बॉलीवुड एक्ट्रेस और चंडीगढ़ की बीजेपी सांसद किरण खेर ब्लड कैंसर से पीड़ित हैं। पिछले कुछ महीने से उनका मुंबई में इलाज चल रहा है। किरण मल्टीपल मायलोमा नामक बीमारी से पीड़ित हैं, जो ब्लड कैंसर का एक प्रकार है। इस जानकारी को उनकी पार्टी के एक सदस्य ने बताया था। 68 वर्षीय एक्ट्रेस पिछले साल से ट्रीटमेंट करवा रही हैं और इससे वह रिकवर भी कर रही हैं।

पार्टी के एक सदस्य द्वारा दी गई जानकारी के बाद अनुपम खेर ने भी इसे कंफर्म किया है। उन्होंने ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर करते हुए बताया कि ''हां उन्हें ब्लड कैंसर हो गया है। वह नहीं चाहते उनके स्वास्थ्य को लेकर कोई अफ़वाह आए, इसलिए वह ख़ुद ही यह जानकारी दे रहें हैं। फिलहाल उनका इलाज चल रहा हैं और वह पहले से अधिक बेहतर हो जाएंगी।''

हाथ टूटने पर किरण खेर को पता चली थी बीमारी

kirron kher age

पार्टी के एक सदस्य ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस में बताया कि पिछले साल 11 नवंबर को चंडीगढ़ के घर में किरण खेर की एक बांह टूट गई थी, जिसके बाद उन्होंने चंडीगढ़ में पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (PGIMER) में टेस्ट करवाया जहां उन्हें मल्टीपल मायलोमा के बारे में पता चला था। बीमारी बाएं हाथ से दाहिने कंधे तक फैल गई थी। जिसके बाद इलाज के लिए उन्हें 4 दिसंबर को मुंबई जाना पड़ा था। फ़िलहाल किरण ठीक हो रही हैं और वह मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती नहीं है। 4 महीने तक लगातार इलाज के बाद वह रिकवर कर रही हैं। हालांकि उन्हें नियमित इलाज के लिए अस्पताल आना-जाना पड़ता है। 

इसे भी पढ़ें: कोलकाता की एक दुल्हन विदाई में खुद कार चलाकर दूल्हे को ले जा रही है ससुराल, वीडियो हुई वायरल

फिल्मी और पॉलिटिकल करियर

kirron kher son

किरण खेर ने साल 2014 में पॉलिटिक्स ज्वाइन की थी। पॉलिटिक्स ज्वाइन करने के बाद भी उन्होंने बॉलीवुड को नहीं छोड़ा है। वहीं सिनेमा में उन्होंने पंजाबी फिल्म 'आसरा प्यार दा' से एंट्री ली थी। हालांकि बॉलीवुड में उनकी पहली फिल्म 'पेस्तोंजी' जो कि साल 1988 में रिलीज़ हुई थी। इसके बाद वह लगातार कई फ़िल्मों में नज़र आती रही हैं। हालांकि बीते दिनों वह टीवी रियलिटी शो इंडियाज गॉट टैलेंट में बतौर जज दिखाई दी थीं। इस शो में उनके साथ करण जौहर और मलाइका अरोड़ा भी जज के रूप में नज़र आए थे।

इसे भी पढ़ें: क्या है पिंक बेल्ट मिशन और इस मुहिम के पीछे महिलाओं के लिए क्या खास! आप भी जानें

Recommended Video

जानें क्या है मल्टीपल मायलोमा

kirron kher mp

मल्टीपल मायलोमा एक तरह का ब्लड कैंसर है जो कि दूसरे नंबर पर आता है। इस बीमारी में ख़ून में व्हाइट ब्लड सेल्स संबंधी परेशानियां होती है। जिसकी वजह से कैंसर के सेल्स बोन मैरो में जमा होने लगते हैं और हेल्दी ब्लड सेल्स को प्रभावित करते हैं। जिसके बाद इस बीमारी का पता चलता है। इस बीमारी के कई लक्षण हैं, शुरुआती दिनों में व्यक्ति को जी मिचलाना, भूख न लगना, वेट लॉस, पैरों में कमज़ोरी होना, थकान, छाती या रीढ़ की हड्डी में दर्द आदि शामिल है। हालांकि इस बीमारी के होने का कोई सटीक कारण नहीं है, कुछ समय तक इसे लाइलाज माना जाता था, लेकिन अब इसका इलाज संभव है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें, और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।