Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    आखिर क्यों जीन्स की पॉकेट पर होते हैं छोटे बटन, जानें

    जीन्स के छोटे पॉकेट और बड़े पॉकेट दोनों के ऊपर आपने देखा होगा कि छोटे-छोटे बटन्स लगाए जाते हैं। ये आखिर क्यों लगे होते हैं इसके बारे में जान लीजिए। 
    author-profile
    Updated at - 2021-05-20,16:37 IST
    Next
    Article
    small pocket in jeans

    फैशन ने कई सदियों में बहुत ज्यादा तरक्की कर ली है। जहां पहले बहुत ही सख्त और ऐसे कपड़े पहने जाते थे जिन्हें आसानी से न तो संभाला जा सकता था और न ही उन्हें पहनना और धोना आसान था पर फैशन के नाम पर ये किया जाता था। पुरुषों और महिलाओं के कपड़ों में भी काफी अंतर होता था जैसे आपको पता होगा कि महिलाओं की जीन्स या पैंट की पॉकेट काफी छोटी होती है और पुरुषों की बड़ी। पर ये अंतर धीरे-धीरे विकास की सीढ़ी चढ़ता गया और फैशन अपने कदम बढ़ाने लगा। 

    हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में भी ऐसी कई चीज़ें होती हैं जिन्हें हम रोज़ाना देखते हैं पर उनका मतलब पता नहीं होता। जैसे जीन्स को ही ले लीजिए। हम इन्हें अक्सर पहना करते हैं, लेकिन ये नहीं जानते कि जेब के ऊपर दी गई छोटी सी पॉकेट और जेब पर लगी हुई छोटी-छोटी बटनों का क्या मतलब है या उन्हें वहां क्यों लगाया गया है। 

    इस गुत्थी को सुलझाने में हम आपकी मदद करते हैं। दरअसल इसके लिए आपको जीन्स के इतिहास के बारे में थोड़ी जानकारी रखनी होगी। 

    small packet

    इसे जरूर पढ़ें- क्या आप जानते हैं महिलाओं की जीन्स में क्यों नहीं होतीं पुरुषों की तरह गहरी पॉकेट

    आखिर क्यों लगाए गए पॉकेट्स पर छोटे-छोटे बटन-

    इसका इतिहास 1829 से जुड़ा हुआ है। लिवाइस स्ट्रॉस कंपनी नई थी और उस दौर में लोकल खदानों में काम करने वाले लोग स्टाइलिश जीन्स पहना करते थे। उस दौरान मजदूरों को काफी मेहनत करनी होती थी और अधिकतर मजदूर ये शिकायत किया करते थे कि उनकी पैंट की जेब फट जाती है। ऐसे में टेलव जेकब डेविस ने इस समस्या का हल निकालने के लिए पॉकेट के साइड में मेटल के छोटे-छोटे पुर्जे लगा दिए। इन बटन्स को रिवेट्स (Rivets) कहा जाता है जो इसलिए लगाई गई थी कि पॉकेट को थोड़ी मजबूती मिले। रोज़ाना की मेहनत पॉकेट्स में बहुत ज्यादा असर डालती है और इसलिए इन रिवेट्स को लगाकर जीन्स को थोड़ा मजबूत किया गया। 

    वैसे तो टेलर जेकब को इसके लिए धन्यवाद देना चाहिए और वो इसे अपने नाम से पेटेंट भी करवाना चाहते थे, लेकिन उनके पास पैसे नहीं थे। यही कारण है कि उन्होंने 1872 में लिवाइस कंपनी को एक चिट्ठी लिखी और इस समस्या के बारे में बताया और साथ ही साथ अपनी खोज के बारे में भी जानकारी दी। 

    इसीलिए बाद में कॉपर के बटन लगाए गए और लिवाइस कंपनी ने जेकब को अपनी कंपनी का प्रोडक्शन मैनेजर बना दिया। 

    यही थी शुरुआत जीन्स के पॉकेट में बटन लगाने की। 

    buttons on jeans

    इसे जरूर पढ़ें- समर्स में अपने लुक को स्पाइसअप करने के लिए बॉलीवुड एक्ट्रेस की तरह बनाएं डबल बन 

    आखिर क्यों होती है जीन्स में छोटी पॉकेट- 

    अक्सर आपने देखा होगा कि जीन्स में एक छोटी पॉकेट भी दी जाती है और इसे अलग-अलग चीज़ें जैसे पेन ड्राइव आदि रखने के लिए इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन असल में इसे पुराने जमाने में पॉकेट वॉच रखने के लिए बनाया गया था। पॉकेट वॉच के कारण ही उसे इतना छोटा बनाया गया था ताकि वो सही तरह से फिट हो जाए। 

    jeans pocket

     अब जीन्स पॉकेट पर लगने वाले बटन या फिर वो छोटी पॉकेट दोनों ही फैशन स्टेटमेंट बन चुके हैं और जीन्स में ये होते ही हैं।  

    तो अब आपको जीन्स के पॉकेट से जुड़ी ये ट्रिविया पता चल ही गई है। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से। 

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।