• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

Astro Tips: घर की सुख-समृद्धि के लिए किस विधि से करें अक्षय तृतीया की पूजा

अगर आप अक्षय तृतीया के दिन घर में खुशहाली लाना चाहते हैं तो यहां बताई विशेष पूजा विधि से भगवान की पूजा अर्चना कर सकते हैं।   
author-profile
Next
Article
akshaya tritiya puja vishi by aarti dahiya

हिंदू धर्म में सभी तिथियों का अपना अलग महत्व है। ऐसी मान्यता है कि हर एक तिथि में पूरे विधि विधान से ईश्वर की पूजा करने से सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है। ऐसी ही मुख्य तिथियों में से एक है अक्षय तृतीया। अक्षय तृतीया को कुछ भी नया काम शुरू करने के लिए अत्यंत शुभ दिन माना जाता है। इस दिन लोग घर पर विशेष पूजा करते हैं और सोना, चांदी और कीमती सामान भी खरीदते हैं।

ऐसी मान्यता है कि इस दिन पूजा पाठ करने और कुछ विशेष सामानों की खरीदारी के साथ कुछ चीजों का दान करने से घर में सौभाग्य आता है। ऐसी मान्यता है कि अक्षय तृतीया में एक विशेष पूजा विधि से की गयी पूजा ईश्वर को स्वीकार्य होती है और इसका पूरा फल भी मिलता है। आइए ज्योतिषाचार्य एवं वास्तु विशेषज्ञ आरती दहिया से जानें कि इस दिन किस तरह से पूजा करनी चाहिए जिससे घर में सुख समृद्धि बनी रहे। 

अक्षय तृतीया का महत्व

संस्कृत शब्द अक्षय का अर्थ है 'अंतहीन'। हिंदू धर्मग्रंथों में अक्षय तृतीया के कई संदर्भ मिलते हैं। इस पर्व का हिन्दुओं में विशेष महत्व है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन से ही सतयुग और त्रेता युग की शुरुआत हुई थी। एक और मान्यता के अनुसार भगवान गणेश ने इस दिन महाकाव्य 'महाभारत' की रचना आरंभ की थी। अक्षय तृतीया के दिन, भगवान कृष्ण ने अपने मित्र सुदामा को दैवीय रूप से समृद्धि और धन का पुरस्कार भी दिया था। यह दिन भगवान विष्णु के छठे अवतार भगवान परशुराम की जयंती के रूप में भी प्रचलित है। इसी इन पवित्र नदी गंगा का धरती पर अवतरण हुआ था। इन सभी कारणों से अक्षय तृतीया का महत्व बहुत अधिक बढ़ जाता है। 

इसे जरूर पढ़ें:अक्षय तृतीया कब है? जानें तिथि, महत्व, इतिहास एवं पूजा विधि

akshaya tritiya puja tips by aarti dahiya

सुख-समृद्धि के लिए अक्षय तृतीया के दिन पूजा विधि 

ज्योतिषाचार्य आरती दहिया जी बताती हैं कि अक्षय तृतीया के दिन कोई भी शुभ कार्य करने के लिए मुहूर्त देखने की जरूरत नहीं पड़ती है। शादी-ब्याह मुंडन, गृह प्रवेश कोई भी मंगल कार्य इस दिन बिना सोचे विचारे ही किए जा सकते हैं। मान्यतानुसार अक्षय तृतीया के दिन माता लक्ष्मी एवं भगवान विष्णु की पूजा उपासना जरूर करें। यदि संभव हो तो इस दिन किसी जरूरतमंद की सहायता जरूर करें। ऐसा माना जाता है कि इस दिन प्राप्त किए गए पुण्य, धन आदि का कभी भी क्षय नहीं होता है। इस दिन घर में पूजा के लिए एक ख़ास विधि अपनानी चाहिए जिससे समृद्धि आए। 

गंगा जल से करें स्नान 

मान्यता के अनुसार इस दिन यदि आप व्रत करते हैं तो प्रातः जल्दी उठकर स्नादि से निवृत्त होकर पीले वस्त्र धारण करें। इस दिन गंगा स्नान का भी विशेष महत्व बताया गया है। इसलिए यदि आप व्रत करते हैं तो पवित्र गंगा नदी में स्नान जरूर करना चाहिए। यदि आप गंगा नदी में स्नान नहीं कर पा रहे हैं तो आपको घर में साधारण पानी में गंगाजल मिलाकर स्नान करना चाहिए। 

माता लक्ष्मी और विष्णु जी की पूजा करें 

godess lakshmi pujan

अक्षय तृतीया के दिन स्वयं स्नान करने के बाद आप घर के मंदिर में विष्णु जी को गंगाजल से शुद्ध करके उन्हें तुलसी दल अर्पित करें, सफ़ेद या पीले फूल की माला अर्पित करें। माता लक्ष्मी को कमल का फूल चढ़ाएं या लाल गुलाब भी चढ़ा सकते हैं। फिर भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी के समक्ष धूपबत्ती जलाएं और पीले आसन पर बैठकर विष्णु सहस्त्रनाम या विष्णु चालीसा का पाठ करें। पूजा के दौरान आप देवी देवताओं को केला, नारियल, पान, सुपारी एवं मिठाई चढ़ाएं। माता लक्ष्मी और विष्णु जी की आरती उतारें। पूजा समाप्त होने पर भगवान को प्रणाम करें एवं उनका आशीर्वाद लें और प्रसाद सभी में बांट दें। इस दिन गरीबों को खाना खिलाना या दान देना अत्यंत पुण्य-फलदायी माना जाता है।

अक्षय तृतीया के दिन क्या खरीदें

gold shopping on akshaya tritiya

अक्षय तृतीया के दिन सोना खरीदने का प्रावधान है। इस दिन सोना खरीदना काफी शुभदायक और फलदायी होता है। इससे घर में सुख समृद्धि की अपार वृद्धि होती है। लेकिन सोना खरीदना सभी के लिए संभव नहीं है, इसलिए जो व्यक्ति सोना, चांदी आदि खरीदने में असमर्थ हैं वो जौ खरीद सकते हैं एवं भगवान विष्णु एवं माता लक्ष्मी की इससे पूजा कर सकते हैं। इस दिन भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा करने के बाद जौ को एक लाल कपड़े में बांधकर घर की तिजोरी या पैसे वाले स्थान में रख लें। इससे आपके धन धान्य में वृद्धि होगी।

इसे जरूर पढ़ें:Akshaya Tritiya 2022 : गोल्ड के अलावा खरीदें ये वस्तुएं

Recommended Video


दान का विशेष महत्व 

अक्षय तृतीया के दिन दान आदि करना और भी अधिक फलदायी माना जाता है। इस दिन दान करने से व्यक्ति को पूजा का दोगुना फल प्राप्त होता है। इस दिन घड़ी, कलश, चीनी, पंखे, छाते, चावल, दाल, अन्न, वस्त्र या फल आदि किसी भी चीज का दान किया जा सकता है। 

इस प्रकार अक्षय तृतीया के दिन किया गया दान पुण्य और पूजा पाठ विशेष रूप से फलदायी होता है। ऐसा माना जाता है कि अक्षय तृतीया के दिन पूरे दिन माता लक्ष्मी और विष्णु जी का आह्वाहन विशेष लाभ दिला सकता है। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik.com 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।