दिवाली का त्योहार भारत में मानाए जानें वाले लगभग सारे त्योहारों में सबसे बड़ त्योहार है। दिवाली का त्योहार बड़ा इसलिए है क्योंकि यह त्योहार एक दिन का नहीं होता बल्कि इस त्योहार को 5 दिन तक मनाया जाता है। यह त्योहार धनतेरस से शुरू हो कर भाई दूज पर खत्म होता है। मगर इस त्योहार का उत्साह महीने भर पहले से ही लोगों में दिखने लगता है। त्योहार को धूम-धाम से मनाने के लिए लोग पहले से ही शॉपिंग करना शुरू कर देते हैं मगर, सबसे ज्यादा लोग शॉपिंग पर धनतेरस वाले दिन निकलते हैं। दरअसल, दिवाली से पहले धनतेरा का दिन होता ही शॉपिंग के लिए है। इसदिन लोग नया सामान घर लाते हैं और उसकी पूजा भी करते हैं। वैसे तो इस दिन ज्यादातर लोग सोना और चांदी ही खरीदते हैं मगर, धनतेरस के दिन आपको कब शॉपिंग पर जाना चाहिए और कब पूजा करनी चाहिए यदि आप सही मुहूर्त पर करती हैं तो आपको बहुत लाभ होगा। तो चलिए जानते है कि इस बार धनतेरस का शुभ मुहूर्त क्या है। 

 इसे जरूर पढ़े- धनतेरस पर ये संदेश भेजकर अपने परिवार वालों को दीजिए खुशियों का तोहफा

Dhanteras  Shubh Muhurat For Shopping

खरीददारी का शुभ मुहूर्त 

हिंदू कैलेंडर के मुताबिक धनतेरस का पर्व कार्तिक मास की 13वीं तिथी को मनाया जाता है। इस बार धनतेरस 25 अक्टूबर को हैं और अगर आपके घर में धनतेरस की पूजा होती है या फिर आप शॉपिंग के लिए जाते हैं तो इस बार आपा 25 तारीख को शाम 7 बजकर 8 बजे से लेकर 26 अक्टूबर दोपहर 3 बजकर 36 मिनट तक शॉपिंग कर सकती हैं। वहीं अगर आप धनतेरस की पूजा करती हैं तो आपको 25 तारीख को शाम 7 बजकर 8 मिनट से लेकर 8 बजकर 13 मिनट तक कभी भी पूजा कर लेनी चाहिए। इस मुहूर्त में आप यदि पूजा करती हैं तो धन के देवता और धनकी देवी लक्ष्मी आपसे प्रसन्न हो जाएंगी। धनतेरस पर अंक के अनुसार करेंगी शॉपिंग तो घर में नहीं होगी पैसे की कमी

इसे जरूर पढ़े- धनतेरस पर ये संदेश भेजकर अपने परिवार वालों को दीजिए खुशियों का तोहफा

Dhanteras  Shopping

 कैसे करें धनतेरस पर माता लक्ष्मी की पूजा

धनतेरस के दिन यदि आप धन की देवी मां लक्ष्मी की पूजा विधि विधान से करती हैं तो आपको धन की कभी भी कमी नहीं होगी। इस आपको मां लक्ष्मी की पूजा सफेद या पिंक कलर के कपड़े पहनकर करनी चाहिए। इसके साथ ही आपको मां लक्ष्मी कमल का फूल जरूर चढ़ाना चहिए। कमल का फूल देवी लक्ष्मी को अति प्रिय है। यदि आपको कमल का फूल न मिले तो आपको देवी लक्ष्मी को गुलाब का फूल चढ़ाना चाहिए। इसके साथ ही आपको देवी लक्ष्मी के मंत्रों का जाप करना चाहिए। इसके बाद आपको घर में दिए जलाने चाहिए। गोल्‍ड ज्‍वेलरी के लिए फेमस हैं ये देश

माता लक्ष्मी की पूजा के नियम  

किसी भी देवी या देवता की पूजा जब तक विधि विधान के साथ न की जाए तब तक उसे पूर्ण नहीं माना जाता है। हर पूजा का कुछ नियम भी होता है। यदि आप नियम और कायदों को ध्यान में रख कर पूजा नहीं करती तो वह इतनी फलदायक नहीं होती है। खासतौर पर यदि आप देवी लक्ष्मी की पूजा कर रही हैं तो आपको कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। ध्यान रखें कि देवी लक्ष्मी की पूजा पिंक और व्हाइट कलर के कपड़े पहन कर ही करें। देवी जी का कमल का फूल चढ़ाने के अलावा आपको उन्हें इत्र भी चढ़ाना चाहिए। इसके साथ-साथ आपको देवी जी के आगे घी के 3 दिए जलाने चाहिए। अगर आपके घर पर चांदी का सिक्का है तो उसकी पूजा करनी चाहिए यदि नहीं है तो आपको कुछ पैसे रख कर उसी की पूजा कर लेनी चाहिए। इसके बाद आपको उस सिक्के को खर्च नहीं करना चाहिए बल्कि हर वर्ष उसकी पूजा करनी चाहिए। इतना करने के बाद आपको देवी जी को उनकी पसंद का प्रसाद चढ़ा कर उनकी आरती गानी चाहिए। धनतेरस के दिन क्या खरीदें और क्या ना खरीदें