वैशाख शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि अक्षय तृतीया के नाम से जानी जाती है। इस दिन भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजन का विधान है। पुराणों के अनुसार जो व्यक्ति अक्षय तृतीया का व्रत करता है और इस दिन पूजा-पाठ और दान करता है, उसके सारे पुण्य अक्षय हो जाते हैं। अक्षय का शाब्दिक अर्थ होता है कभी क्षय न होने वाला यानी जो सर्वदा अक्षय रहने वाला। ऐसी मान्‍यता है कि इस दिन किए शुभ कार्य हमेशा के लिए अक्षय हो जाते हैं, मतलब वह कभी नष्ट नहीं होता। इसीलिए इस दिन दान-पुण्य, पूजन-अर्चन का विशेष महत्‍व है। इस दिन किसी भी शुभ कार्य को शुरू किया जा सकता है, क्योंकि अक्षय तृतीया ही एक ऐसा दिन होता है, जिसमें किसी भी शुभ कार्य को करने के लिए किसी भी तरह का मुहूर्त को देखने की जरूरत नहीं होती। यही वजह है कि अधिकांश लोग अक्षय तृतीया के दिन अपने गृह प्रवेश, तिलक, विवाह, यज्ञोपवीत, मुंडन संस्कार या फिर अपने किसी संस्‍थान का शुभारंभ करते हैं।

akshya tritiya pooja inside

इसे जरूर पढ़ें: अक्षय तृतीया पर इन बातों का रखें ध्‍यान, भूलकर भी ना करें ये 6 काम

अक्षय तृतीया के दिन पूजा-अर्चना कैसे करें:

  • अक्षय तृतीया के दिन अगर आप व्रत करने वाली हैं तो देर से सोकर ना उठें बल्कि ब्रह्म मुहूर्त में सोकर उठें।
  • सुबह सबसे पहले घर की सफाई करें और नित्य कर्म से निवृत्त होकर स्नान करें।
  • पूजन के लिए घर में किसी पवित्र स्थान पर भगवान विष्णु की मूर्ति या चित्र स्थापित करें। षोडशोपचार विधि से भगवान विष्णु का पूजन करें। मंत्र जाप करें और भगवान विष्णु को पंचामृत से स्नान कराएं। भगवान विष्णु को फूलों की माला अर्पित करें। प्रसाद में जौ या गेहूँ का सत्तू, ककड़ी और चने की दाल अर्पण करें।
  • अगर हो सके तो विष्णु सहस्रनाम का जप करें। अंत में तुलसी जल चढ़ाकर भक्तिपूर्वक आरती करें। इसके पश्चात उपवास रहें।

अक्षय तृतीया के दिन के दिन जरूर करें ये काम:

  • इस दिन गंगा या समुद्र स्नान जरूर करें। ऐसी मान्‍यता है कि अक्षय तृतीया के दिन किया गया गंगा स्नान और पूजन समस्त पापों से मुक्त दिलाता है।
  • अक्षय तृतीया के दिन सत्तू जरूर खाएं।
  • इस दिन दान करने के विशेष महत्व है। सुबह उठकर चावल, नमक, घी, शक्कर, साग, इमली, फल, पंखा और वस्त्र का दान करें। इस दिन दान करने से अक्षय फल की प्राप्ति होती है।

akshya tritiya pooja inside

  • अक्षय तृतीया के दिन पूजा-अर्चना करने के बाद दान करने से इससे होने वाले लाभ का फल कई गुना बढ़ जाता है।
  • आज के दिन नवीन वस्त्र, शस्त्र, आभूषण आदि खरीदना, बनवाना या पहनना बहुत शुभ माना जाता है। इसलिए इस दिन अगर हो सके तो सोने के गहने जरूर खरीदें।
  • इस दिन सोने की खरीदारी करना शुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन सोना खरीदने से कभी खत्म नहीं होता है।
  • अक्षय तृतीया के दिन ब्राह्मणों को भोजन जरूर कराएं और ब्राह्मणों को दक्षिणा भी दें।

akshya tritiya pooja inside

इसे जरूर पढ़ें: अक्षय तृतीया पर खरीदने जा रही हैं सोना तो रखें इन 5 बातें का ध्‍यान

  • यह मान्यता है कि अक्षय तृतीया के दिन पितृ तर्पण और पिंडदान करने से पितरों की आत्मा को शांति मिलती है। साथ ही अक्षय फल प्राप्त होता है। इसलिए इस दिन पिंडदान करना चाहिए।
  • इस दिन नई जगह या संस्था की स्थापना या उद्घाटन कर सकते हैं, ये शुभ होता है।
  • अक्षय तृतीया के दिन शादी-विवाह, गृह-प्रवेश शुभ माना जाता है। कपड़े की खरीदारी, घर, जमीन, गाड़ी आदि खरीदना भी शुभ माना जाता है।

Photo courtesy- (Shubh Muhurat 2018-2019, Nawai Duggar, Amar Ujala, World of Devotion, HealthFoodDesiVideshi, YouTube)