• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile
  • Geetu Katyal
  • Editorial

आरती प्रभाकर बन सकती हैं यूएस की टॉप साइंस एडवाइजर, जानिए इस मुकाम तक पहुंचने का सफर

आरती प्रभाकर को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने विज्ञान और प्रौद्योगिकी नीति कार्यालय के निदेशक के रूप में नॉमिनेट किया है।
Published -23 Jun 2022, 15:33 ISTUpdated -23 Jun 2022, 16:10 IST
author-profile
  • Geetu Katyal
  • Editorial
  • Published -23 Jun 2022, 15:33 ISTUpdated -23 Jun 2022, 16:10 IST
Next
Article
about arati prabhakar

लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती, कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती। आरती प्रभाकर की इंस्पायरिंग खबर सुनकर आपको ऐसा लगेगा जैसे यह पंक्ति उन्हीं के लिए लिखी गई है। दरअसल भारतीय मूल की अमेरिकी नागरिक आरती प्रभाकर को यूएस प्रेसिडेंट जो बाइडेन ने टॉप साइंस एडवाइजर के लिए नॉमिनेट किया है। इस प्रस्ताव को जैसे ही स्वीकार किया जाएगा वह विज्ञान और प्रौद्योगिकी नीति कार्यालय की निदेशक बन जाएंगी। यह खबर पूरे भारत के लिए गर्व की बात है क्योंकि यह पद संभालने वाली वह पहली भारतीय महिला बनेंगी। मौजूदा समय में इस पद को एरिक लैंडर संभाल रहे हैं।

जानिए आरती प्रभाकर के बारे में

arati prabhakar

इसे भी पढ़ेंः NDA के पहले महिला बैच की एंट्रेंस एग्जाम टॉपर बनकर रोहतक की शनन ढाका ने कायम की मिसाल

आरती प्रभाकर का जन्म 2 फरवरी 1959 में दिल्ली में हुआ था। उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई टेक्सास में की। 1979 में उन्होंने टेक्सास की टेक यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग (अंडरग्राउंड माइंस में काम करने वाली महिला) में डिग्री प्राप्त की। पढ़ाई में अच्छे होने का ही परिणाम था कि उन्होंने इंजीनियरिंग के बाद 1980 में मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री हासिल की। आरती कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से पीएचडी भी कर चुकी हैं।

कई बड़े मुकाम कर चुकी हैं हासिल

आरती प्रभाकर इससे पहले भी कई मुकाम हासिल कर चुकी हैं। पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने संघीय सरकार के लिए काम करना शुरू कर दिया था। 1993 से 1997 तक उन्होंने राष्ट्रीय मानक और प्रौद्योगिकी संस्थान के हेड का पद संभाला था। इस पद को संभालने वाली वह पहली महिला हैं। इतना ही नहीं आरती 30 जुलाई 2012 से लेकर  20 जनवरी 2017 तक डिफेंस एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी के प्रमुख के रूप में भी कार्य कर चुकी हैं। जो बाइडेन के नॉमिनेशन को स्वीकार्यता मिलते ही वह अमेरिका की टॉप साइंस एडवाइजर बन जाएंगी।

इसे भी पढ़ेंः काॅलेज क्वीन से लेकर पहली महिला राष्ट्रपति बनने तक का सफर, जानिए प्रतिभा पाटिल के बारे में

बाइडेन को है आरती की काबिलियत पर भरोसा

जो बाइडेन ने बहुत भरोसे के साथ आरती को ओएसटीपी के निदेशक के रूप में नॉमिनेट किया है। बाइडेन ने उन्हें नॉमिनेट करते हुए कहा कि आरती प्रभाकर शानदार इंजीनियर और व्यावहारिक भौतिकी वैज्ञानिक हैं। बाइडेन का मानना है कि वह मुश्किल चुनौतियों को हल करने और असंभव को संभव बनाने के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी नीति कार्यालय का नेतृत्व करेंगी।

एक्ट्यूएट इनोवेशन की संस्थापक हैं आरती

किसी स्टार्टअप और बिजनेस को खड़ा करने के लिए भी आप आरती प्रभाकर से मोटिवेशन ले सकती हैं। वह एक्ट्यूएट इनोवेशन की संस्थापक हैं। एक्ट्यूएट इनोवेशन एक गैर-लाभकारी संगठन है जो समाज की महत्वपूर्ण चुनौतियों के लिए एक नए दृष्टिकोण में योगदान करने के लिए बनाया गया है। यह संगठन क्लाइमेट चेंज जैसे कई मुद्दों पर काम करता है।

Recommended Video

आरती प्रभाकर का टॉप साइंस एडवाइजर के लिए नॉमिनेट होना अपने आप में एक बड़ी बात है। उनका मुकाम पूरे समाज के लिए गर्व की बात है। आत्मनिर्भर बनकर खुद को दूसरों से अलग दिखाने के लिए हर महिला को उनसे इंस्पिरेशन लेनी चाहिए।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Photo Credit: Actuate, wikipedia

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।