10 मार्च को होली का पर्व है। हिंदुओं में इस पर्व को धूमधाम से मनाया जाता है। यह रंगों का त्‍योहार है। इस दिन हर कोई एक दूसरे को अबीर-गुलाल लगा कर होली की शुभकामनाएं देता है। ज्‍योतिष शास्‍त्र में भी रंगों का बहुत महत्‍व है। राशि के अनुसार अलग-अलग रंग का अलग-अलग प्रभाव पड़ता है। चलिए उज्‍जैन के ज्‍योतिष पंडित कैलाश नारायण शर्मा से जानते हैं कि इस वर्ष होली के त्‍योहार पर किस राशि के जातक के लिए कौन सा रंग शुभ है। इसके साथ ही राशि के अनुसार होली के दिन किस मंत्र का जाप करने से आपको लाभ होगा। 

holi  ka    one

मेष 

 मेष राशि वालों को होली वाले दिन सुबह उठ कर होली की पूजा करने के बाद मंदिर जाकर शिवालय के दर्शन करने चाहिए। इसके बाद ही होली खेलनी चाहिए। इस राशि के जातकों के लिए लाल गुलाल आति शुभ है। इस राशि के जातकों को 'ऊं ह्रीं श्रीं लक्ष्मीनारायण नम:।' मंत्र का जप होलिका दहन के समय करना चाहिए। ऐसा करने से  आप पर देवी लक्ष्‍मी की विशेष कृपा बनी रहेगी। साथ ही में होलिका में दुर्वा विशेष रुप से चढ़ाएं। इस मंत्र से धन से जुड़ी सारी समस्‍याएं दूर होंगी। 

इसे जरूर पढ़ें: Holi 2020: होलिका दहन का क्‍या शुभ मुहूर्त और होली की कथा, 499 साल बाद बन रहे हैं विशेष योग

वृषभ 

इस राशि के व्यक्ति सुबह उठकर होली  पूजन कर कन्या पूजन भी करना चाहिए।  इसके बाद आपको हल्‍के पीले रंग से होली खेलनी चाहिए। होली के दिन इस राशि के जातकों को 'ऊं गौपालाये उत्तर ध्वजाए:'  मंत्र का जाप करना चाहिए। इस मंत्र के जप से आपके प्रेम के बीच जो बाधाएं आ रही हैं वह दूर  हो जाएंगी साथ धन कमाने के नए मार्ग भी बनेंगे। Holi Recipe 2020: मटर की कचौड़ी की जगह घर पर बनाएं टेस्‍टी 'मटर की गुझिया'

holi  ka     images two

मिथुन 

मिथुन राशि वालों को सुबह उठ कर भगवान गणपति के दर्शन करने चाहिए और उसके बाद हरे रंग से होली खेलनी चाहिए। इस राशि वालों को  'ऊं क्लीं कृष्णाये नम:' मंत्र का जाप करना चाहिए। यदि आप ऐसा करते हैं तो आपकी किस्मत के बंद दरवाजे खुल जाएंगे और जिस दिशा में जाएंगे, वहां से धन मिलेगा। 

इसे जरूर पढ़ें: Holi 2020: 3 मार्च से शुरू हो रही है बृज की होली, जानें कब,कहां और कैसे मनेगा त्‍योहार

कर्क 

अगर आपकी राशि कर्क है तो आपको होली के दिन सुबह उठकर शिव परिवार का पूजन करना चाहिए। इसके बाद आपको सफेद कपड़े पहन कर केवल गुलाल से होली खेलनी चाहिए। इस राशि के जातकों को 'ऊं हिरण्यगर्भाये अव्यक्त रूपिणे नम:' मंत्र का जाप करना चाहिए। ऐसा करने से आपको संतान सुख की प्राप्ति होगी। इसके अलावा धन की समस्या का समाधान होगा। Happy Holi 2019: उत्तर प्रदेश की लठमार होली का ये दिलचस्प अंदाज देखिए

holi  ka      date in india leo

सिंह 

सिंह राशि वालों को होली के दिन भगवान सूर्य का पूजन करना चाहिए। इसके बाद आप लाला गुलाल या मेहरून रंग से होली खेल सकते हैं। इस राशि के जातकों को 'ऊं क्लीं ब्रह्मणे जगदाधाराये नम:' मंत्र का जाप करना चाहिए।  ऐसा करने से आपका स्‍वास्‍थ बेहतर होगा। धन से जुड़ी समस्‍या भी हल होंगी। 

कन्या 

इस राशि के व्यक्ति ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के बाद गणपति बप्पा और धन के देवता कुबेर जी के दर्शन करें इसके बाद आपको टेसू के रंग से होली खेलनी चाहिए। इस राशि के व्यक्ति होली की रात को 'ऊं नमो प्रीं पीताम्बरायै नम:' मंत्र का जाप करें। करने से अत्यधिक लाभ प्राप्त होता है। साथ में हालिका में पीले रंग की मिठाई चढ़ाए तो लक्ष्मी वर्षभर प्रसन्न रहेगी। Holi Party Makeup: ‘कसौटी जिंदगी की 2’ की प्रेरणा एरिका फर्नांडिस से लें टिप्‍स

holi  ka     date tula

तुला 

 तुला राशि के जातकों को सुबह उठकर होली  पूजन करने के बाद मां दुर्गा का पूजन करना चाहिए। इसके बाद आप लाल और पीले रंग के गुलाल से होली खेल सकते हैं। तुला राशि के जातकों को , 'ऊँ तत्व निरंजनाय तारक रामाये नम:' का जाप करने से जीवन की हर समस्‍या से लड़ने की ताकत और रास्‍ता मिल जाता है। होलिका दहन में सफेद फूल जरूर चढ़ाएं, इससे लक्ष्मी माता प्रसन्न होंगी।

वृश्चिक 

 इस राशि के जातकों को ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के के बाद भगवान गणपति और उनकी पत्नियों रिद्धि-सिद्धि का पूजन करना चाहिए। आपको होली खेलने के लिए गुलाबी रंग का प्रयोग करना चाहिए । इस राशि के जातकों को 'ऊँ नारायणाय सुरसिंहाये नम:' मंत्र का जाप करना चाहिए। इससे माता लक्ष्मी आपके दरवाजे पर सफलता व धन लेकर खड़ी रहेंगी। होली पर निभाई जाती हैं कुछ अजीब परंपराएं, कहीं मिलते हैं प्रेमी जोड़े तो कहीं चलती हैं लाठियां

holi  ka    dhanu

धनु 

धनु राशि के जातकों को सुबह उठकर होली  पूजन के बाद भगवान दत्तात्रेय (गुरु महाराज) का पूजन करना चाहिए। इसके बाद आपको पीले रंग से हाली खेलनी चाहिए। इस राशि के जातकों को 'ऊँ श्रीं देवकीकृष्णाय ऊर्ध्वषंताये नम:' मंत्र का जाप करना चाहिए। होलिका दहन के समय इस मंत्र को जप करने से हर बाधा का समाधान होगा।

Recommended Video

मकर 

मकर राशि के जातकों को  ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के बाद  भगवान श्री राम और उनके प्रिय भक्त हनुमान जी के दर्शन करने चाहिए। इसके बाद आप हल्के गुलाबी और पीले रंग से होली खेल सकते हैं। इस राशि के जाताकों को 'ऊँ श्रीं वत्सलाये नम:' मंत्र का जाप होलिका पूजन के दौरान करना चाहिए। इसके साथ ही नीले रंग के फूल चढ़ाने चाहिए इससे लक्ष्मी प्रसन्न होंगी।

holi  ka     india calendar meen

कुंभ 

इस राशि के जातक को सुबह उठकर होली  पूजन के बाद श्री राम भक्त हनुमान जी का पूजन कर  हरे और सिंदूरी रंग से होली खेलनी चाहिए। इस राशि वालों को 'श्रीं उपेन्द्रायै अच्युताय नम:' मंत्र का जप करना चाहिए।  आपको पीले रंग के फूल होलिका दहन के दौरान चढ़ाने चाहिए। इससे धन का प्रचुर लाभ होगा।

मीन 

इस राशि के जातक को ब्रह्ममूहर्त में उठकर होली  पूजन के बाद बृहस्पति देव की पूजा करनी चाहिए। इसके बाद आप पीले रंग के गुलाल से होली खेल सकते हैं। इस राशि के जातकों  को 'ऊं क्लीं उद्धृाताय उद्धारिणे नम:'  मंत्र का जप करते हुए सरसों होलिका में चढ़ानी चाहिए। इससे दुश्मन समाप्त होंगे। साथ ही देवी लक्ष्मी की विशेष कृपा भी बनी रहेगी। होली पर राशि के हिसाब से बॉलीवुड स्टार्स की तरह आपको क्या खाना चाहिए?