• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

बाल विवाह होने के बाद भी नहीं रुका आनंदीबाई जोशी का हौसला, विदेश जाकर हासिल की डॉक्टर की डिग्री

आज आप इस लेख में भारत की महिला डॉक्टर के बारे में जानेंगे कि कैसे उन्होंने समाज की बंदिशों को तोड़कर इतिहास रचा।
author-profile
Published -28 Jun 2022, 12:57 ISTUpdated -28 Jun 2022, 13:47 IST
Next
Article
First Indian Female Doctor Story in Hindi

आज के समय में हमारे देश में शिक्षा की स्थिति में काफी सुधार हुआ है। क्योंकि एक वक्त था जब शिक्षा की स्थिति बहुत बुरी थी खासकर महिलाओं की। आप इस बात से यकीनन वाकिफ होंगे कि पहले महिलाओं को घर से बाहर नहीं निकलने नहीं दिया जाता था। ऐसे में इस बात की कल्पना कर पाना थोड़ा मुश्किल है कि कैसे एक महिला ने अपना वर्चस्व समाज में स्थापित किया होगा और बाहर की दुनिया में कदम रखा होगा। 

इस रूचि में आनंदीबाई जोशी का भी नाम आता है, क्योंकि आनंदीबाई जोशी एक ऐसी महिला थीं, जिनकी 9 साल की उम्र में 25 साल के आदमी से शादी करवा दी गई थी। लेकिन इसके बाद आनंदीबाई जोशी ने अपने सपनों को देखना बंद नहीं किया और इतिहास रचा। जी हां, आनंदीबाई ने शादी करने के बाद भी समाज में अपना दबदबा कायम किया और विदेश जाकर डॉक्टर की डिग्री हासिल की। आइए जानते हैं कि आनंदीबाई के बारे में रोचक तथ्यों के बारे में। 

कौन थीं आनंदीबाई जोशी? 

 Know about anandibai

आनंदीबाई जोशी पुणे की रहने वाली थीं, जिनका जन्म 1865 में हुआ था। कहा जाता है कि आनंदी जोशी का पूरा नाम आनंदी गोपाल जोशी था क्योंकि इनके पिता का नाम गोपाल जोशी था। इतिहास के अनुसार कहा जाता है कि आनंदी जोशी एक ब्राह्मण परिवार से संबंध रखती थीं और उस वक्त लड़कियों को पढ़ाया नहीं जाता था।

इसे ज़रूर पढ़ें- रूढ़िवादी विचारों को तोड़ने वाली भारत की पहली महिला डायरेक्टर फात्मा बेगम की कहानी जानिए 

आनंदीबाई जोशी की भी शादी बहुत कम उम्र में करवा दी गई थी। लेकिन इसके बावजूद आनंदीबाई जोशी ने इतिहास रचा और भारत की पहली महिला डॉक्टर बनकर लोगों के सामने आईं। 

9 साल की उम्र में की गोपालराव जोशी से शादी- 

आनंदी जोशी की शादी उनके माता-पिता ने 9 साल की उम्र में गोपालराव से शादी करवा दी थी। उस वक्त गोपालराव की उम्र 25 साल थी, लेकिन कहा जाता है कि आनंदी जोशी के पति बहुत ही अच्छे थे, जिन्होंने आनंदी को शादी के बाद भी पढ़ाया और विदेश भेजा।

हालांकि, कहा जाता है कि 14 साल की उम्र में आनंदी मां बन गई थीं, लेकिन कुछ दिन बाद ही उनकी बच्चा मर गया था। इसके बाद, आनंदी ने अपना ध्यान पढ़ाई में लगाया और डॉक्टर बनने का सपना देखा। (हिंदुस्तान की पहली महिला पायलट के बारे में कितना जानते हैं आप)

मात्र 19 साल की उम्र में हासिल की डिग्री-

Anandibai joshi history

आज के समय में जहां 19 साल की उम्र में लोग 12 नहीं कर पाते। वहीं सन 1886 में आनंदी ने एमडी की डिग्री हासिल कर इतिहास रचा। हालांकि, इस दौरान आनंदी को कई तरह की आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। लेकिन उनका हौसला कम नहीं हुआ। आनंदी ने पहले मिशनरी स्कूल में दाखिला लिया और पढ़ना-लिखना सिखा।

Recommended Video

इसके बाद उनके पति ने आनंदी का एडमिशन पेंसिल्वेनिया के महिला मेडिकल कॉलेज, अमेरिका में करवा दिया और अपनी पढ़ाई पूरी की। आनंदी अपनी पढ़ाई पूरी करके वापस भारत आ गईं और गरीब लोगों की सेवा की। (पहली अशोक चक्र से सम्मानित महिला नीरजा भनोट की कहानी)

इसे ज़रूर पढ़ें- भारतीय सिनेमा में पहली बार नजर आई थीं एक्ट्रेस दुर्गाबाई कामत, समाज ने कर दिया था बेदखल

आनंदीबाई की अचीवमेंट्स- 

Who is anandi joshi

आनंदीबाई न सिर्फ भारत की पहली महिला डॉक्टर बनीं बल्कि वो Google Doodle के साथ सम्मानित किया है। साथ ही, शुक्र ग्रह के एक ग्रह का नाम आनंदी गोपाल भी रखा गया है। आनंदीबाई गोपाल को मेडिसिन के पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया है। क्योंकि उन्होंने चिकित्सा सेवा को आगे बढ़ाने का भी काम किया था। बता दें कि आनंदी पर बायोग्राफी और फिल्म भी बनाई गई हैं। जी हां, कैरोलिन वेलस ने 1888 में बायोग्राफी भी लिखी थी। साथ ही, आनंदी गोपाल के नाम से दूरदर्शन पर सीरियल भी प्रसारित हुआ।

तो ये थी आनंदीबाई जोशी की कहानी, जिन्होंने डॉक्टर बनकर इतिहास रचा। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से। 

Image Credit- (@Wikipedia) 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।