हिंदु त्योहारों में अक्षय तृतीया का एक खास महत्व है। अक्षय तृतीया का पावन पर्व वैशाख महीने की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जाता है। इस बार अक्षय तृतीया का पर्व 7 मई को मनाया जाएगा। ऐसी मान्‍यता है कि माता लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए अक्षय तृतीया का दिन बेहद शुभ होता है। इस दिन माता लक्ष्मी अपने भक्तों पर विशेष कृपा बरसाती है और उनकी हर मनोकामना पूरी करती हैं। साथ ही, अक्षय तृतीया को सोना खरीदने और मांगलिक कामों के लिए सबसे शुभ माना जाता है। हम किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत उसके सफल होने की उम्मीद के साथ ही करते हैं।

akshya tritiya dont do it inside

इसे जरूर पढ़ें: अक्षय तृतीया पर खरीदने जा रही हैं सोना तो रखें इन 5 बातें का ध्‍यान

अक्षय का मतलब है कभी क्षय ना होने वाला। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन जो भी शुभ कार्य किए जाते हैं उनका कई गुना फल मिलता है। इसलिए अक्षय तृतीया के दिन आप अपने हर शुभ कार्य की शुरुआत कर सकते हैं। लेकिन कुछ ऐसे काम होते हैं जिसको करने से माता लक्ष्मी खुश होने के बजाय नाराज हो जाती हैं और आपके घर नहीं ठहरती हैं। आइए जानें ऐसे कौन से काम है जिनको अक्षय तृतीया के दिन भूलकर भी नहीं करना चाहिए।

गंदगी ना रखें

ऐसा कहते है कि माता लक्ष्मी को सफाई बहुत पसंद है और वह उसी घर में वास करती हैं जहां सफाई होती है। इसलिए अक्षय तृतीया दिन घर को अच्छी तरह से सफाई करें। इसके अलावा अक्षय तृतीया के दिन पूजा करते समय शुद्धता का भी विशेष ध्यान रखें। अक्षय तृतीया में माता लक्ष्मी की पूजा से पहले पूजा स्थान की साफ-सफाई जरूर करें। खुद भी स्‍नान करके साफ-सुथरे कपड़े पहनें।

तुलसी के पौधे में ना लगाएं हाथ

अक्षय तृतीया के दिन कुछ स्थानों पर तुलसी की पूजा भी की जाती है। तुलसी का पौधा हिंदु धर्म में विशेष स्‍थान रखता है। शास्त्रों के अनुसार तुलसी का पौधा भगवान विष्णु को काफी प्रिय होता है। इसलिए अक्षय तृतीया के दिन बिना स्नान किए तुलसी के पौधे को हाथ नहीं लगाना चाहिए।

akshya tritiya dont do it inside

गुस्‍सा ना करें और बुरा ना सोचे

अक्षय तृतीया के दिन गुस्सा बिल्‍कुल ना करें। ऐसा करने से माता लक्ष्‍मी अप्रसन्‍न होती हैं। साथ ही पूजा के समय अशांति ना फैलाएं। माता लक्ष्मी दूसरों का अहित चाहने वालों के पास कभी नहीं टिकती है। इसलिए इस दिन किसी के लिए भी दिल में बुरी भावना ना लाएं। साथ ही, अगर हो सके तो पूजा के बाद गरीबों को दान और भोजन करवाएं।

उपनयन संस्कार ना करें

अगर पर किसी का उपनयन संस्कार होने वाला है तो अक्षय तृतीया के दिन उपनयन संस्कार ना करवाएं। अक्षय तृतीया के दिन ऐसा करना अशुभ माना जाता है। इस दिन आपको पहली बार जनेऊ बिल्कुल नहीं धारण करना चाहिए।

akshya tritiya dont do it inside

इसे जरूर पढ़ें: बंगाली ब्राइड लुक इन 5 ब्राइडल ज्वेलरी के बिना है अधूरा

उपवास खत्म ना करें

अक्षय तृतीया के दिन अगर आपने उपवास रखा है तो ध्यान रखें की इस दिन पूरे दिन उपवास रखें। शाम को उपवास ना खत्‍म ना करें। बल्कि दूसरे दिन सुबह ही उपवास खत्‍म करें।

किसी भी तरह का निर्माण कार्य ना करवाएं 

वैसे तो अक्षय तृतीया को बहुत ही शुभ दिन माना जाता है लेकिन इस दिन किसी भी तरह का निर्माण कार्य नहीं करवाना चाहिए क्‍योंकि ऐसा करना अशुभ माना जाता है। वैसे इस इस दिन नया घर खरीद सकते हैं।

Photo courtesy- (Shubh Muhurat 2018-2019, Totalbhakti, Zening Resorts, APKPure.com & YouTube)