कचौरी का स्वाद ऐसा है की एक बार जुबान पर चढ़ जाए तो भुलाये नहीं भूलता। हींग की खुशबू में डूबी, चटपटी कोटा की कचौरी का स्वाद भी कुछ ऐसा ही है। आइए जानते हैं कि लोग इसके दीवाने क्यों हैं। कोटा को लोग कोचिंग संस्थानों के नाम से जानते हैं। यहां पूरे देश से बच्चे आईआईटी में दाखिले की तैयारी करने के लिए आते हैं। हर साल तकरीबन डेढ़ लाख से ज्यादा बच्चे यहां पढ़ने आते हैं। कोटा के लोग हों या वहां पले-बढ़े बच्चे या फिर वहां से पढ़कर दूसरे शहरों में अपना करियर बनाने वाले बच्चे हों, सभी में कोटा की कचौड़ियों का क्रेज देखने में ही बनता हैं।

kota kachori inside

इसे जरूर पढ़ें: मटन निहारी की रेसिपी बनाने का तरीका

मैं अगर अपनी बात करूं तो मैंने कोटा के कचौड़ियों का स्वाद तब चखा जब दिल्ली में मेरे साथ एक लड़की रहने आई। मेरी रूम-मेट, वो कोटा से थी और वो जब भी घर जाती थी तो वहां से कचौड़ियां जरूर लेकर आती थी या यूं कहें की मंगवाई जाती थीं। हम सभी एक-दो दिन में ही उन कचौड़ियों को साफ कर जाते थे और अगली बार उसके घर जाने का इंतजार करते थें। इस बात से पता चलता हैं की मेट्रो सिटीज के लोग भी कोटा की कचौरी के दीवाने हैं। मेरी रूम-मेट ने बताया कि कोटा में कचौरी के तकरीबन 350 से ज्यादा दुकाने हैं और करीब इतने ही ठेलों पर हर रोज चार लाख से ज्यादा कचौड़ियां बिकती हैं। शायद ही कोटा की कोई ऐसी गली होगी जिसमें कचौरी की दुकान ना हो। जहां सुबह से लेकर रात तक कचौरी खाने वालों की कतार लगी रहती है। अगर आप कोटा नहीं जा सकती या आपका कोई जानने वाला वहां से नहीं है तो आप घर पर भी इसे बना सकती हैं। आइए जानते हैं घर पर एक दम खस्ता कचौरी बनाने की रेसिपी के बारे में-

kota kachori inside

कचौरी बनाने के लिए सामग्री:

  • मैदा- 1 कप
  • गेंहू का आटा- 1 कप
  • तेल- 1/4 कप
  • अजवाईन- आधी चम्मच से कम
  • नमक- स्वादानुसार

स्टफिंग बनाने के लिये:

  • धुली हुई उरद दाल- आधा कप
  • तेल- 2-3 टेबल स्पून
  • हींग- चौथाई चम्मच
  • धनियां पाउडर- 1 टेबल स्पून
  • जीरा- आधा चम्मच
  • गरम मसाला पाउडर- चौथाई चम्मच
  • बारीक कटी हुई हरी मिर्च- 2-4
  • दरदरा पीसा हुआ सौंफ- 1 टेबल स्पून
  • लाल मिर्च पाउडर- आधा चम्मच
  • बारीक कटा हुआ हरा धनियां- 2 टेबल स्पून
  • कद्दूकस किया हुआ अदरक- 1 टुकड़ा
  • नमक- स्वादानुसार
  • कचौड़ियों को तलने लिये तेल

कचौरी बनाने का तरीका:

  • हींग की कचौड़ी बनाने के लिये सबसे पहले  एक बाउल में आटा और मैदा मिलाकर छानकर निकाल लें। अगर आप घर बैठे ऑनलाइन मैदा मंगवाना चाहती हैं तो मैदे के 900 ग्राम पैकेट का मार्केट प्राइस 199 रुपये है, लेकिन इसे आप यहां से 149 रुपये में खरीद सकती हैं
  • अब इस छने हुये आटे में मोयन का तेल, अजवाईन और नमक डाल कर अच्छी तरह से मिलाकर थोड़े-थोड़े पानी की सहायता से मुलायम गूंथ लें और कुछ देर के लिए ढककर रख दें।
  • कचौड़ियों के लिए स्टफिंग बनाने के लिए सबसे पहले भीगी हुई दाल को मिक्सी में दरदरा पीस लें। अगर घर पर उरद दाल खत्‍म हो गया है तो आप ऑनलाइन भी मंगवा सकती हैं। उरद दाल के 1 किलो के पैकेट का मार्केट प्राइस 145 रुपये है, लेकिन इसे आप यहां से 127 रुपये में खरीद सकती हैं
  • अब एक गैस पर कढ़ाही गर्म करें और उसमें 2-3 टेबल स्पून तेल डालकर उसे गर्म होने दें। जब तेल गर्म हो जाए तब इसमें जीरा, हींग, सौंफ पाउडर, धनियां पाउडर, अदरक और हरी मिर्च डालकर हल्का सा भून लें।
kota kachori inside

इसे जरूर पढ़ें: बच्चों के लिए 3 तरह के आसान टिफिन रेसिपीज

  • इसके बाद इस भुने हुये मसाले में दरदरी पिसी हुई दाल डालकर अच्छी तरह से भून लें। दाल को हल्का भूरा होने तक भुनें।
  • इसके बाद गैस बंद कर दें और इस भुनी हुई दाल के मसाले में कटा हुआ हरा धनियां और गरम मसाला पाउडर को डालकर मिला लें।
  • हींग की कचौड़ियां बनाने के लिए आटे की छोटी-छोटी लोईयां बना लें। इन सभी लोईयों को गोलाई के आकार में बेल लें।
  • लोईयों में 2 टेबल स्पून स्टफिंग का मिश्रण डालकर चारो तरफ से अच्छी तरह बंद करके हल्के से दबाकर चपटा कर लें।
  • इन लोईयों को कचौड़ी के आकार में बेल लें। इसी तरह से सारी कचौड़ियों को भरकर बेलकर तैयार कर लें।
  • अब एक कड़ाही में तेल डालकर माध्यम आंच पर गर्म कर लें और जब तेल गर्म हो जाए तब कचौड़ियां को गर्म तेल में डालकर अच्छी तरह से तल लें। इसी तरह बची हुई सभी कचौड़ियो को तल लें।

आपकी टेस्टी हींग की कचौड़ियां तैयार हैं। इसे आप आलू की सब्जी, खट्टी और मीठी चटनी, चाय या कॉफी के साथ खा सकती हैं। मेहमानों को भी सर्व करें और तारीफ पाएं।

Photo courtesy- (myhitnews.blogspot.com, curvetube.com, Ruchiskitchen & Twitter)


 

 

Loading...
Loading...