फिर उन्होंने एक मेटल के तार को मोड़ते हुए ऐसी पिन बनाई। हालांकि, शुरुआती डिजाइन में बक्कल और स्प्रिंग लगा हुआ था, लेकिन उन्हें ये समझ आ गया था कि उन्होंने एक नया आविष्कार कर लिया है जिसे "ड्रेस पिन' कहा जाता था।

एक कंपनी को हंट ने ये आविष्कार बेचा और उन्हें बहुत बड़ा ऑर्डर मिला। इसके बाद उन्होंने 1849 में इसे पेटेंट करवाया और इसे 400 डॉलर में बेच दिया। 

वैसे तो इस आविष्कार को लेकर कई बिजनेसमैन ने बहुत सारे पैसे कमाए हैं पर वॉल्टर को सिर्फ 400 डॉलर ही मिले हैं। 

वॉल्टर ने सेफ्टी पिन के साथ किए हैं ये आविष्कार-

वॉल्टर ने सेफ्टी पिन के साथ-साथ फाउंटेन पेन, आर्टिफिशियल स्टोन, चाकू की धार तेज़ करने वाला औज़ार, आइस बोट, स्पिनर और शुरुआती दौर में एक सिलाई मशीन भी बनाई थी, हालांकि, सिलाई मशीन का पेटेंट उन्होंने ये सोचकर नहीं करवाया था कि इसके कारण कई लोगों की आजीविका खतरे में पड़ जाएगी। इसे बाद में 1954 में मेरिट सिंगर ने इसका पेटेंट कराया था। 

वॉल्टर के इतने आविष्कारों के बाद भी वो गुमनामी में 1859 में मरे थे। 

invention of safety pin

इसे जरूर पढ़ें- आखिर क्यों जीन्स की पॉकेट पर होते हैं छोटे बटन, जानें  

सेफ्टी पिन को नहीं मानते थे बड़ा आविष्कार- 

वॉल्टर हंट सेफ्टी पिन को बहुत बड़ा आविष्कार नहीं मानते थे और उन्हें ऐसा नहीं लगा था कि उन्होंने कुछ नया बना लिया है, लेकिन बाद में इस 8 इंच के तार से बनाई गई ड्रेस पिन का इस्तेमाल कई चीज़ों के लिए होने लगा।  

वॉल्टर के इतने आविष्कारों के बाद भी वो सेफ्टी पिन ही थी जिसने उनके कर्ज को खत्म किया था।  

तो अब जब आप सेफ्टी पिन के बारे में जान ही गए हैं तो इसका इस्तेमाल करते समय हमेशा इसके आविष्कार के बारे में याद कीजिएगा। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।