बचपन से लेकर बड़े होने तक आपके दोस्त बदलते हैं। मगर भाई-बहन वाला रिश्ता ऐसा है, जो कभी नहीं बदल सकता। बचपन से आपके सारे किस्से, कहानियां और राज को आपके सिबलिंग्स ही तो छुपाकर रखते हैं। झगड़े में कभी ब्लैकमेल करते हैं। आपके चाइल्डहुड बेस्ट बडी होने से लेकर आपको छोटी-छोटी बातों पर ब्लैकमेल करके अपना काम निकलवाने तक, वे सबसे अच्छे और बुरे लगते हैं। वे भले ही आपसे लड़ लें, लेकिन आपको परेशानी होने पर आपके साथ खड़े रहते हैं, ऐसे होते हैं सिबलिंग्स। अब चूंकि भाई-दूज का मौका है, तो आपने अपने सिबलिंग्स को क्या गिफ्ट देना है सोचा ही होगा। 

इस मौके पर क्यों न कुछ अच्छी मूवी नाइट्स का प्लान किया जाए। हमारा बॉलीवुड सिबलिंग्स के टॉम एंड जेरी वाले रिश्ते को परदे पर दिखाने में कामयाब रहा है। ऐसी कई फिल्में हैं, जिन्हें आप साथ मिलकर देख सकते हैं। तो चलिए जानते हैं, ऐसी कुछ फिल्मों के बारे में।

सत्ते पर सत्ता

film satte pe satta

अगर आपको अपने सिबलिंग्स के साथ एक फनी मूवी नाइट का मजा लेना हो, तो इस क्लासिक मूवी को अपनी लिस्ट में ऊपर रखिएगा। अगर आपने यह फिल्म पहले कभी नहीं देखी है, तो इस बार इसे देखने के लिए तैयार हो जाइए। यह 7 भाइयों की ऐसी कहानी है, जो एक बड़े से घर में मिल-जुलकर रहते हैं और सारा काम खुद करते हैं। इस फिल्म को देखकर आप 100 परसेंट उन कैरेक्टर्स से रिलेट कर पाएंगे। प्यार, मोहब्बत, झगड़े और भाइयों की बॉन्डिंग का एक अच्छा उदाहरण यह फिल्म है। तो फिर इस भाई-दूज यह फिल्म देख ही डालिए।

हम साथ-साथ हैं

ilm hum saath saath hain

इस फिल्म में भाई और बहनों का प्यार दिखाया है, वैसा तो कम ही देखने को मिलता है। मगर किसी फंक्शन में सबका मिलना, पूरी फैमिली का एन्जॉय करना ऐसा ही होता है। इस फिल्म में सलमान खान, करिश्मा कपूर, सोनाली बेंद्रे, सैफ अली खान, तब्बू, मोहनीश बहल जैसे बड़े-बड़े स्टार्स हैं। यह फिल्म भाई-बहनों के साथ ही नहीं अपनी पूरी फैमिली के साथ बैठकर देखी जा सकती हैं। सब कुछ अच्छा-अच्छा होते थोड़े ऑब्सटेकल किसी रिश्ते में न आएं, ऐसा कैसे पॉसिबल है? उन सबके बाद भी जो फैमिली एक-दूसरे का साथ न छोड़े, वो फैमिली बेस्ट है। अगर आपको परिवार वाली एक लाइट-हार्टेड फिल्म देखनी हो, तो यह अच्छी चॉइस हो सकती है।

माई ब्रदर निखिल

film my brother nikhil

यह फिल्म शायद अपने समय से आगे थी जब इसे रिलीज़ किया गया था, लेकिन फिर भी यह एक प्यारी फिल्म है जो दोहराती है कि भाई-बहन के रिश्ते कैसे होते हैं और हम में से अधिकांश के सबसे अच्छे और सबसे लंबे रिश्ते हो सकते हैं। निखिल के जीवन में एक मोड़ तब आता है, जब उसे एचआईवी हो जाता है। इन सबमें सब उसका साथ छोड़ देते हैं, मगर उसकी बहन अनामिका उसके साथ डटी रहती है। ऐसा ही तो भाई-बहन का रिश्ता होता है, जो आपके हर लो में आपके साथ होते हैं।

इसे भी पढ़ें :असल जिंदगी और सच्ची घटनाओं पर आधारित हैं बॉलीवुड की ये फिल्में, आप भी जानें

दिल धड़कने दो

film dil dhadakne do

आपने भी अपनी फैमिली, सिबलिंग्स और कजिन के साथ घूमने के कई सारे प्लान बनाए होंगे। भाई-बहनों के साथ घूमने का मजा ही अलग होता है। इस फिल्म के भाई-बहन आयशा (प्रियंका चोपड़ा जोनस) और कबीर (रणवीर सिंह) आज के कंटेम्परेरी सिबलिंग रिलेशनशिप को बखूबी दर्शाते हैं। आपके पर्सनल फ्लॉज एक तरह, लेकिन अपने सिबलिंग के प्रति लॉयल्टी, प्यार और ईमानदारी होती है। आप भी अपनी छोटी-छोटी चीजों के लिए अपने सिबलिंग का सिर तो जरूर खाते होंगे। उनसे एडवाइस लेते भी होंगे और देते भी होंगे। 

इसे भी पढ़ें :बॉलीवुड फिल्मों के रिमेक हैं ये साउथ इंडियन मूवीज, देखें लिस्ट

धनक

film dhanak

भाई-बहनों के साथ सबसे अच्छी मेमोरीज होती है स्कूल जाने की, जब आप एक-दूसरे का हाथ पकड़कर चलते हैं। रास्ते भर में कई सारी कहानियां, बातें, झगड़े करते हुए स्कूल पहुंचते हो। यह फिल्म 'धनक' आपको बचपन की सारी मीठी-मीठी यादों का एहसास फिर से कराएगी। इस फिल्म में ऐसी एक भाई-बहन की ऐसी कहानी है, जिसमें भाई नेत्रहीन है और उसकी बहन उसे रोजाना स्कूल ले जाती है और उससे वादा करती है कि उसकी आंखें जल्दी ठीक हो जाएगी। यह एक इमोशनल कहानी है, जिसे आपको जरूर देखना चाहिए।

Recommended Video

ये फिल्में आपको अपने सिबलिंग्स के साथ जरूर देखनी चाहिए। इसके साथ और भी कई सारी फिल्में हैं, जो भाई-बहन के प्यारे रिश्ते में बनी हैं। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो इसे लाइक और शेयर करें। ऐसे लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी के साथ।

Image Credit: themoviebuff &filmibeat